himalayan_pride

AparnaHarpicWaitress.com

citizen of milkyway// Your nervous system may blast if you'll try to know me more.bubye.

Grid View
List View
Reposts
  • himalayan_pride 77w

    Jio mere desh ke logo jio.....
    Padho likho khelo vidrohi bano....
    Communist bano...Marxist bano..
    Democrats bano...Autocrats bano...
    Conservative bano.. Totalitarian..
    Utilitarian ...contractarian...
    Kantian,... Aristotelian ....Jo chaho bano
    Ya fir tum Confucius ki tarah confuse ho jao...Tum khud mai kho jao...Bas...
    Baki meri baten aapke palle nhi padengi .....?............................

    nakabil netaon ko mat chuno...
    Jhute media se mat bahkoo...
    Whatever you are don't be political slaves of anyone. Put your honest opinion out based on logic and facts .
    The are draining not only our money but also our fate................
    Raise voice
    Be Socrates
    Be courageous

    Kids and adults are assets
    They need to fetch their nervous system out of android phone and use it in some productive activities.

    Sad.

    You never target an olympic medal for india..

    Read More

    हम कोशिश करते हैं , करते ही जाते है,
    राहों के अन्वेषी है, पथ रोशन करते जाते है।
    उन्मुक्त भाव मेरे मन में,
    संतप्त भाव मेरे मन में ,
    स्वच्छंद चेतना मेरी है ,
    अनु गम्य चेतना मेरी है,
    है कुटिल काल पर वश मेरा,
    है मृत्यु सदा जीवन मेरा,
    जीवन आशा से सराबोर,
    प्रत्याशा पर है नहीं जोर,
    मै परमात्म राह का अनुचर हूं,
    स्वातम भाव से परिचित हूं।
    ना गम है, ना कोई विषाद,
    ना प्रेम में हूं, ना ईर्ष्या में,
    है भक्ति भाव मेरे मन में,
    है शक्ति भाव मेरे मन में,
    मै मनु का वंशज मानव हूं,
    है हार नहीं मेरे मन में,
    हम राहों के अन्वेषी है , पथ रोशन करते जाते है।
    हम इस कलि युग के युग के मानव है,
    पथ रोशन करते जाते है , पथ रोशन करते जाते है ।

  • himalayan_pride 80w

    A message

    My little heart&
    Every little girl here,

    I want to draw your your attention on a very urgent issue! Please try to understand me.

    1.your soul and your dignity is all respectable and doesn't deserve any heartache. Noone including any fucking loveboi has any right to harm you emotionally in any manner either virtual or physical.

    2. May be your parents won't tell this message but I'll. Because I have a responsibility towards society as I observed so many little girls in age of 15-22 struggling too much emotionally and weakening their potential growth Perspective just because of stupid emotional trap of stupid boys!

    3. This phase is of transformation! Transformation of body growth, transformation of thoughts, emotional flow in heart and mind and what not! But keep in mind it is the age of your personality transformation too! Your brain needs diet of knowledge in that age only. Being girl in poor indian society is too much painful! Your economic independence is crucial for your respectful survival so it's necessary to focus on many other visions of life.

    4. Its painful observing you just typing big big chats and showing your purest emotions and then facing pain! I am not opposer of love! Its amazing feeling but oh lil dolls of my nation your respect will come with your intellectual worth! Be smart! Be courageous! Be knowledgeable! Be passionate for goals and wisdom! Be indira be kalpana chawla! Be shubhra saxena or be the teena dabi! But do not cry and wet your pillows.

    5. Life is a process in which the most important resource is time! So ensure you are utilizing it in best possible manner. Be passionate for your health! Go run in parks! Go have life in libraries go have life in open sky! Yes relationships matter but not more than your life.

    6.Be strong ☺️. Don't create havoc in brains . Mother earth faces thousands of earthquake daily can't you just handle lil lil setbacks. But earth is so much strong to shape our lives. Ans you too do the same.

    7. Focus on your education! Learn new skills! Diverse your knowledge! My recommendation for all of you is

    "DIARY OF ANNY FRANK"

    Love and regards


    ©himalayan_pride

  • himalayan_pride 87w

    ****Read Right to Left****

    I wanted you to travel time
    So let's read it unconventionally ����

    Again! Read right to left

    @the_pikachu
    @love_whispererr

    Read More

    Read right to left
    दांये से बांयी ओर पढ़ें..

