• digvijay_mishra0406 153w

    Rabtta- Relation

    Read More

    एक राब्ता फिर से जमा हो जाये मेरा मेरे "चाँद" से भी..
    किस कलम से लिखूँ तेरे ख्याल को कि, एक इत्तिला हो जाये अख़बार में भी..©️♥️

    ©untold_emotions0406