• the_spur 55w

    गंवा मत खुबसूरत पल
    झूठा अतीत,अदृश्य है कल,
    जो है अभी,यही है पल
    जीते चल,जीते चल।

    चिंता का स्त्रोत भविष्य
    अतीत तुझे जाएगा छल,
    परिवर्तनशील संसार में
    वर्तमान सदा अचल।

    भविष्य खुद होगा सुखद
    परिश्रम की ताप में जल,
    गंवा मत खुबसूरत पल
    जीते चल,जीते चल।

    -प्रेरणा