Grid View
List View
  • love_inside 74w

    Sambhal❣️

    ज़रा संभल के चलन पड़ेगा अब मुझे,

    क्योंकि लोगों को दर्द देने में बड़ा मजा आ रहा है...

    ©love_inside

  • love_inside 74w

    Ulajh❣️

    उलझ गयी हूँ तुझी में ए ज़िन्दगी न जाने क्यों मैं,

    अब तू ही मज़िल का पता दे ना मुझे...

  • love_inside 84w

    Mulrli❣️

    ना ही राधा और ना ही रुक्मिणी बनना है मुझे,

    मेरे कान्हा! तेरी मुरली ही बनने की ख़्वाहिशें है मुझमें...

    ©love_inside

  • love_inside 84w

    Mohabbat❣️

    मुझे अपनी मोहब्बत को साबित करने में

    कोई दिलचस्पी नहीं है,

    अगर दिलचस्पी है किसी चीज़ में,

    तो वो है तुम्हारा बस एक ख़्याल...

    ©love_inside

  • love_inside 85w

    Mukaddar❣️

    बाहों में तेरी रहना चाहती हूँ,

    अपने मुकद्दर में लिखना चाहती हूँ,

    तेरी रूह में सामना चाहती हूँ,

    तेरी होकर मैं मरना चाहती हूँ,

    ख़्वाहिशें हैं बस इतनी-सी...

    ©love_inside

  • love_inside 85w

    Chahat❣️

    चेहरे का रंग ना गोरा और ना ही रंग काला चाहिए,

    मुझे तो बस सिर्फ़ और सिर्फ़ मेरा किशन कन्हैया ही चाहिए...

    ©love_inside

  • love_inside 86w

    Niharna❣️

    उन्होंने पूछा हमसे तुम्हारी ख़ुशी किस में है,

    तब से हम उन्हीं को निहार रहे है...

    ©love_inside

  • love_inside 86w

    Silsila❣️

    तुझे चाहने का ये सिलसिला जारी रहेगा,

    ये मत सोचना कि मेरा प्यार केवल दो दिनों तक ही रहेगा...

    ©love_inside

  • love_inside 86w

    Awaaz❣️

    सुनने को तेरी आवाज़ हमेशा ये दिल बेकरार रहता है,

    लेकिन फ़िर भी तुझसे रुठकर तुझे ही मनाने में तुमसे बार बार प्यार

    होता है...

    ©love_inside

  • love_inside 86w

    Marna❣️

    तू ना मिला तो मरना नहीं चाहेंगें हम,

    कैसे जी रहे हो मेरे बिना देखना चाहेंगें हम...

    ©love_inside