• imgarima 14w

    ये आज़ादी क्या है,.
    जब कभी सोचते है,
    बंद कमरे में बाहर,
    का रास्ता खोजते है,
    बंदिशे ये ख्वाबों पर हमारे,
    कैसी ये सब ने लगायी है,
    हर परिंदा तो उड़ रहा है,
    खुले आकाश में,
    फिर हमें ही क्यों नहीं मिली अभी तक रिहाई है...!!

    ~ गरिमा प्रसाद
    ©imgarima