• mann_isha 66w

    दर्द

    एक दर्द दबा है सीने में,
    नहीं आता मजा अब जीने में
    समझ रहे हैं ज़िन्दगी को,
    इन तूफानों के घेरे में
    कुछ पहलू उलझे से हैं
    इस ज़ि्दगी के खेले में
    गुजर रही है जिन्दगी़ अब
    दिन साल महीने
    एक दर्द दबा है सीने में,
    नहीं आता मजा अब जीने में



    ©mann_isha