• saranshjain 41w

    पैगाम।

    आज आया है मुझे ख़ुदा का पैगाम,
    उसने कहा है तू हाथ मेरा थाम।
    जी रही थी तो जो ज़िन्दगी रुक रुक कर,
    अब मेरे साथ रहेगी तू खुश ज़िन्दगी तमाम।
    ©saranshjain