Grid View
List View
Reposts
  • kamalsingh 111w

    Mere aaina-e-dil mein, tera chaand sa chehara!
    Milen ham-tum yoon beech na ho koee pahara !!

    Read More

    मेरे आइना-ए-दिल में, तेरा चाँद सा चेहरा!
    मिलें हम-तुम यूँ बीच न हो कोई पहरा!!
    ©maikavi

  • kamalsingh 112w

    Kaheen ho na jaaye koee gustaakhee hamse!
    Aaj mohabbat ne, ishq ko salaam kiya hai !!

    Read More

    कहीं हो न जाए कोई गुस्ताखी हमसे!
    आज मोहब्बत ने,
    इश्क़ को सलाम किया है!!
    ©maikavi

  • kamalsingh 114w

    Na jaane kaise dillagee hai, unakee nasheelee aankhon se! Mujhme abhee aur kuchh bacha bhee nahin !!

    Read More

    न जाने कैसी दिल्लगी है, उनकी नशीली आँखों से!
    मुझमे अब और कुछ बचा भी नहीं!!
    ©maikavi

  • kamalsingh 115w

    Saamane se mere bachta huaa jaaye koee
    Haay, jhumake ne meri aankhon mein jhaank liya.....��

    Read More

    सामने से मेरे बचता हुआ जाए कोई!
    हाय, झुमके ने मेरी आँखों में झांक लिया!!
    ©maikavi

  • kamalsingh 116w

    Chhanakatee paayalon ka kasoor kuchh kam nahin hai!
    Pair kee ek paayal ne hee,
    Mere dil ke aangan mein shor macha rakha hai!

    Read More

    छनकती पायलों का कसूर कुछ कम नहीं है!
    पैर की एक पायल ने ही, 
    मेरे दिल के आँगन में शोर मचा रखा है!
    ©maikavi

  • kamalsingh 117w

    मैं तो तेरा ही शौक़ीन ओ सांवरे,
    उफ्फ ये चाय भी तो तेरे जैसी है!!
    ©maikavi

  • kamalsingh 117w

    शहर के लोगों, ज़िस्म बे-लिबास है,
    जरा फ़ासले से मिला करो
    हम गाँव से आये हैं!!
    ©kamalsingh

  • kamalsingh 119w

    यूँ मदहोश होकर साँसों में साँस लेना,
    जैसे तूफ़ाँ में जल रहे हों दो दिये!!
    ©kamalsingh

  • kamalsingh 120w

    Kitanee aazaadee se anajaane mein hee,
    Ham apanee hadon mein qaid hain!
    Raah-e-talab se dil ko na roko,
    Itanee hai haqeeqat baaqee to sab
    kahaaniyaan hain!


    @laughing_soul ma'am

    Read More

    कितनी आज़ादी से अनजाने में ही,
    हम अपनी हदों में क़ैद हैं!
    राह-ए-तलब से दिल को न रोको,
    इतनी है हक़ीक़त बाक़ी तो सब कहानियाँ हैं!
    ©kamalsingh

  • kamalsingh 122w

    Kuchh dard kuchh namee kuchh baaten judaee kee,
    Badee aarazoo thee mulaaqaat kee,
    Guphtagoo ho na ho khyaal tera hee rahata hai.

    @laughing_soul ma'am

    Read More

    कुछ दर्द कुछ नमी कुछ बातें जुदाई की,
    बड़ी आरज़ू थी मुलाक़ात की,
    गुफ्तगू हो न हो ख्याल तेरा ही रहता है।
    ©kamalsingh