#sarkar

37 posts
  • vy_thoughts 2w

    हां ये सच है
    की मेरे शब्द उनके प्रति मवाली से थे,

    पर
    साहब कुछ भी कहो
    वो सब लायक गाली के थे,

    मैंने सोचा था
    की शायद सबका व्यवहार पद की गरिमा के अनुसार होगा,

    लेकिन
    साले सब चट्टे एक ही थाली के थे,

    सब के सब साले जाली थे,
    सब के सब साले जाली थे,

    बस पेट से ही भरे थे
    अंदर दिल से साले सब खाली थे

    वो ही अब अच्छे पद पर होकर खुद को खुदा
    समझते है

    जो कभी कीड़े थे नाली के....!

    BY - V¥ "R∆M∆"

    #reality #sach #sarkar #sarkarinaukri #sarkarism #insaniyat #insaan #mythoughts



    Read my thoughts on YourQuote app at https://www.yourquote.in/vy-prut/quotes/haan-ye-sc-hai-kii-mere-shbd-unke-prti-mvaalii-se-pr-saahb-r-ch82um

    Read More

    हां ये सच है
    की मेरे शब्द उनके प्रति मवाली से थे,

    पर
    साहब कुछ भी कहो
    वो सब लायक गाली के थे,

    मैंने सोचा था
    की शायद सबका व्यवहार पद की गरिमा के अनुसार होगा,

    लेकिन
    साले सब चट्टे एक ही थाली के थे,

    सब के सब साले जाली थे,
    सब के सब साले जाली थे,

    बस पेट से ही भरे थे
    अंदर दिल से साले सब खाली थे

    वो ही अब अच्छे पद पर होकर खुद को खुदा
    समझते है

    जो कभी कीड़े थे नाली के....!

    BY - V¥ "R∆M∆"
    ©vy_thoughts

  • _rakhi 34w

    सरकारी नौकरी में किसी बड़ी पद में रहो
    तो कोरोना में भी बिना office जाए घर बैठे
    पैसा मिलता है। या आप general category में नही आने चाहिए तो मिलता है, पर उन बड़े पद के सरकारी
    officer, उनके नीचे काम करने वाले
    सरकारी कर्मचारीयो को office बुलाना
    must है!
    Moral of the story:-
    जब तुम घर पे बैठ के
    गांड घिस रहे थे न तब सरकरीकर्मचारी दफ्तर
    में जा के काम कर रहे थे।
    ©_rakhi

  • baalika_alisha 49w

    श्री शिव जो आम होकर भी ख़ास हैं
    शिव साथ होकर भी दूर हैं
    शिव प्रिय हैं सखा हैं फिर भी
    एकाकी
    शिव सब के संग फिर भी उमा के
    शिव सता हैं और अराजकता भी
    शिव हृदय में हज़ारों वीणाओं का नाद हैं
    शिव मस्त मलँग फिर भी चिंताशील (concerned)
    शिव को कहाँ कोई डोरी रोक पाइ है
    फिर भी वो स्वयं प्रेम पाश हैं
    शिव शब्दों में नहीं समाते फिर भी उनकी शोभा
    शिव राम के आधार हैं
    शिव स्त्रोत हैं शिव ह्रदय का एकमात्र सच
    शिव अंतिम लक्ष्य शिव ही हर तप
    शिव का प्रतिबिंब ये सृष्टि सारी
    शिव मनुष्य नहीं हैं मनुष्य में हैं
    शिव ही स्थिति वो ही परिस्थिति
    शिव हर ख़ोज शिव ही विश्राम...
    ॐ श्री शिव शिव शिव..
    ©baalika_alisha

  • ojash_2000 70w

    मीडिया

    देखो अब यह कैसा नया दौर आया है
    मीडिया में सिर्फ अमीरों का खबर आया है।
    डूब रहे कई प्रदेश, जा रही है जाने कितनी,
    न्यूज़ खोला तो देखा फिर से कोई अमिताभ छाया है।

    पीटकर मार दिए गए गरीब, तुम्हें अब भी ना शर्म आया है,
    मानवता खोई है तुम्हारी, यह बताओ कितने पैसे खाया है?

    हर मिनट में तुम एक विज्ञापन चलाते हो, न्यूज़ के नाम पर बस झूठ ही बताते हो।
    कोई मर जाए अभिनेता तो दिन रात दिखाते हो,
    सैनिकों के शहीद होने पर चार गधे बुला खूब पैसे कमाते हो।

    बंद करो यह हरकतें, देखो अब कुछ नुमाइंदों ने अपनी आवाज उठाई है,
    न्यूज़ खोला तो देखा फिर से एक अमीर की खबर आई है।
    ©ojash_2000

  • pahaditraveler 76w

    इंसान नही बच रहे।
    सरकार घर और राशन बांटे जा रही है।
    ©pahaditraveler

  • karigar 79w

    Garibi

    ©suchitra_bharti
    Samaj ko ya sarkar ko
    ya apni es lachari ko
    es berojgari ko
    Ya apni garib jati ko
    Ya afat ban ayi es rog ko
    Ya thapa lagane ki adat ko
    Anpadh hu n
    Samjh nhi hai
    Ye baduva lagau to kise
    Kal to kat liya hane
    Aaj bhukh hai tej lagi
    N kam kahi par milta hai
    Kadam bahar rakhne par rok lagi
    Kal to kat liya hane
    Aaj bhukh bohot hai tej lagi
    Kahte hai vo log
    Dhoye hath 20sec tak
    Vo bhi din me 20 bar
    Ab kon unhe bataye
    Khane ko bhi n jute ye sabun kha se laye
    Suna hai thik hojate log jinko yah rog lagi
    Bas rakhna khane ka dhayan
    Ab kha se lau sabji hari
    jab kal khaya tha nun bhat
    Bas kat jaye aaj ka din yahi soch rat biti

  • vswrites97 89w

    मै भी "मजदूर"

    क्या तुम्हे दिखता है वो दर्द जो हमारी आंखो से छलकता है?
    या फिर तुम भी बेदर्द हो इन सरकारों की तरह?