    मैं जब शाम एक हर
    ,से हुए मिटे पर खण्डहरों
    ,का ढूंढने को निशानों से हुए छुपे
    ,हूँ करता प्रयास
    ,है लगता बोलने इतिहास
    कहानियां की उत्थान मानवीय
    है लगता कहने

    ,ने किसी बीज रोपे कैसे
    ,रस्सियां तमाम बंधीं कैसे
    ,पर शिलाओं रंग बिखरे कैसे
    ,बने हथियार के हिंसा आखिर कैसे

    ,ने मानुष उस सोचा कैसे
    करना पूजा की पत्थर
    ,ने वाले खाने मूल-कंद कैसे
    पर मृदभाण्डों रचा श्रृंगार
    ,कहता किस्से कैसे कैसे
    से भाषा की संकेतों
    ,उसने आखिर सीखा कैसे
    ,करना संगम का लिपि-वाणी
    , का धातु ज्ञान उपजा कैसे
    कलायें आदि रिसना, मढ़ना,तलना, जलना
    ,राजा था चुना उसने कैसे
    ,में वर्गों को जाति निज बांटा कैसे
    ,व्यापारी का सागर गहरे कैसे
    ,फिरता तौले चाँदी-सोना-मोती-हीरे
    ,कर देख-देख उसको कैसे
    ,हर्षाती नदियां, मुस्काती धरती
    के गंगा, काबुल, सिंधु, उसने कैसे
    समाये परिवार में आँचल 
    ,उसने आखिर सीखे कैसे
    ,संस्कार भी के मृत्यु 
    ,आगे से पशुओं निकला कैसे
    ,विचार-आचार, विहार-आहार था फिरता करता


    नहीं पता, परिवर्तन कैसे-कैसे
    हैं करते अचम्भित आज क्यों
    ¿वो था दर्शन का ज्ञान कैसे
    ¿वो बना आस्तित्व आखिर क्यों
    ¿था दर्शन का पंचतत्व वो क्या
    ¿वो था क्या
    ,हो संज्ञानित तुम्हें कभी
    भी तुम से शिला किसी देना कह
    …….अनकही-कही कुछ
    …….छिपी में दिल कुछ.


    ©himalayan_pride

  • himalayan_pride 89w

    बस.......आपके सुखी स्वस्थ जीवन की कामना के साथ...

    आवारा परिंदा...

    नॉर्वे जाना है, अकेले घर बनाना है
    दो-चार बिल्लियां पाल लेंगे,
    कुछ राजनीति पर किताबें लिखनी हैं
    समुंदर में दूर तक नाव ले जाकर
    मिड ओसियन रिज को छूकर आना है..
    बस ऐसे ही उल्टे सीधे सपने हैं मेरे अब...

    Read More

    अगर ये धरती आपसे,
    न्याय मांगे,
    आपके अभिमान का परित्याग मांगे,
    तो क्या उसका अधिकार नहीं है?

    जो धरोहर की तरह सहेजे,
    तुम्हारी पीढ़ियों को,
    ढोये तुम्हारे लालच को,
    गर वो करुणा की भीख मांगे,
    तो क्या उसका अधिकार नहीं है?

    तुम उसका श्रृंगार उजाड़ो,
    उसके गहने जैसे वृक्षों को,
    अपनी हिंसा से झुलसा डालो,
    गर वो हरियाला आँचल मांगे,
    तो क्या उसका अधिकार नहीं है?

    ममता उसके गर्भ से उपजे,
    उसकी नस-नस के पानी से,
    शीतलता का नेह तुम्हारे जीवन में,
    गर वो तुमसे संरक्षण मांगे?
    तो क्या उसका अधिकार नहीं है?

    एक-एक तिनका माटी का,
    कल्प हज़ारों में बनकर करता पोषण,
    धरती रूप में सूरज की वो प्यारी दुल्हन,
    गर तुमसे मांगे प्यार मृदा का?
    तो क्या उसका अधिकार नहीं है?


    ©himalayan_pride

  • himalayan_pride 94w

    My most favourite lines to say goodbye!
    I had fully enjoyed a short break here.
    It's time again to push more ��.

    People who need a mention...

    @the_pikachu always my lil heart

    @love_whispererr god bless you dear.

    @tortoise , a happy girl!

    Stay happy always.

    Reading suggestions? if you all need just comment below. I am good at suggesting bibliographic references.

    Cya late!

    Read More

    कोई न हो जब साथ तो एकान्त को आवाज़ दें!
    इस पार क्या उस पार क्या
    पतवार क्या मँझधार क्या
    हर प्यास को जो दे डुबा वह एक सावन चाहिए!
    कुछ कर गुज़रने के लिए मौसम नहीं मन चाहिए.....!!

