Grid View
List View
  • hk55555 6w

    Dear Society

    Dear Society you love your traditions and boundaries
    Dear Society you hate the person who is out of the box
    Dear Society you have the fear that others will also behave in the same way
    You always tried to kill the out of the box person
    You always outnumbered out of box people
    Many times out of the box people surrender in the end out of fear.
    But now they are nothing more than a dead body wandering here and there
    Dear Society one side you encourage us to ask questions on the other side you hate out of box questions
    Dear Society you gave us the freedom to lived & worship in our way
    But when you see it's out of the box you started teasing
    Dear Society why don't you tried to solve that problem of indigestion
    It's my suggestion please met some good doctor
    Dear Society if I have the power and money then my all out of box things are right for you.
    Dear Society you don't like when people started thinking differently.
    Dear Society you are my inspiration you trained me how to kill other people dreams
    Dear Society I think now I have to surrender because you left me with no solution.
    Dear society now I understand you love dead people than alive one
    Dear Society you love your traditions and boundaries
    ©hk

  • hk55555 10w

    Moonlight

    The moonlight is sad as no one adores him as they adore the sun
    The sun laughed at the moonlight for being not loved 
    In the night when the moonlight fell on water
    He sees water dullness fade away and looks even purer and happy
    After the Moonlight understand his power 
    So it decided to heal a person  broken hopes & heart
    The sun laughter at him on his crazy plan
    But the moonlight is determined to fight with the sun.
    Moonlight meets a person with nasty scares
    That person is on the verge of breaking like a shooting star
    No one tried to protect him as they want to use 
    him to make their wish come true.
    The moonlight fell on him heal that person's heart 
    It  also gave him hopes to win the world
    But the other envy with little star
    That star with pure heart invite others to share the joy
    But their envy ceased them to feel the happiness 
    They even tried to again break little star heart
    But the power of moonlight is sufficient 
    To make that star shine even brighter even the sun.
    Now no stop him to touch the sky.
    The moonlight is happy to see the healed 
    and happy star.
    Now sun understand his mistake after that he never laughs at him
    ©hk

  • hk55555 18w

    JOKER

    The stage of life made person a Joker
    In the deck of cards, It has power
    But on the stage of life its most powerless & unhappy person
    It got hurt by life so many times
    Despite of crying now its laughed every time
    For every betrayal & every downfall
    It tries to convert it into a new joke that added to his story
    Being a joker for others & for himself
    It obligate to laugh as hard as it can on every tragedy
    That joker has the right to cry but in front of walls
    As nobody understands its emotions
    For everyone it only loves money
    But Joker knows that love without money is like life without breathe
    The stage of life made a person a Joker
    In the deck of cards, It has power
    But on the stage of life its powerless & unhappy person
    That Joker find it easy to hide its felling
    Rather than clarify to anyone
    This is how it leaves till the end
    The stage of life made a person a Joker
    ©hk

  • hk55555 19w

    #समझा #अपने #दर्द #अकेले #किसी #काला #जुबान #नजरों

    Read More

    अपने अनजाने

    कोई ना समझा हमें, ना हम किसी को समझा पाए
    अकेले आए है और अकेले ही जाएगे
    जब कोशिश की समझाने की, तो जज़्बात को बयान ना कर पाए,
    लगता था की बिन बोले सब समझा जाएगे
    पर बोलने पर भी कुछ समझा ना पाए,सिर्फ गुनहगर बन कर रह गए,
    जैसे सब की नजरों मे गिरे हुए थे, उनकी नजरों मे भी खुद को गिरा हुआ पाया
    वो जानते है हम को, हम उनका खून है
    फिर भी वो इतने अनजान कैसे बन गए
    क्यों उन्हे वो दर्द समझा नहीं आया, मुझे उनका दर्द का अहसास है
    पर वो हमारे दिल का हाल ना समझा पाए
    चाहे क्या सही है और क्या गलत है या ना जानते हो
    पर वो हमारे दर्द सा भागने की कला को घमंड का नाम देगे या ना सोचा था
    किसी अनजान के दिए दर्द को फिर भी पी लेते
    पर जब अपने की ना समझा पाए तो फिर किस को क्या बोले
    कोई ना समझा हमें, ना हम किसी को समझा पाए
    अकेले आए है और अकेले ही जाएगे
    दर्द जो दिल मे है अब कभी जुबान पर नहीं लाएगे
    अगर कोई समझा ना पाया तो हम भी नहीं समझाएंगे
    अगर काला दिल है तो इस दिल को और काला बनाएंगे
    तभी हम चैन से जी पायागे
    कोई ना समझा हमें, ना हम किसी को समझा पाए
    ©hk

