• anshulaftaab 18w

    दिल शीशे सा साफ़ और ज़िगर में आग रख़ते है

    यूँ ही नही हम एक हाथ में "महताब" और

    दूजे में "आफ़ताब" रखते है

    "अंशुल"

    ©anshul