#tjjt

58 posts
  • tejasmita_tjjt 6w

    .

    रोने के बाद मन कितना हल्का हो जाता है
    जैसे कोई रुका हुआ समंदर बह जाता है
    कुछ सपने और हम उस दरिया में बह जाते हैं
    औरों के लिए महज वो खारा पानी हो जाता है
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 7w



    मन के दीपक से मांगती हूं
    दीप की लौ सी जलना चाहती हूं
    ये जगमग रोशनी से सब हो रोशन
    मैं अंधियारे को छलना चाहती हूं
    चमकते चांदी जैसे रुपहले तारे
    मैं उजले आसमां सा उजाला चाहती हूं
    बिखर जाते हैं क्यूं माला के मोती
    मैं लड़ियों में पिरोना चाहती हूं
    भलाई और बुराई में फर्क कितना
    नजरिया खुद बदलना चाहती हूं
    खफा होते हैं क्यूं आपस में लोग
    मैं सबको साथ रखना चाहती हूं
    जो जलकर दूसरों को दे उजाला
    मैं खुद को आजमाना चाहती हूं
    जिंदगी कर दे जो औरों की रोशन
    मैं "ज्योति" की ज्वाला सी
    इस तरह जलना चाहती हूं
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 8w

    .

    जिनसे बात किए बिना एक लम्हा न गुजरता था
    उनसे बात हुए अब अरसा बीत जाता है
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 8w

    "वो"

    अक्सर ख्यालों में आकर
    ये गुनगुनाता है वो
    तन्हा नहीं हूं मैं
    ये बताता है वो
    दूरियां हैं हमारे दरमियां
    पर अजीब सा रिश्ता है
    दर्द में
    दुआ में
    खुशी में
    बस वही है
    वही है थम जाए नब्ज़ तो
    दिल को धड़काता है वो
    अपनी बचकानी बदमाशियों से
    इश्क सा जगाता है वो
    दिल के अल्फाजों को
    एक तराना बनाता है वो
    दीदार-ए-जन्नत हुआ करते हैं
    जब मुस्कुराता है वो
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 8w

    तोहफा

    तोहफा क्या दूं तुम्हें
    तुम्हीं तोहफा बन जीवन में आए
    खुशियों की सौगात बन तुम ज़िन्दगी में आए
    बेरंग सी दुनिया में मेरी रंगों का उपहार लाए
    लबों पे हंसी दिल में खुशी तुम्हीं तो लाए
    क्या मांगू उस रब से अब मैं
    तुम मिले सब मिल गया अब तो बस
    कुछ इस तरह ये जिन्दगी गुजर जाए
    तेरी आंखों में घर, बाहों का सफर मिल जाए
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 8w

    .

    कभी कभी हम कहते हैं
    "मैं ठीक हूं"
    लेकिन
    असल में
    बहुत सख्त जरूरत होती है उस शख्स की
    जो पास बैठके हाथ थाम के पूछे
    अब बताओ मुझे.....
    क्या हुआ है
    "तुम ठीक नहीं हो".......
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 8w

    वो जब आता है मकां से घर बन जाता है
    मेरी खुशियों का सिलसिला हो जाता है
    मगर जब वो जाता है तो
    घर की रौनक संग ले जाता है
    मुझे मुझमें छोड़ वो मेरा सब ले जाता है
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 8w

    तुमसे प्यार और तुम
    यही हैं मेरी कमजोरी
    अब तुम ही बताओ
    तुम्हें छोड़ूं या
    तुमसे प्यार करना
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 8w

    #love #tjjt

    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारे बारे में सोचती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारी परवाह करती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि हर पल तुम्हें ख्यालों में रखती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुमसे प्रेम की चाहत रखती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुमसे तुम्हारे बारे में जानना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुमपे आकर ठहर जाना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारे साथ जीने की ख्वाहिश रखती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारे साथ दिन की शुरुआत चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हें चाहकर भी समझ नहीं सकती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारे लिए सब कुछ करना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारी तकलीफों को अपना बनाना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुमसे अपनी बातें शेयर करना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हें अपनी पहली खुशी बताना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारा हाथ पकड़ के उड़ना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारे साथ अपने सपने पूरा करना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुमसे छोटी छोटी मिन्नतें करती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारे अपनों को मैं अपना मानती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारे स्वभाव को जरा सा बदलना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुम्हारी कमियों को दूर करना चाहती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुमसे बेपनाह मोहब्बत करती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि तुमसे तुम्हें ही खुदा से रोज मांगती हूं
    हां मैं बहुत गलत हूं.............

