harshalb

www.instagram.com//mukkamal_mehroomi

Grid View
List View
Reposts
  • harshalb 2d

    I had a word with the
    Impossible,
    Sadist,
    pain in the ass
    Aunt Flo.
    And we agreed on one thing ��
    She promised,
    She will not make us bleed on important days,
    She agreed.
    And then
    As she was just leaving,
    She said,
    See you next month,
    And I was just about to tell her
    when it will be convenient for me,
    When she hushed me and said..
    See you next month,
    Unless you giving us a baby,
    It better be pregnant..
    I mean important
    Unless why will
    I stay away?
    Let me be here for one more day!
    And just like that,
    She reminded me of all the agreements,
    We had to,
    We have to make!

    Read More

    Aunt Flo agreed
    ©harshalb

  • harshalb 2w

    Its all about the light, the angles
    And a lil but about my eyes.
    .
    Wrinkles will be a part of it all one day,
    But its about how that spark never fades away.
    .
    Its all about how I talk,
    The way I treat you,
    That makes your heart,
    Feel warm,
    And when I am angry,
    It sinks,
    Because you know,
    What you mean to me,
    And if I walk away,
    It will hurt.
    If I choose to walk away,
    It must have hurt.
    So my words remain with you,
    And my memories too,
    Its all about my heart,
    Its one of a kind,
    It will keep you first,
    In friendship and love,
    It will sink,
    But try to keep that bond afloat,
    And then
    One day it will let go,
    In tears that endlessly flow,
    Never to be back,
    My voice will be mine then,
    And the magic in it too.
    I am sadly one of a kind,
    Because I am kind.
    ©harshalb

  • harshalb 2w

    मेरे ज़ेहन पर अमीरी नहीं छा रही
    यु ही नहीं कोई धक्के खाता
    हाँ सिखने की खुमारी में हम जीते है
    ज़ेहन बस अपना इसलिए होता जा रहा है
    ©harshalb

  • harshalb 3w

    हाँ हाँ
    लड़कियों के मुँह से गाली अच्छी नहीं लगती
    अरे पर क्यों?
    सिर्फ उस चीज़ के लिए मुँह खोले जो तुम्हे सुख देती है?
    अरे पर क्यों?
    हाँ हाँ हमारा मुँह खुल जाए
    तो गालिया बदल भी तो जाएंगी
    आखिर जिन्हे देनी है
    उनके लायक भी तो बने
    वो शायद उन गालियों से कही निचे गिरे है
    पर फिर भी
    आस पास तो लगे
    खेर तुम्हारी सोच
    हमें क्या
    धरती माँ पर
    तुम्हारे बोझ जैसे वजूद की
    बस खबर है मुझे
    और वो उठ जाए जिस दिन
    मुझे पता भी ना लगे शायद
    आखिर
    माँ भी खुश ही होगी
    उसका बोझ कम ही होगा
    तुम्हारी सोच का किस्सा
    फिर भी कहा खत्म होगा
    खेर मुझे क्या
    सोचना तुम
    जो तुमने सीखा है
    पर रोकना मत
    क्योकि रुकना मैंने नहीं सीखा है
    तुम तो अपनी सोच मे ही इतने रुके अटके पड़े हो
    तुम क्या रोकोगे
    बकते रहो
    गाली तो दूर
    तुम्हारे पर थूका जाए
    उसके लायक भी नहीं
    मेरे लफ्ज़ क्या नापते हो
    तुम ना समझ पाओ उसके भी काबिल नहीं

    Read More

    तुम ज़ुबान समझ पाओ
    इस काबिल नहीं
    तुम्हे मुँह कोई ख़ाक लगाएगा?
    ©harshalb

  • harshalb 3w

    I never felt so safe,
    I danced with you,
    I danced my fear away,
    You held me tight,
    So tight that it hurt,
    But my waist was being held,
    Nothing was forced,
    I told you to be gentle,
    You went red
    And told me you cant control
    And then
    You stopped.
    You kissed me,
    And pulled me closer,
    Closed your eyes,
    And suddenly I could see everything so clear,
    Your thoughts,
    Your feelings,
    I could see it all,
    And then you opened your eyes,
    Asked me if I am okay,
    Made sure that the blanket was still on,
    But you were the one keeping me warm,
    For the first time I did not cry,
    But it was only in your arms,
    I knew nothing could touch me,
    Not even my mind,
    Hold me,
    Help me forget,
    With you,
    The world was mine,
    In your arms,
    The world is mine,
    And I am yours.
    You stopped,
    And my world stopped.

