• chouhanmamta 11w

    दूर देश में चांद मेरा क्यूं उदास है,
    तू दूर ही सही तेरा दिल तो मेरे पास है,

    बांधा है तुझे प्यार की रेशम डोर से,
    तू दूर ही सही तेरे वफा की खुश्बू मेरे पास हैं,

    हवा की झोकों में छुवन तुम्हारी,
    तू दूर सही पर तेरा अहसास मेरे साथ हैं,

    याद तुझे करुं बन जाये शायरी,
    तू दूर सही यादों में ढले तेरे अलफाज मेरे पास है,

    रात ढले ऐ चांद तुझे देखूं छुप छुप के...
    तेरे नूर में बिखरी चांदनी रात मेरे अक्स पे आज है..
    ©chouhanmamta