• parle_g 94w

    मज़हब के आ'इनों में, मज़हब के इंसान रख दिये,
    मेरे देश की सियासत ने,बिखेर कर गांव रख दिये।
    ©jiya_khan