• kaynat_siddiqui 76w

    आज कल के छोरे इश्क नू फंसा करदे है
    दुज्जे मुंडे अक्सर इनपे हंसा करदे है
    यकीन ना आवे मेरे नाल ही तैनू क्यों प्यार होवे
    पता नहीं मने कोण सा नशा करदा है

    कायनात सिद्दकी