    Read More

    गलत

    हां मैं गलत हूं क्यूंकि......
    तुमसे बेपनाह मोहब्बत करती हूं
    हां मैं गलत हूं क्यूंकि......
    तुमसे तुम्हें ही खुदा से रोज मांगती हूं
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 8w

    रूठ जाने का हक नहीं मुझे
    मेरे हिस्से में मनाने वाला नहीं कोई
    उम्मीद करने का अधिकार नहीं मुझे
    उम्मीद पूरी होने का इंतजार नहीं कोई
    मैं बिखर गई हूं मुझे बिखरा ही रहने दो
    समेटने की अब जद्दोजहद नहीं कोई
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 9w

    ✍️

    वो महज कुछ पन्नों की कोई किताब नहीं
    महज स्याही से उकेरे गए कोई ख्वाब नहीं
    उन पन्नों में हैं उसके अनकहे एहसास
    कलम से लिखे हैं उसने अपने जज़्बात
    भावनाएं नहीं,लिखी है अपनी जिंदगानी
    दिल का भी दिल रखा है उसने निकालके
    अब रखना है तुम्हें हमेशा इसे संभालके
    पढ़कर इसे केवल शब्दों में,तोहीन ना करना
    तुम्हारी मेरी गुपचुप बातों की हंसी ना करना
    मोहब्ब्त की उसमें इक हसीं दास्तां लिखी है
    अनभिज्ञ जिससे,तेरी मेरी प्रेम कहानी लिखी है
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 10w

    ✍️

    क्या लिखूं तुझ पर कुछ लफ्ज़ नहीं हैं
    दूरी का एहसास लिखूं
    या लिखूं बेइंतहा मोहब्बत
    एक हसीं ख्याल लिखूं
    या लिखूं तुझे अपनी जान
    तेरा खूबसूरत ख्वाब लिखूं
    या लिखूं मोहब्बत का इजहार
    तूने ही लिखा है मुझे अपने प्यार से
    अब तू ही बता "प्रिय"
    मैं तुझे किस तरह लिखूं
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 10w

    #love #tjjt

    सिंगार जब करती हूं तुम्हारे लिए
    बस एक बार नजर भर कर देख लिया करो
    दिल मेरा भी करता है तुमसे कुछ सुनने को
    घर जब आते हो हाथों से अपने
    मांग मेरी सिंदूर सजा दिया करो

    ज्यादा ना सही बस थोड़ा ही
    कभी खुद भी प्यार जता दिया करो
    ना समझ पाऊं पकड़ के पास बिठाया करो
    मन ना हो मेरा फिर भी गले लगा लिया करो

    तुम्हारी ही तो हूं कहां जाऊंगी रूठ कर
    चुपके से कभी खुद भी मना लिया करो

    बात चाहे जैसी भी हो एक बार कहा करो
    लबों से ना सही आंखों से इशारा किया करो
    कमियां खूब हैं मुझमें तो खूबियां भी हजार हैं
    बस ढूंढने की कोशिश तुम किया करो

    क्यों कहते हो तुम्हारे बस की बात नहीं
    इतना कहा करो तुम कर सकती हो
    तुम्हारे लिए खुदा से भी लड़ जाऊंगी
    बस अपना भरोसा और विश्वास जताया करो

    Read More

    ❤️

    तुम्हारी ही तो हूं कहां जाऊंगी रूठकर
    चुपके से कभी खुद भी मना लिया करो
    घर जब आते हो हाथों से अपने
    मांग मेरी सिंदूर सजा दिया करो
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 11w

    हमसफर

    खुशी से जब झूम उठूं मैं तो माथा चूम लेना
    गम के लम्हों में हाथ पकड़ संग चलना
    आंसू कभी गर आए तो कंधे पे सर रख लेना
    गलती जब हो जाए पास बैठ समझा देना
    यूं तो मैं नादान नहीं पर कभी दिल करे
    बचपना करने का तो एक बार बस हंस देना
    मायूस कभी हो जाऊं तो सीने से लगा लेना
    इस तरह तुम मेरे सच्चे हमसफर बन जाना
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 11w

    मेरा दिल धड़काने के लिए
    इक तेरे नाम का हर्फ ही काफी है
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 11w

    एहसास

    एक तुम और तुम्हारा एहसास
    दोनों लगते हैं मुझे बेहद खास
    तुम इक पल के लिए हो जाते जुदा
    तुम्हारा एहसास सदा रहता मेरे साथ
    ख्वाबों में जब तुम देते हो दस्तक
    रूह पर मेरी करते हो तेरे दस्तखत
    जिस्म नहीं छू लेते हो अंतर्मन
    कसम से उस एहसास को
    किन लफ्जों में बयां करूं
    उसके लिए शब्द नहीं मेरे पास
    एक तुम और तुम्हारा एहसास
    दोनों लगते हैं मुझे बेहद खास
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 12w

    काश.....

