• undetectable_liar 9w

    undetectable_
    liar


    ज़रा सा मुस्कुरा क्या लेता हूँ...,
    लोग हमें खुसनसीब समझने लगे है...!

    कभी हमसे बंद कमरे मिला करो...,
    यक़ीनन आँसू तो तेरे नैनो से भी छलक उठेंगे...!