Grid View
List View
  • jyotsanaanand1999 1w

    एक उलझन कभी-कभी सारे सुलझे हुए रिश्तो को
    या तो उलझा देती है,
    या तो सारे उलझे हुए रिश्तो को सुलझा देती है।
    ©jyotsanaanand1999

  • jyotsanaanand1999 1w

    नजर मर्दों की खराब होती है,
    और पर्दा, औरतों को करना पड़ता है।
    ©jyotsanaanand1999

  • jyotsanaanand1999 1w

    पास जाओ, तो शर्तें हजार।
    दूर जाओ, तो नजरें खराब।
    ©jyotsanaanand1999

  • jyotsanaanand1999 2w

    जो खुद की नहीं सुनता,
    वो तुम्हारी क्या सुनेगा।
    ©jyotsanaanand1999

  • jyotsanaanand1999 2w

    अगर कोई अपनी खुदगर्जी
    और गैर- जिम्मेदारी के लिए,
    आपको छोड़ दे,
    तो इसका मतलब ऐ नहीं है,
    कि आप भी उस से टूट कर खुद को
    और अपने सपनों को भी कुचल दे।
    और अगर आप ऐसा वाकई करने के बारे में सोचते हैं,
    तो अब खुद ही बताइए,
    कि गलती किसकी ज्यादा है,
    और गौर- जिम्मेदार कौन ज्यादा है।
    ©jyotsanaanand1999

  • jyotsanaanand1999 2w

    कभी- कभी बरसों की आदत या मोहब्बत,
    को पाने या छोड़ने के लिए,
    एक पल ही काफी होता है।
    ©jyotsanaanand1999

  • jyotsanaanand1999 3w

    एक कसम,
    सारे रस्मों पर भारी पड़ गई।
    ©jyotsanaanand1999

  • jyotsanaanand1999 3w

    #illusionary world
    #surreal
    #deceit
    #key to glimpses for reality

    Read More

    एक कसम,
    सारे रस्मों में उलझ कर रह गई।
    ©jyotsanaanand1999

  • jyotsanaanand1999 3w

    कुछ लोग रिश्ते निभाने के लिए मौन रहते हैं,
    कुछ खफा रहते हैं,
    कुछ माफी मांगते हैं,
    कुछ बहाने बनाते हैं,
    कुछ तर्क देते हैं,
    कुछ अकड़ के रहते हैं,
    कोई कुछ भी नहीं करते
    और कोई कुछ भी नहीं करके,
    सब कर जाते हैं।
    ©jyotsanaanand1999

  • jyotsanaanand1999 3w

    खफा क्या रहना,
    अगर इंसान हमेशा गैर-जिम्मेदार रहे तो।
    ©jyotsanaanand1999