• malhar_ 21w

    उसे आईलाइनर पसंद था, मुझे काजल!
    वो फ़्रेन्च टोस्ट और कॉफ़ी पे मरती थी,
    और मै अदरक की चाय पे!
    उसे नाइट क्लब पसंद थे मुझे रात की शान्त सड़के, शान्त लोग मरे हुए लगते थे उसे, मुझे शान्त रहकर उसे सुनना पसंद था। लेखक बोरिन्ग लगते थे उसे।
    पर मुझे मिनटो देखा करती जब मैं लिखता। वो न्यूयार्क के टाइम्स स्कवायर,इस्तांबुल के ग्रैन्ड बाजार में शॉपिंग के सपने देखती थी, मै असम के चाय के बागानों मैं खोना चाहता था!मसूरी के लाल डिब्बे मैं बैठकर सूरज डूबना देखना चाहता था!उसकी बातों में महँगे शहर थे,और मेरा तो पूरा शहर ही वो! ना मैने उसे बदलना चाहा और न उसने मुझे।

    एक अरसा हुआ दोनो को रिश्ते से आगे बढ़े। कुछ दिन पहले उनके साथ रहने वाली दोस्त से पता चला वो अब शान्त रहने लगी है, लिखने लगी है, मसूरी भी घूम आयी है लाल डिब्बे पर अंधेरा होने तक बैठी रही है! आधी रात को उसका मन अचानक से अब चाय पीने को करता है! और मैं....

    मैं भी अक्सर कॉफ़ी पी लेता हूं किसी महंगी जगह बैठकर!!
    _________________________________________________________
    इस पोस्ट को दोबारा लिखने का सिर्फ ये मक्सद है की पहले वाली खो गई थी।

    #fromnotepad
    #malharism
    #miraquill

    Read More

    प्रेम में डूबे हुए लोग दूरियाँ नही नापते....
    कुछ दूरियों के मायने अलग होते है,
    कुछ मायने प्रेम के होते है।

    ©malhar_