• amayra 193w

    अकसर उसकी खामोशी मे बातें धूंड अपनी तारीफे बुन लिया करती हूँ मै

    फिर क्यूँ उसे मेरे अलफाज़ो तक का एहसास नहीं ?

    -Untold stories
    ©amayra