• ashleywords 12w

    किश्तों में ही सही
    हम से प्यार कर लो
    हम भूले बंजारन सी
    दिल-ए-गुलज़ार कर दो
    आप एक दफा
    हमसे मोहब्बत करने कि
    गुस्ताखी कर लो
    हम सो मार्तफा
    आप से वफ़ा कर जाएंगे
    हमें इश्क के उस गली ले चलो
    जहां घुम होना
    किसी हसीन सीतम से कम ना हो,
    किसी दिन बेखबर
    पुरानी कुर्ते की सिलवटों में मिलो
    वक़्त के तराशे उस डेयरी के
    आधे लिखें अल्फाज़ों में मिलो
    कोई शायर की शायरी के तराह:
    किसी बादामी शाम में मिलो
    हम आपको कवी की कविता के तराह
    लिख देंगे ख्याली रातों में
    नसीबों से चुरा के।
    आप पहली बारिश सा
    हमें भीगा जाओ
    हम मिट्टी सा महक उठेंगे
    खुशबू बेपाक।




    @ashleywords

    Read More

    आप एक दफा
    हमसे मोहब्बत करने कि
    गुस्ताखी कर लो
    हम सो मार्तफा
    आप से वफ़ा कर जाएंगे।



    ©ashleywords