Grid View
List View
Reposts
  • paveetra 101w

    #hindi writers
    @read write unite @loveneetm
    @malay _28 @abhi _ehsaas
    #प्रकृति #तौबा #सब्र #सैलाब

    Read More

    प्रकृति के सब्र ने तौबा की है ....
    अब तो अश्कों के सैलाब शोर मचायेंगे ...!!
    ©paveetra

  • paveetra 101w

    #hindi writers
    @read write unite @loveneetm
    @prakhar _kushwaha @malay _28
    @_dipps _
    #प्रकृति #गुस्सा #भीषण

    Read More

    शायद लत पल ली,
    बवंडरों की इंसानो ने ...
    फ़िर तो ..
    सब्र के गुस्से की तासीर
    तो भीषण होना ही थी ...!!
    ©paveetra

  • paveetra 101w

    #hindi writers
    @read write unite @loveneetm
    @malay _28 @swapnpanchhi
    #प्रकृति #खिलवाड़

    Read More

    चुपचाप गुनगुना रही थी ,
    धरा अपनी धुन में ...
    छलावों से भरे जलजलों ने ,
    छेड़ दिये सिलसिले त्रासदी के ...!!
    ©paveetra

  • paveetra 101w

    #hindi writers
    @read write unite @loveneetm
    @malay _28 @cherrry
    @pakhi 1738
    #बेहाल #प्रकृति

    Read More

    सभ्यता संस्कृति की धज्जियों से ...
    विनाश का तांड़व विकराल हो गया ..
    मानव के गुनाहगार हस्तक्षेप से ...
    प्रकृति का ये हाल हो गया ...!!
    ©paveetra

  • paveetra 101w

    #hindi writers
    @read write unite @loveneetm
    @rangkarmi_anuj @piu_writes
    @malay_28
    #प्रकृति #त्रासदी #चक्रवात #तूफान

    Read More

    ना जाने कैसी बेहया त्रासदी है ...!
    सूखी आँखे हैं
    और
    भीगे शहर ....!!
    ©paveetra

  • paveetra 102w

    चलो पूछ लेते है हम
    ख़ैरियत तुहारी ..
    तमाम शिकायतें भी है
    वो फ़िर कभी ...!!

  • paveetra 102w

    किसी ने मुस्कुराते हुए ..मुझसे
    मेरी उम्र पूछी ...
    मैंने हँसते हुए कहा ..जितनी
    गुज़री ,लौटा दोगे क्या ...!

  • paveetra 102w

    रोका ,
    तो बोले ..
    जाने दो ना ..
    जाने दिया..
    तो बोले ..!!
    ये तो चाहते थे ना
    "तुम "....!!

  • paveetra 102w

    भूख से मरने वालों की
    पोस्टमार्टम रिपोर्ट बड़ी
    अजीब थी ..
    पेट ख़ाली
    दिल भरा
    आँखों मे शर्म
    और
    जुबां पर तहज़ीब थी ...!!

  • paveetra 102w

    #hindi writers
    @read write unite @loveneetm

    Read More

    हर आदमी है क़ैद
    हर चेहरा है डरा
    ए साहिब ..
    तुम भी हाथ उठाओ ना
    कि मौसम दुआओ का है ....!!