  • hk55555 22w

    Dear Heart

    My dear heart don't cry
    You don't have the right to be happy or sad
    When you are happy, You are on cloud nine
    When you are sad, You drowning in the ocean
    My dear heart don't cry
    I suggested you to be neutral
    When you become neutral
    Neither the Pain nor the happiness able to effect you
    My dear heart don't cry
    I am your only friend and foe
    You should only depend on me
    Don't tried to find any false shield of love
    My dear heart don't cry
    You don't have the right to be happy or sad
    ©hk

  • hk55555 22w

    #गलती #चहाने #रोज #रंग #बदले मे# मौत #समझा # सांसे गिनने
    #टूटे हुए# दिल के# अरमानों#अंत में बस #घने अंधेरे की #छाया में# घिरते

    Read More

    गलती हर बार

    तुम्हे चहाने की गलती हर बार करते है
    वैसे ही जैसे हर रोज सांसे लेते है
    चाहत तो ज़िन्दगी की होती है
    पर बदले मे मौत मिलती है
    अब समझा नहीं आता की सांसे गिनने
    या फिर टूटे हुए अरमानों के टुकड़ों को
    सांसो को गिनना आसान है
    क्योकि इसके अन्त मे रंग हजार है
    पर जब भी टूटे हुए दिल के अरमानों को गिनते हैं
    अंत में बस घने अंधेरे की छाया में घिरते है
    दर्द बहुत है इस दिल में पर बयां किसी से नहीं करते हैं
    क्योकि जो तीर एक बार लाग़ा उस जख्म ने हमे बार बार छीलता हैं
    तुम्हे चहाने की गलती हर बार करते है
    वैसे ही जैसे हर रोज सांसे लेते है
    और हर रोज थोड़ा रोते थोड़ा तड़पते हैं
    पर फिर भी हर रोज तुम्हें चाहने की गलती करते हैं
    ©hk

  • hk55555 22w

    #जज़्बातो # खेल #समझ #पाए #हो ना #जिंदगी #मैदान #उतर कर एक #जंग लड़ते आए हैं

    Read More

    जज़्बातो

    क्या जानते हो तुम जज़्बातो के खेल को
    कभी अंदर एक तूफान चलता है
    कभी बाहर एक गहरी शांति रहती है
    जब दिल रोता है तब आंखों में चमक और होठों पे मुस्कान होती है
    जब आंखें रोती हैं तब दिल में एक अलग सी शांति का साया होता है
    क्या जानते हो तुम जज़्बातो खेल को
    कभी कोई अपना होते हुए भी पराया हो जाता है
    कभी कोई पराया भी अपना सा लगने लगता है
    जिंदगी एक ऐसे खेल का मैदान है
    जिसमें जो जितना हारा उतना ही जीता है
    जीते तो काई बार है पर जज्बातों ने ऐसा तड़पाया है
    की खुशी से भरे हुए दिल को भी कई बार रुलाया है
    क्या जानते हो तुम जज़्बातो के खेल को
    ना तुम समझ पाए हो ना हम समझ पाए हैं
    बस हर रोज जिंदगी के मैदान में उतर कर एक जंग लड़ते आए हैं
    क्या जानते हो तुम जज़्बातो के खेल को
    कभी अंदर एक तूफान चलता है
    कभी बाहर एक गहरी शांति होती है
    ©hk