    काश कभी तुम भी मेरा हाथ थामो
    और कहो चलो कहीं दूर चलते हैं
    जहां सिर्फ तुम और मैं ही हो
    काश कभी तुम भी मुझे
    कोई love song dedicate करो
    जिसे सुनते हुए इक दूजे में खो जाए
    काश कभी तुम भी मेरी पसंद की
    आइसक्रीम या चॉकलेट खाओ जिससे
    हमारे जीवन में मिठास घुल जाए
    काश ऐसा कोई पल आए
    जब तुम मुझे सीने से लगा के कहो
    "मुझे सिर्फ तुमसे प्यार है सिर्फ तुम्हीं से है"
    और हमारा जहां एक हो जाए
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 12w

    #love #tjjt #mirakeeworld #hindiwriters

    प्रेम......
    प्रेम मुक्त होता है, स्वतंत्र होता है उस पर किसी का अधिकार नहीं होता है और ना ही वह किसी का अधिकार पाना चाहता है। वह स्वतंत्र होकर रहना चाहता है,किसी प्रकार का कोई दबाव नहीं रखना चाहता। धन, ऐश्वर्य, सौंदर्य इनका प्रेम पर कोई वश नहीं चलता। प्रेम तो सिर्फ एक एहसास है, जो प्रेमी एक दूसरे के लिए महसूस करते हैं, इस एहसास में जीते हैं और इससे कभी अलग नहीं होना चाहते।
    प्रेम एक व्यक्ति पर केंद्रित होता है और उसके प्रति पूर्ण समर्पण में अपना वजूद रखता है। प्रेम में यह अपेक्षा होती है कि उस प्रेम आराध्य के प्रति केवल वही समर्पित हो,दूसरा कोई नहीं। किंतु वह समर्पण इतना गहरा हो, घना हो, दो प्रेमियों के बीच एक ऐसा प्रेम प्रवाह हो जो अतल सागर से भी गहरा हो। उस बहाव को न कोई छुए और न ही उसमें बाधा डाले। वहां कोई दूसरा भी उपस्थित न हो।

    Read More

    ❤️प्रेम❤️
    Part-I


    प्रेम एक अनंत भाव
    प्रेम जिसे हो जाए उसको अदभुद एहसास
    प्रेम एक अविरल धारा
    प्रेम एक प्राचीन नूतन विचार धारा
    प्रेम जिसने सृष्टि को रचा
    प्रेम जिसके बिना जग अधूरा
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 14w

    उसने कहा
    खोई खोई सी रहने लगी हो आजकल
    मैंने कहा
    है ही क्या मेरे पास तुम्हारे सिवाय
    ©tejasmita_tjjt

  • tejasmita_tjjt 56w

    शिकायतें तो बहुत थी तुमसे मगर
    तुमने समझा ही नहीं मुझे कभी
    ये सोचकर खामोश हो गई मैं
    इक तरफ सोचती कह दूं तुमसे मगर
    ख्याल आया तुम्हें चोट पहुंचेगी
    करीब होते तो क्या पता गिला ही ना होता
    इक दूजे की आंखे बयां करती हाल-ए-दिल
    अब तुम है जानो बातें तुम्हारी
    हकीक़त है या फ़साना या फिर
    बात न करने का तुम ढूंढ़ते बहाना
    इंतजार करते करते आंखे थक गई मगर
    जरूरी नहीं समझते बताना अपनी खबर
    अब इस इंतजार में जीना सीख गई मैं
    महसूस तो होती है कमी तुम्हारी मगर
    तुम्हारे अधूरेपन से मैं अक्सर
    लिपट सी जाया करती हूं
    कब समझोगे तुम मुझे
    क्या समझ पाओगे मुझे
    मेरे जज़्बातों को मेरे एहसासों को
    यही सोचते सोचते मैं अक्सर
    तुम्हारी छोड़ी हुई सिलवटों में
    सिमट सी जाया करती हूं
    ©tejasmita