Grid View
List View
  • nisha_satywali 4w

    मैं उनके लिए कभी बड़ी नही होना चाहती
    जिनके सामने मेरा बचपना बिन जगाए जागता है

    ©nisha_satywali

  • nisha_satywali 5w

    The world will be beautiful only when you learn to love yourself........
    ❣️


    ©nisha_satywali

  • nisha_satywali 11w



    जिसने दिल सच्चा पाया
    दुख को छोटा और खुशी को बड़ा करना सिखाया
    विश्वास कि नींव से महल बनाकर ,उसमें अपना प्यार बसाया
    मेरे हर रिश्ते की शुरुआत कि पहचान...........

    ढाई अक्षर का नाम पाकर धन्य उसने मुझे बनाया

    दोस्ती
    ©nisha_satywali

  • nisha_satywali 13w



    क्यों बस पहनावे पर आकर रुक जाते है हम
    नजर बहुत अच्छी है,
    पर नजरिया क्यों बिगाड़ जाते हैं हम।
    किसी और कि जिंदगी को अपना गुलाम क्यों बना रहे हैं हम
    गन्दी सोच हम डूबे है पर दूसरों को भला क्यों डूबा रहे हैं हम
    जब किसी को दो वक्त की रोटी नही दे सकते,
    तो आजादी का अधिकार और सम्मान क्यों छीन रहे हैं हम।


    ©nisha_satywali

  • nisha_satywali 14w

    मुस्कान

    खुदा के नूर से चमकी है
    मेरे दामन में आकर ठहरी है।
    रौनक लाई फिजाओं में
    सुंदरता की कली ऐसी,
    कोमलता जिसका श्रृंगार है,
    सादगी जिसका ताज है
    तरसाकर दुनिया को,
    गुम हो जा रही प्यारी मुस्कान है।

    ©nisha_satywali

  • nisha_satywali 16w

    Dost hjaro h friend list m,
    Pr tera naam khi gum sa ho gya
    Kaash m kh pati dard A dil........
    Pr mene or bhi tere dil ka mjak udaya



    गुमनाम.....

  • nisha_satywali 17w

    ❣️

    जिसकी हंसी से हम खिले
    ........ मेहनत से हम पले
    जो हमारा अभिमान है ✨
    जिसका हम स्वाभिमान है

    The great real hero
    My dearest papa

    Happy father's day ❤️


    ©nisha_satywali

  • nisha_satywali 18w

    किसी भी इंसान कि
    सोच और उसके लिखने का गुण ही मिलकर,
    उसके
    चरित्र को दर्शाते हैं
    ©nisha_satywali

  • nisha_satywali 18w

    जिंदगी उधार लिया हुआ वो पैसा है,
    जिसे चुकाना हर किसी के बस कि बात नही है
    ©nisha_satywali

  • nisha_satywali 18w

    वक्त - वक्त कि बात है दोस्त......⌚
    वक्त लौट कर नहीं आता ️
    बस,
    यादे छोड़ जाता है
    ©nisha_satywali