• avivek 18w

    Naseeb

    ।।दूर गए तुम इतना तो मैं भी आया करीब नही,
    समझ जो लेते आशिक होते हैं दिलों के गरीब नहीं।।


    ।।अपने सब बन जाते हैं पर अब हमको उम्मीद नहीं,
    वो भी सबके बीच ही रहते हैं जिन्हे सबका साथ नसीब नहीं।।
    ©avivek