• ajaypatel 23w

    By unknown writer

    Read More

    लिख दूं तेरी हंसी,
    या तेरा कोई फसाना लिख दूं,
    या यूं तेरा मुझे रातों को जगाना लिख दूं।

    लिख दूं तेरी हंसी,
    या फिर तेरा कोई उल्हाना लिख दूं,
    या यूं तेरा बिन कहे कुछ कहना लिख दूं।

    लिख दूं तेरी हंसी,
    या फिर तेरी तारीफें लिख दूं,
    या यूं तेरा मुझे आंखो से छेड़ना लिख दूं।

    पर इतना कितना लिख दूं,
    किताबे लिख दूं
    या सिर्फ तेरी हसीं लिख दूं।