  • hk55555 27w

    #दर्द #सिर्फ #तूफ़ान #लो #आराम #शांति #आनंद #आँसू #दुनियां #आग

    Read More

    दर्द

    कही आग लगी है जंगलो मे
    कही तूफान उठा है समुंदर मे
    कही लाशें बिछी है अपनों की
    हवाओं मे भी खुशबू भरी है दर्द की
    चरों ओर सिर्फ दर्द और मौत का साया है
    बाहर के तूफानों ने तो रुलाया है,पर जो तूफान उठा है दिल मे
    उसकी एक अपनी दुनियां है, एक अलग सी माया है
    जिसने भी अपना सा बनकर सीने पर वार किया है
    हमे तिल - तिल कर मारा है
    अब आँखों से दर्द नहीं अभिशाप की नदियाँ बहती है
    उनके लिए बस अब शब्दों का तेज़ाब बहता है
    दुनियां के दर्द तो सब जानते है
    तो हमने भी दुनियां के दर्द की ओटा मे अपने दर्द को छुपाया है
    आँखों मे आँसू है दिल भी टूटा है
    पर सामने हमने सिर्फ दुनियां का दर्द को रखा है
    तन्हा हूँ पर अकेला नहीं, साथ तो बहुतो का पाया है
    पर कोई साथ हमसफ़र ही नहीं बन पाया है
    बाहर की आग, जलजला और तूफ़ान चाहे थम जाए
    ना जाने अन्दर की आग को कब उसकी लो मे मिलेगी
    और उसे अनंत आराम और शांति मिलेगी
    कही आग लगी है जंगलो मे
    कही तूफान उठा है समुंदर मे
    कही लाशें बिछी है अपनों की
    हवाओं मे भी खुशबू भरी है दर्द की
    चरों ओर सिर्फ दर्द और मौत का साया है
    ©hk

  • hk55555 28w

    #गंगा किनारे # खबरें # कर्म # छाए # पूछा # लाशों # इंसानियत# इंसान # जिंदा # किस्मत

    Read More

    गंगा किनारे

    मै खड़ा था गंगा किनारे
    सोचा एक कदम और फिर मोकक्षा मेरा
    सारे गमों अन्त और छटेगा घना अंधेरा
    पर वहाँ का नजारे ने सारे भ्रम तोड़ दिए
    दिल रो पड़ा जब देखा तैरती लाशो का काफिला
    दिल मे टिस उठी जब दो शहरों ने अपनों से मुंह फेरा
    ना जाने उन लाशो को मोक्षा मिलेगा की नहीं
    पर इंसानियत को बुरी तरह तब्हा होते जरूर देखा
    आँखे नम थी ना जाने कैसे कर्म थे जो हमने ऐसा देखा
    हमारी किस्मत तो ख़राब थी पर उन लाशो की किस्मत हम से ख़राब थी
    जब जिंदा थे तब किसी ना पूछा आज खबरों मे छाए हुए हैं
    कैसा तबहा हो गया इन्सान जिंदा हो कर भी मर गया इन्सान
    मै खड़ा था गंगा किनारे
    सोचा एक कदम और फिर मोकक्षा मेरा
    ©hk

  • hk55555 29w

    #दस्तक़ #गम #रूपी#डर #नहीं #बट#ज़िन्दगी #उम्मीद

    Read More

    दस्तक़

    जिंदगी मे ना गम की कमी थी
    ना और ज़िने की इच्छा बची थी
    इस ज़िन्दगी की गाड़ी को मरे अरमानो के साहरे खिचा रहे थे
    तभी दरवाजे पर उम्मीदो की जगह महामारी रूपी मौत ने दस्तक दी
    पहले जिन सासों को गिना रहे थे
    अब उन बची सासों की भी कीमत चूकानी पढ़ रही है
    चाही तो अपनी मौत थी पर अपनों के शव उठाने पड़ रहे है
    जो जिंदगी मे कुछ पाने की उम्मीद थी वो भी चली गई
    ज़िन्दगी दो हिस्सों मे बट गई
    मौत और ज़िन्दगी मे एक जंग छिड़ा गई
    मरना तो है पर ऐसे घुट कर नहीं
    ज़िना भी है पर ऐसे डर कर नहीं
    जिंदगी मे ना गम की कमी थी
    ना और ज़िने की इच्छा बची थी
    पर ऐसे सास गिनने की इच्छा नहीं थी
    ©hk