  • himalayan_pride 94w

    कौन से फूल तुझ को भाते हैं
    रंग क्या क्या पसंद आते हैं
    खो सा जाता हूँ तेरी जन्नत में
    मैं तुझे चाहता नहीं लेकिन
    मैं तुझे चाहता नहीं लेकिन
    फिर भी एहसास से नजात नहीं
    सोचता हूँ तो रंज होता है
    दिल को जैसे कोई डुबोता है
    जिस को इतना सराहता हूँ मैं
    जिस को इस दर्जा चाहता हूँ मैं
    उस में तेरी सी कोई बात नहीं

    ❤️



    मैं तुझे चाहता नहीं
    क्योंकि....

    ........

    चाहत की दूरियां
    हमारी मजबूरियां
    तुम्हारी अंजान गलियां
    हमारे दिलों की कमजोरियां


    दुनिया जहाँ की की बातें
    कहीं बेहतर हैं

    तुझे खो देने के डर से
    तुझे पा लेने की खुशी से
    बिछड़ने-बिखरने की ऋतु से
    आँखों के बेमोल आँसुओं से

    मैं तुझे चाहता तो नहीं
    लेकिन
    प्यार जरूर करता हूँ

  • himalayan_pride 94w

    ...
    ...
    Enjoy

    Only those people who had an elaborated college life , specially university's campuses ��, will feel it..

    @the_pikachu
    @love_whispererr

    Read More

    ज़माने की रफ़्तार का राग गाती
    लचकती हुई सी छलकती हुई सी
    बहकती हुई सी महकती हुई सी
    वो सड़कों पे फूलों की धारी सी बनती
    इधर से उधर से हसीनों को चुनती
    झलकते वो शीशों में शादाब चेहरे
    वो कलियाँ सी खुलती हुई मुँह अंधेरे
    वो माथे पे साड़ी के रंगीं किनारे
    सहर से निकलती शफ़क़ के इशारे
    किसी की अदा से अयाँ ख़ुश-मज़ाक़ी
    किसी की निगाहों में कुछ नींद बाक़ी
    किसी की नज़र में मोहब्बत के दोहे
    सखी री ये जीवन पिया बिन न सोहे
    ये खिड़की का रंगीन शीशा गिराए
    वो शीशे से रंगीन चेहरा मिलाए
    ये चलती ज़मीं पे निगाहें जमाती
    वो होंटों में अपने क़लम को दबाती
    ये खिड़की से इक हाथ बाहर निकाले
    वो ज़ानू पे गिरती किताबें सँभाले
    किसी को वो हर बार तेवरी सी चढ़ती
    दुकानों के तख़्ते अधूरे से पढ़ती
    कोई इक तरफ़ को सिमटती हुई सी
    किनारे को साड़ी के बटती हुई सी
    वो लारी में गूँजे हुए ज़मज़मे से
    दबी मुस्कुराहट सुबुक क़हक़हे से
    वो लहजों में चाँदी खनकती हुई सी
    वो नज़रों से कलियाँ चटकती हुई सी
    सरों से वो आँचल ढलकते हुए से
    वो शानों से साग़र छलकते हुए से
    जवानी निगाहों में बहकी हुई सी
    मोहब्बत तख़य्युल में बहकी हुई सी
    वो आपस की छेड़ें वो झूटे फ़साने
    कोई उन की बातों को कैसे न माने

    फ़साना भी उन का तराना भी उन का
    जवानी भी उन की ज़माना भी उन का

  • himalayan_pride 94w

    @the_pikachu ,����

    Read More

    ये इल्म का सौदा ये रिसाले ये किताबें
    इक शख़्स की यादों को भुलाने के लिए हैं

    My knowledge ecosystem and the books
    Everything I do to fade her memories





    And tortoise , I am succeeded.

  • himalayan_pride 94w

    आशिक़ी में 'मीर' जैसे ख़्वाब मत देखा करो
    बावले हो जाओगे महताब मत देखा करो

    Don't dream more in madness of love
    Orchids of illusions will make you retard

  • himalayan_pride 94w

    Dedicated to all the crying love_birds 😂😂😂
    World is facing - corona
    They are facing - pyarona 😂

    @the_pikachu
    @love_whispererr

    Read More

    ham ishq ke māroñ kā itnā hī fasānā hai
    rone ko nahīñ koī hañsne ko zamānā hai

    हम इश्क़ के मारों का बस इतना ही फ़साना है
    रोने को नहीं कोई, हँसने को ज़माना है ।