• harshrajput_98 82w

    जो भूल गए हमें,
    उनकी बातें हमें आज भी मुहजुबानी याद हैं।����

    Read More

    चलो दिल का हाल बताता हूं मैं,
    बस तुम्हारे लिए ही तो लिखता हूं मैं,
    क्युकी मोहब्बत भी तो सिर्फ तुमसे करता हूं मैं,
    बस इतना बतादो...
    अब भी मुझे तुम सुनोगी क्या?
    अगर रोकु तो रुकोगी क्या?
    ©हर्ष