pagal2

वक़्त की आवाज़.. रावण के साथ

Grid View
List View
Reposts
  • pagal2 5w

    पैसे कितने भी कमा लो

    साहब

    पैसों से कभी खुशियाँ

    नहीं खरीदी जाती हैं


    ©pagal2

  • pagal2 5w

    एक बाप ही है

    जो बच्चों की

    खाईशो को पूरा करते - करते

    अपनी सारी ज़िन्दगी निकाल देता हैं


    ©pagal2

  • pagal2 14w

    जलता हूँ मैं

    उस ख़ुदा से

    जिसने

    ऊंच - नीच

    और

    भेद - भाव का

    सिलसिला शुरू

    किया था

    आज भी उस

    ख़ुदा की

    आग मे रोज जलता हूँ

    मैं


    ©pagal2

  • pagal2 14w

    देवी जी एक बात बोले...

    भले ही आपका और मेरा खून लाल हैं

    और धर्म एक ही हैं

    मगर

    कास्ट हम दोनों की अलग - अलग हैं

    देवी जी

    इसलिए हम दोनों की दोस्ती

    और

    हम दोनों में प्यार कदा पी

    नहीं हो सकता हैं

    आपकी कास्ट मेरी कास्ट से घिड़ना करती हैं

    और आपकी कास्ट मेरी जान की दुश्मन

    बन जाएगी

    इसलिए मैं दोस्ती और प्यार से दूर रहता हूँ

    देवी जी



    ©pagal2

  • pagal2 14w

    सुनो मैडम

    मैं वो गिलास हूँ

    जो

    हाथो से फिसल गया तो फिसल गया

    मगर

    टूटता नहीं हैं


    ©pagal2

  • pagal2 15w

    पैसे की गर्मी किसे दिखा रहे हो

    साहब

    आज ये पैसा आपके पास है

    कल

    किसी और के पास होगा

    साहब

    वक़्त सबका बदलता है

    साहब


    ©pagal2

  • pagal2 16w

    मुर्शद तेरे जाने के बाद

    हमें याद बहुत आती है



    मुर्शद

    तेरे बिना ये जग खाली - खाली

    लगता है ...


    अब लौट आ मुर्शद


    ©pagal2

  • pagal2 16w

    लड़ाई का इतना शौक

    है तों

    बॉर्डर पर जाओ साहब

    घर में क्या लड़ते हो


    ©pagal2

  • pagal2 16w

    मोहब्बत बेबफाई के माफिक

    होती है साहब


    मोहब्बत में धोखा मिलना तों

    ते है साहब


    ©pagal2

  • pagal2 16w

    बेबफाई उसने की

    ज़ख्म हमें मिला


    घाव उसने दिया

    ज़ख्म हमें मिला


    मोहब्बत उसने की

    दर्द हमें हुआ


    दिल उसका टुटा

    दर्द मनने भी हुआ


    ©pagal2