#shmily

11 posts
  • eternal_touch 8w

    'कल' के वादों में जाने कितने आज निकल गये,
    उनकी बेपरवाही देखकर भी लबों पे हसी है क्योंकि बेरुखी और दर्द तो दिल में राज़ बनकर ही रह गए|
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 11w

    Gleams of sunshine can give you hope, a sight of star can make you dream, and a radiant smile of yours can give courage to someone.
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 16w

    कुछ तो बाकी है...

    बैठो कभी करीब दो पल, कुछ चाहतों को बयां करना बाकी है|
    बिखरी हुई जिंदगी का सिमटना अभी बाकी है|
    भुली-बिसरी यादों का ताज़ा होना अभी बाकी है|
    अभी तो बीते हुए लम्हों में से कुछ लम्हें फिर से जीना बाकी है|
    जितनी ख़्वाहिशें अधुरी है, उन्हें एक ख्वाब में पिरोना बाकी है|
    तेरे चेहरे की मासुम सी हसी की वजह खुद को बनाना बाकी है|
    मेरी खुशियों से लेकर दर्द भरी जिंदगी में अभी तेरी बेपरवाहियों का शामिल होना बाकी है|
    तो आअो बैठो कभी करीब दो पल, कुछ चाहतों का इज़हार करना अभी बाकी है|
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 31w

    "जैसे ख़्वाहिशों के परिंदों को सुकुन खुले आकाश की चाहत देती है| वैसे ही आप हमारी जिंदगी में वो इनायत हैं, जिसकी हर मुस्कुराहट दिल को राहत देती है|"
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 113w

    #सिर्फ तुम

    रात में सोने से पहले की सोच तुम, सोने के बाद का ख्वाब तुम अौर सुबह उठने के बाद का सबसे पहला ख़याल भी तुम|
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 118w

    तुझपे भरोसा करना मेरी बेपरवाही है, लापरवाही नहीं|
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 119w

    समंदर सी गहराई है तेरी आँखो में, शोर है तो सुकून भी!
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 124w

    मुख्‍तसर सी मुलाकात ही काफी थी, आपसे मुतासिर होने के लिए ।
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 125w

    मोहब्बत भी उन्हें हमारी इसी आदतों से हुई थी, जो आज उन्हें हमारी खामियाँ लगती हैं ।
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 127w

    खुदा की इनायत ऐसी हुई, इबादत में जो था अब सुबह के निकलने से लेकर शाम के ढलने तक दीदार-ए-हुस्न भी उसी का है ।
    ©eternal_touch

  • eternal_touch 127w

    He hated rain so badly until he experienced it with her in his arms.
    ©eternal_touch