    Read More

    You have my heart.
    ©harshalb

  • harshalb 3w

    कभी कभी
    दिल भर आता है
    इतना खाली महसूस होता है
    और सब इतना भारी हो जाता है
    कभी कभी दिल भर आता है
    और इस दुनिया से
    दिल भर सा जाता है
    टूटे दिल के टुकड़े
    फिर चुभते है
    दिल भारी
    भर आता है
    ©harshalb

  • harshalb 3w

    बचपन बीता यहाँ
    पहले दोस्त
    ज़िन्दगी भर की दोस्ती
    सब यहाँ
    इतनी यादें भी है
    दादा दादी का प्यार
    गलियों मै ठहाके हज़ार
    पर नहीं
    प्यार नहीं हुआ मुझे इस शहर से
    शायद दिल जहा पहली धड़कन से मिला था
    उस पहली धड़कन ने जब माँ कहा था
    दिल उसी शहर में रह गया
    और फिर
    सालो बाद उससे मिलने पर पता चला
    की यहाँ यादें है
    पर वहां जीने की
    यादें बनाने की ख्वाइश है
    यहाँ की जलेबी
    यहाँ के अस्पताल
    मेरा दूसरा घर शायद
    बचपन तो वहां भी बीता है
    पर यहाँ की हवा
    मेरी आँखों की जलन नहीं मिटा पाती
    यहाँ की हवा मेरा दर्द कम नहीं कर पाती
    दुखता तो वहां भी है
    पर यहाँ दर्द और उसकी यादें
    ज़िन्दगी मे मौत से मिलती है
    और वहां
    दिल अपनी पहली धड़कन सा
    ज़िन्दगी से भरा
    खुश
    रोज़
    मुझे ज़िन्दा होने का एहसास दिलाता है
    यहाँ तो बस जीने में लगी हूँ मैं
    वहां मुझे खुदसे रोज़ प्यार हो जाता है
    बस अब दिल के पास जाना है
    धड़कनो का क्या भरोसा
    और जो सांसें यहाँ अटकी है
    वो मेरे साथ चल देंगी
    इसलिए बस अब दिल के पास जाना है

    Read More

    प्यार नहीं हुआ मुझे इस शहर से
    ©harshalb

  • harshalb 3w

    दिल टुकड़ो मे था
    सूरज ढलने को था
    दिल के टुकड़े
    तपती धूप की तरह
    शाम की ठंडी हवा मे भी चुभ के घायल कर रहे थे
    दिल के टुकड़ो को संभाले
    चेहरे पर हसीं लिए हम सम्भले नज़र आते है
    उसे कोई जोड़ना चाहे तो
    खुद की कोशिशो की हार देख कर
    उसका दिल संभाले
    खुद के कदम पीछे ले जाते है
    कही ये टूटे टुकड़े
    किसी और दिल को तोड़ ना दे..
    फिर एक दिन
    एक धड़का सा हुआ
    टुकड़ो मे भी जान होती है
    एहसास सा हुआ
    मैंने दिल तो नहीं दिया
    वो देने लायक अभी हुआ नहीं था
    पर उसे वही छोड़ दिया
    शायद
    वो उसकी अमानत सा लगा
    शायद उसी के पास वो पूरा सा लगा
    एक अरसे बाद वो टुकड़ो से
    मुझे अपने दिल सा लगा
    तो मैंने उसी के पास छोड़ दिया
    और एक टुकड़ा लिए
    वापस आ गई
    बस इतना की सांस चलती रहे
    और उसने वहां मेरे दिल को
    अपना बना कर संभाले रखा
    शायद धड़कने साथ ही चलती है
    इसलिए साथ ना होके भी
    दोनों एक दूसरे के दिल संभाले बैठे है
    शायद धड़कने साथ ही रुक जाए
    इसलिए साथ ना होके भी
    दोनों एक आस संभाले बैठे है ❤️


    @miraquill #writersnetwork @writersnetwork

    Read More

    ©harshalb

  • harshalb 8w

    What is my own child?
    Same blood
    And matching genes,
    Which stand nowhere close to the magic of how you raise your kids,
    Biological or Not.
    ©harshalb

  • harshalb 10w

    As a kid we are told so many things.
    Elders tell you what they think is right and what they think is wrong.
    As a kid we live as they want us too because we don't know anything else.
    But as you grow and see the world around you, you either understand that they are human too.
    They make mistakes.
    They can be wrong.
    They need you to tell them when they are wrong.
    And if you just agree with everything they say, you respect a number that age is, then maybe you grew up but you will never grow.
    I am so grateful to my parents and grandparents for they knew and they know I will always be my own person and they did not push me towards lying.
    When they said no, it was powerful because it was never just no.
    It was a discussion.
    I was told why no.
    And eventually I understood, a 'no' or a 'you have to' will never just drop on my head.
    And these people earned, literally earned my respect because they NEVER once expected respect because of the number that age is.
    We discuss.
    We share.
    Our opinions matter.
    And so I don't have to lie.
    Or hide.
    Or nod my head when I want to say no.
    They are my light.
    I am so lucky, I see what normal should be everyday
    When many just become liars,
    And lie to self saying,
    This is the only way to my freedom.

    Read More

    Lights.
    ©harshalb