Grid View
List View
Reposts
  • gaurav03 41w

    मै तो एक मिट्टी का खिलौना हूं,
    अब तक तूने अपना मन बहलाया।।

    अब कोई और अपना मन बहला लेगा।।।।

    Read More

    मोहब्बत तुझसे थी तुझसे ही रहेगी।।।

    तू कुबूल कर या ना कर।।।।
    ©gaurav03

  • gaurav03 41w

    डेटा ऑन था ऑर मै सो गई थी/सो गया था।।।

    जिस दिन ये जवाब मिल जाए समझ लेना तुम्हारा साथी गद्दार हो चुका है।।।।
    ©gaurav03

  • gaurav03 41w

    जिस हुस्न पर गुमान करती हो मेरी जान।।।वो भी एक दिन ढल जाएगा।।।

    अब तो ताजमहल भी सफेद नहीं रहा।।।
    ©gaurav03

  • gaurav03 41w

    अगर सहन करने की हिम्मत रखता हूं।।।

    तो तबाह करने का हौसला भी रखता हूं।।।
    ©gaurav03

  • gaurav03 41w

    तेरे साथ बैठ मुझे कुछ गुफ्तगू करनी है।।।

    एक बार नहीं मुझे हर पल तुझसे मोहब्बत करनी है।।।
    ©gaurav03

  • gaurav03 41w

    जिसे मोका मिला वो पीता चला गया।।।

    शायद बहुत मिठास थी मेरे लहू में।।।
    ©gaurav03

  • gaurav03 41w

    महक गुलाब की आयेगी आपके हाथो में।।।

    किसी के रास्ते के कांटे हटाकर तो देखो।।।
    ©gaurav03

  • gaurav03 41w

    आंखो में उसे बसाया।।।

    जो इं हाथो की लकीरों को लिखी ही नहीं।।।
    ©gaurav03

  • gaurav03 41w

    मै दर्द में नहीं।।।

    दर्द मुझमें जीता है।।।
    ©gaurav03

  • gaurav03 41w

    दूर तलक जाना था, तुम्हे, मुझे, ऑर मोहब्बत को।।।

    पर ना जाने क्यू, तुम ऑर मोहब्बत बहुत पीछे ही छूट गए।।।
    ©gaurav03