Grid View
List View
Reposts
  • meri_ankahi_rachanayen 9w

    बस यूँ ही... ☺����

    Read More

    4 पंक्तियाँ...

    जख़्मों की तो बात न कर,
    कि दर्द से रिश्ता गहरा है!
    मेरी न सुन बस अपनी सुना,
    मेरे शब्दों पर 'मधु' पहरा है!

    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    ©meri_ankahi_rachanayen

  • meri_ankahi_rachanayen 10w

    *भाईदूज*

    "दूख है कि भागती जिंदगी में सब रिश्ते नहीं पास है,
    फिर भी 'भाई' का होना... खुद में ही बहुत खास है।
    कभी भाव प्रबल होते है, तो कभी शब्द ही नहीं मिलते,
    पर हाँ 'अभी' भाई जी का होना एक 'मधु' एहसास है।"

    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    06/11/21

    Read More

    'भाई दूज'

    'भाई दूज की
    ढेर सारी बधाइयाँ
    एवं शुभकामनाएँ
    प्रिय भाई जी...'

    ©meri_ankahi_rachanayen

  • meri_ankahi_rachanayen 12w

    "सुख-दुख, धूप-छाँव... जीना इसी का नाम है...।"
    ����✨

    @hindinama #pod @mirakeewrites_

    Read More

    सुविचार...

    ज़िंदगी है तो संग कुछ सवाल भी होंगे,
    जवाब न मिलें तो फिर बवाल भी होंगे।
    भरोसा अपने आप पर तू कायम रख 'मधु',
    बेफिक्र हो सत्कर्म कर फिर कमाल भी होंगे।

    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    ©meri_ankahi_rachanayen

  • meri_ankahi_rachanayen 13w

    बस यूँ ही... ����✨

    Read More

    2पंक्तियाँ...

    मैं खोजती रही खुशी,
    गम खोजते रहें मुझे!

    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    ©meri_ankahi_rachanayen

  • meri_ankahi_rachanayen 15w

    ������

    Read More

    पप्पा...

    शब्द नहीं कुछ पास मेरे... कैसे मैं हृदय दिखाऊँ!
    हर मुश्किल में राह दिखाते 'पप्पा' मैं आपको पाऊँ!

    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    ©meri_ankahi_rachanayen

  • meri_ankahi_rachanayen 16w

    बस यूँ ही... कुछ भी... झेल लियो...������

    Read More

    2 पंक्तियाँ...

    इश़्क, नफ़रत और मुस्कुराहट तेरी,
    बस इन तीनों से बच जाए जान मेरी।

    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    ©meri_ankahi_rachanayen

  • meri_ankahi_rachanayen 16w

    बस यूँ ही... ☺����

    Read More

    2 पंक्तियाँ...

    मुस्कुरा उठा है दिल तेरी यादों के आने से,
    और जी लेती है 'मधु' फिर इसी बहाने से।

    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    ©meri_ankahi_rachanayen

  • meri_ankahi_rachanayen 17w

    जन्मदिवस की ढेर सारी बधाइयाँ एवं शुभकामनाएँ प्रिय दीप्ति जी... ईश्वरीय कृपा आपपर सदा बनी रहें... ������

    Read More

    दीप्ति जी...

    जन्मदिवस का शुभ दिन आया,
    सोच सखी को 'मधु' मन हर्षाया।
    सच यह कभी न मिलें हैं जिनसे,
    उनकी खुशियाँ है दिल ने मनाया!

    स्मित मुस्कान सजाकर मुख पर,
    दीप्त 'दीया' बन जलती हैं वह।
    झोली में जो मिलें सहेजकर,
    शुक्रिया ही अक्सर कहती हैं वह!

    एक नई शुरुआत की खातिर,
    यह नित प्रयास करती रहती हैं।
    बिखरे-बिखरे हर शब्द समेटकर,
    'दीप्ति' अपनी ग़ज़ल गढ़ती हैं।

    है कामना यही मेरी,
    कभी खुशियों में न कमी हो!
    मोती झरे हँसी के बस,
    कभी ना आँखों में नमी हो।


    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    19/09/21
    ©meri_ankahi_rachanayen

  • meri_ankahi_rachanayen 17w

    बस यूँ ही...

    Read More

    पप्पा...

    'पप्पा' बस एक शब्द नहीं ये तो 'मधु' संसार था,
    न कर पाईं कभी बयां कितना आपसे प्यार था!

    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    17/09/21
    ©meri_ankahi_rachanayen

  • meri_ankahi_rachanayen 18w

    ������

    Read More



    इन दिनों ज़िंदगी भी ऑनलाइन गेम्स की तरह हो गई है...! हर तरफ़ से गोली-बारुद-सी मुसीबतें बरस रही हैं... और इस खेल में मेरी नन्हीं-सी जान हर आहट पर सिहर जाती है...!

    श्रीमती माधुरी मिश्रा 'मधु'
    15/09/21
    ©meri_ankahi_rachanayen