• mahaksharma 98w

    i knew its late bt happy #womensday ��

    Read More

    एक पुरुष के वजूद में जो खुद समा जाती है
    वो नारी है जो हर किरदार निभा जाती है....

    पसन्द नापसन्द अपनी सब जिम्मेदारी के नीचे दबा जाती है
    वो नारी है जो हर किरदार निभा जाती है....

    कभी बेटी बनकर माँ बाप की उम्मीदों का भार उठा जाती है
    वो नारी है जो हर किरदार निभा जाती है....

    कभी बहन बनकर भाई की खुशियों का संसार बना जाती है
    वो नारी है जो हर किरदार निभा जाती है....

    कभी बनकर एक पत्नी अपने पति की हर जीत को साकार बना जाती है
    वो नारी है जो हर किरदार निभा जाती है....

    जब बनती है माँ तो अपने जीवन का सारा प्यार लुटा जाती है
    वो नारी है जो हर किरदार निभा जाती है....

    ज़िंदगी खुद की होती है फिर भी औरों के लिए जीना सीख जाती है
    वो नारी है जो हर किरदार निभा जाती है....


    ©mahaksharma