mrig_trishna_

Mera google�� instaa_id___sanjeevkashyap640

Grid View
List View
Reposts
  • mrig_trishna_ 4d

    तूने क्या सोचा ऐसे ही क्या, चली जायेगी ज़िंदगी
    बुरी है अगर तो, फिर क्या भली आयेगी ज़िंदगी
    ©mrig_trishna_

  • mrig_trishna_ 4d

    हमनें तो कभी वो किस्सा नहीं बाँटा जो तेरा मेरा था
    तुमनें वो दिल का हिस्सा नहीं छोड़ा जो सिर्फ़ मेरा था
    ©mrig_trishna_

  • mrig_trishna_ 4d

    चाहते तो हर जवाब उनका छीन सकते थे
    सवाल यूँ बने कि अब वो गूँजते रहे...
    ©mrig_trishna_

  • mrig_trishna_ 4d

    हर कोई दीवाना था जिनका
    हम भी हो गये तो हैरत क्या
    ©mrig_trishna_

  • mrig_trishna_ 4d

    हम बर्बाद भी होंगे तो तृष्णा इस शान से
    ज़माना तुमकों जानेगा एक दिन हमारे नाम से
    ©mrig_trishna_

  • mrig_trishna_ 4d

    ये भी एक तज़ुर्बा रहा मोहब्बत का
    मज़ा आ गया शहंशाही में गुर्बत का
    ©mrig_trishna_

  • mrig_trishna_ 4d

    ख़ाली ख़ाली लौट आया आख़िर में दिल तृष्णा
    झूठ ही झूठ मिला मोहब्बत की महफ़िल इतना
    ©mrig_trishna_

  • mrig_trishna_ 4d

    एक राज़ ही तो है मोहब्बत भी
    हमराज़ न बनी तो गिला क्यों करना
    ©mrig_trishna_

  • mrig_trishna_ 4d

    तृष्णा का मारा मैं पढ़ने तलक ही ठीक था
    नुकसान ही देता दिल के अगर नज़दीक था
    ©mrig_trishna_

  • mrig_trishna_ 4d

    कोई बात नहीं मोहब्बत आज नहीं तो क्या कल तो अपना है.!
    अलमारी-फ़ोन भी हो सकती है

    Read More

    आई सुसराल तो मोहब्बत के हसीं नज़राने
    पड़े रहे अलमारियों के अंदर धूल खाने...
    ©mrig_trishna_