• prashant_gazal 21w

    २१२२ ११२२ ११२२ २२

    Read More

    ग़ज़ल ( अफगान)

    आज के दौर में भगवान कहाँ मिलता है ?
    और इंसान में इंसान कहाँ मिलता है ??

    जख़्म देते हुए हैवान निग़ाहों में हैं.....
    आज अफगान में अफगान कहाँ मिलता है ??

    लोग मासूम जहाँ क़त्ल किए जाते हैं....
    वो ख़तरनाक परिस्तान कहाँ मिलता है ??

    ये सियासत है जिसे झेल रहें हैं हम सब....
    इस कदर मौत का ऐलान कहाँ मिलता है ??

    बेरहम क़त्ल सरेआम किया जाता है......
    बेसबब ज़ंग का मैदान कहाँ मिलता है ??

    पेट से कोई गुनहगार नहीं होता है......
    कातिलों में मगर ईमान कहाँ मिलता है ??

    जन्नतें और 'ग़ज़ल' हूर मिलेंगीं कैसे......?
    मौत के बाद ये सामान कहाँ मिलता है ??

    ©prashant_gazal