Grid View
List View
  • future_novelist 102w

    तू जो कह दे

    तू जो कह दे एक बार, मैं जान वार दूँ ।
    आंखों में कभी आंसू न आये, तुझे इतना प्यार दूँ ।।
    ©future_novelist

  • future_novelist 126w

    तेरी आँखे

    तेरे आँखो के इस दरिया का नहीं कोई किनारा है!!

    कही जाने की जरुरत नहीं इनमे दिखता जग सारा है!!
    ©future_novelist

  • future_novelist 138w

    Pahchaan

    Mai rh hi kaha gaya hu ab ek alag pahchan

    Tumne chura liya hai mujhe mujhse hi
    ©future_novelist

  • future_novelist 139w

    सात जन्म

    मैं झूठ नही कहता, सात जनम साथ निभाउंगा ।

    तुझे इतना प्यार करता हूँ पगली, एक जनम में कैसे दिखा पाऊंगा।
    ©future_novelist

  • future_novelist 139w

    Girlfriend

    You will never find someone who hasn't proposed your girlfriend.
    ©future_novelist

  • future_novelist 140w

    भरोसा प्यार का

    याद आया है आज हमे वो पुराना ज़माना !!
    वो मेरे बिन कहे तेरा सब समझ जाना !!

    आज अश्क़ बह रहे है बेतहाशा इन आँखो से !!
    याद आ गया कभी वो तेरा मुझको मनाना!!

    इन्तेज़ार कर थोड़ा गर्व होगा तुझे भी मुझपर !!
    बस बाकियो कि तरह तु छोड़ कर न जाना!!

    शायद आज हमारे बीच वो बात नहीं रही!!
    लेकिन आता है मुझे भी गिरकर सम्भल जाना!!

    कभी तो तुम समझ ही जाओगे हम ही सही थे!!
    बस मेरा काम है तब तक इन्तेज़ार करते जाना!!
    ©future_novelist

  • future_novelist 140w

    ज़ख्म

    मैं चाह कर भी तुझसे नफरत नहीं कर पाता हूँ !!
    शायद बेवफा कहलाने से मैं रहता कतराता हूँ !!
    खुद में ही रो लेता हूँ, खुद में छुपा लेता हूँ !!
    ज़ख्म नहीँ अपने अब किसी को दिखाता हूँ !!
    ©future_novelist

  • future_novelist 140w

    Crush

    Friends, best friends, bff all are temporary,
    Crush is permanent.
    ©future_novelist

  • future_novelist 140w

    दीवाना

    तेरे शमा जैसे चेहरे का मैं आज भी परवाना हूँ !
    तेरी लहराती ज़ुल्फ़ों का मैं आज भी दीवाना हूँ !!
    माना तेरी आँखों में शराब से ज्यादा नशा है !!
    उन आँखों के नशे का शराबी मैं पुराना हूँ !!
    ©future_novelist

  • future_novelist 140w

    आँखे

    क्यों ये ज़ुल्म बार बार करती हो !!
    क्यों किसी से आंखे चार करती हो !!
    कहता हूं अपने चेहरे हो ढक कर निकल करो !!
    क्यों इन आँखो से कत्ल हज़ार करती हो !!
    ©future_novelist