Grid View
List View
Reposts
  • iti___ 2h

    ��

    Read More

    मैं!
    हाँ मैं, मैं उतनी खूबसूरत नहीं जितना मेरे घर वालो को चाहिए;
    पर बेशक मैं उतनी खूबसूरत हूँ जीतने में मैं बहुत खुश हूँ!
    मैं रंगत से उतनी गोरी नहीं, पर मेरे साँवले रंग में मैं बहुत खूबसूरत दिखती हूँ!
    और तो और मेरी हँसी बहुत प्यारी है, जब मैं हँसती हूँ तो मेरे गालों पर जो गढ्ढे होते है;मेरी खूबसूरती में चार चाँद लगा देते हैं!
    मेरी आँखे वो भी बहुत प्यारी हैं, मैं उनमें कभी काजल नहीं लगाती पर मुझे eyeliner लगाना बहुत पसन्द हैं!
    और अगर मैं अपनी होठों की बात करू तो वो,वो मेरे हँसने पर और भी ज्यादा खूबसूरत दिखते हैं!
    पर फिर भी मैं उतनी खूबसूरत नहीं जितना मेरे घर वालों को चाहिए!
    मेरी रंगत उन्हें गोरी चाहिए, चाहे मेरी सीरत जो भी हो!!!
    ©iti___

  • iti___ 1d

    क्या लोग खुद के आँसू, खुद से छुपाने को;
    अकेले में भी हँसने कि कोशिश करते हैं?
    ©iti___

  • iti___ 1w

    #��

    Read More

    अब वो बात नहीं, उसकी बातों में!
    जबसे देखा है उसे ,किसी और कि बाहों में!
    ©iti___

  • iti___ 1w

    हर एक अंत,
    नई shuruaat है!

  • iti___ 1w

    ��

    Read More

    थोड़ी इससे जलन हुई, थोड़ा उससे नशा हुआ!
    मदहोशी में थी मैं,तो सब बेवजह हुआ!
    ©iti___

  • iti___ 1w

    Good bye

    इस बेमतलब सी दुनिया में,
    तुम्हारे बुरे हालातों के जिम्मेदार हम है;
    तो फिर हमसे दूरी ही अच्छी हैं!
    ©iti___

  • iti___ 1w

    राधे राधे��

    Read More

    काले घोर अंधेरे में छुपी रौशनी हो तुम!
    डूबती दरिया में पार कराने वाले खेवैया हो तुम!
    मेरे पालनहार तुम ही राधे ,मेरे कन्हैया हो तुम!
    ©iti___

  • iti___ 2w

    ��

    Read More

    पता है एक बात!
    मेरी अहमियत तुम्हें भी,मेरे जाने के बाद समझ आई थी;
    और इन्हें भी,मेरे जाने के बाद समझ आएगी!
    ©iti___

  • iti___ 2w



    पहले कितनी ज्यादा तरप् होती थी मिलने कि,
    मैं कभी न मिल पाती तो घर के नीचे आ जाते थे;
    एक झलक के लिए!
    आज पूरे एक साल हो गए एकदूसरे को देखे|||
    ©iti___

  • iti___ 2w

    लोग मिलते है,बड़ी मुश्किल से;
    फिर बिछड़ने में आसानी कैसे होती होगी?
    ©iti___