• shalinivarshney 85w

    ख़्याल रखना अपना

    ख्याल रखना अपना....
    न रखूं तो,
    क्या आ पाओगी मेरे मन मे उठती टीस को अपने गर्म हथेलियों के स्पर्श से शांत करने,
    न रखूं तो,
    क्या आ पाओगी मेरे बालों को अपनी नरम उँगलियो से सहलाने,
    न रखूं तो,
    क्या आ पाओगी मेरी उलझी बातो को अपनी सुलझी बातों से सुलझाने,
    न रखूं तो,
    क्या आ पाओगी मेरी आँखों से भागती नींद को अपनी गोद का स्नेह भरा तकिया देने,
    न रखूं तो,
    क्या आ पाओगी मेरे हृदय पर पड़े छालो पर अपने प्रेम का आलिंगन देने,
    न रखूं तो,
    क्या आ पाओगी मेरी अंतिम सांसो के उन क्षणों पर जहाँ मेरी आँखें सिर्फ तुम्हें देखने भर को खुली होंगी और उनसे बहते नीर को बस तुम्हारे आँचल का एक छोर चाहिय होगा कि मैं उसमें समेट सकूँ अपनी जीवन भर की थकान और मूंद अपनी आँखें हो जाऊं अनन्त से शून्य
    न रखूं तो,
    अपना ख्याल ...
    बोलो क्या आ पाओगी...
    ©shalini