• raaj_kalam_ka 14w

    #osr����(२२/१०/२१)✍️

    ख़ता माफ़ हो
    हमने तो इश्क़ कर लिया.. जनाब का पता नहीं
    काश कुछ ऐसा हो जाए कि उन्हें हमारे इश्क़ से इश्क़ हो जाएं
    ������❣️❣️

    Read More

    मोहब्ब्त हो गई

    ख़्वाबों में !! कंधे का वो तिल चुम लेती
    पेशानी पर पड़ी सुनहरी जुल्फ़ें संवार देती
    पर मोहब्ब्त हो उन्हें भी ... नहीं जानती!

    आँखों की चिलमन में रोज़ क़ैद कर लेती
    खट्टी-मीठी गुफ्तगू के कसीदे काढ लेती
    पर मोहब्ब्त हो उन्हें भी... नहीं जानती !

    ज़बरदस्ती का सौदा नहीं यह इश्क़, जो खरीदा जाए
    दिल में रह जाता है वह, जो धड़कनों में बस जाए
    दीवानी बन गई मैं बस वे मेरे सरताज बन जाए !

    रब्बा इश्क़ मिरा पहचाना जाए जुबां पे करार आए
    मोहब्ब्त हो गई उन्हें भी ..एक बार वे भी फरमाएं!
    ©raaj_kalam_ka