• iamfirebird 7w

    Not writing anymore

    Read More

    इंतजार ने ऐसा तन्हाइयों से जोड़ दिया
    बेरुखी ने उनकी अंदर तक तोड़ दिया

    हम कलम सुला कर खाली बैठे ही थे
    वो पढ़ने लगे हमें जब लिखना छोड़ दिया
    ©iamfirebird