    मजदूर हूं तभी तो मजबूर हूं!
    ©vswrites97

  • sagarb 121w

    Politics

    देश विदेश की यात्रा के बाद भी
    देश का विकास गड्ढे में हैं,
    हम जिन्हें बदलाव समझ रहें थे
    वो तो बस अपना बदला लें रहें हैं,
    आम आदमीं को तो आज भी
    दो वक्त की रोटी और
    एक मकान की आस हैं।

    ©sagarb

  • rubber 137w

    Tu hi Sarkar

    Pehla pyaar
    Pehli baar
    Baate hazar
    Raate gulzar
    Tu hi sitar
    Tu hi guitar
    Gaata hu gaane
    Tere hi baar baar
    Tu hai Naya chaska
    Me hu purana vichar
    Na modi na rahul
    Apni to tu hi Sarkar

    ©rubber

  • vinija 138w

    #rajneeti#sarkar#mirakee

    Ek Mukhyamantri aisa bhi...

    Read More

    आज मैंने भी लोगों को सत्ता के मोह में घुसते देखा है
    आज मैंने भी एक नारे पर लोगों को मरते और मारते देखा है

    ©vinija

  • shajji_ali 139w

    19 Ramzan

    "By the loard of kaaba
                 I have Succeeded"

    Imam Ali a.s

  • saurav1707 142w

    Pura jarur padhe ek Baar

    And please visit my YouTube channel where I uploaded my poetry , hope you'll love that link is given in bio ������

    #mirakee,#writersworld,#writersnetwork,#desh ,
    #badlaw,#hindilekhan,#pancdoot,#sarkar
    @mirakee,@writersnetwork,@mirakeeworld,@milishamishra_official,@an_indian_girl,@ryan_rodrigues,@annies_enigma

    Read More

    असल बदलाव

    बदलाव
    सरकार को नहीं खुद को बदलने की हे जरूरत,
    क्युकी सरकार नहीं आम नागरिक होते है देश की सूरत ,
    सरकार का क्या वो तो हर पांच साल मे हे बदल जात,
    देश को सच में आगे ले जाना हे तो बदलो अपने खलायत ,
    खत्म कर उंच-नीच का भेद-भाव और भूलकर एक दूसरे की जात ,
    करना होगा हम सब को मिलकर देश के विकाश की बात ,
    हर नेता कलाम साहब और अटल जी जैसे नहीं होता,
    जो खुद को भूल कर केवल देश के लिए ही पागल होता,
    तू कहता हे हर सरकारी अफसर और नेता ही भ्रष्टाचार हे फेलाता,
    लेकिन अपना काम जल्दी करवाने के लिए कोन उनके पास घूस लेकर हे जाता,
    एक वोट देने मात्र से क्या देश कर जाएगा बरकत ,
    नहीं अगर देश को तरक्की पर ले जाना हे तो सुधारो अपनी हरकत ,
    बेरोज़गारी बढ़ रही है पर्याप्त नौकरी है नहीं तो भी तू सरकार को ही हे कोषता ,
    एक साल मे सरकार 4 करोड़ नये छात्रो को नौकरी कहां से दे जरा ये क्यों नहीं सोचता,
    खुद का व्यवसाय करने की हे आज हर युवा को जरूरत ,
    क्युकी सरकारी नोकरी के चक्कर में बिगड़ रही है देश की हालत ,
    बाजार में कोई किसी बहू-बेटी को छेडे तो चुप-चाप खड़े -खड़े हे देखता ,
    बाद में जब बो लड़की तड़प कर मर जाए तो फिर हाथ मे केंडल लेकर हे घूमता,
    इसलिए हर बात के लिए सरकार को गली देना करो समाप्त ,
    क्योंकी अब देश के प्रति जिम्मेदारी निभाने का आ गया है वक़्त ,
    अगर करते हो आप सभी मेरी बात से सहमत ,
    तो थोड़ा सा बदल के खुद को करते है वतन पर रहमत।

    ©saurav1707

  • _rakhi 143w

    चुनाव बनाम प्यार

    कभी वो, हमारी पार्टी में हुआ करते थे
    जो आज विरोधी पक्ष में खड़े हैं।
    ©_rakhi

  • govindsharma 151w

    अभिनन्दन का अभिनन्दन कर
    हर्ष हिन्द में छाया है ।

    पुलवामा का घात अभी तक,आतंकियों
    हमनें न भुलाया है ।।

    : गोविन्द शर्मा

  • deepakpremivirh 156w

    संताप

    कुत्ते-बिल्ली से लड़े सरकारों के बाप,
    प्रेमी दुख न पूछिए किसे कहे संताप।।
    ©deepakpremivirh

  • mr_ayaan_13 158w

    विफलताओं का अम्बार है, इसीलिए आरक्षण की बहार है
    जिन सवर्णों को आरक्षण भीख लगती थी मोदी सरकार ने उन्हें 10% देकर भिखारी बना दिया ��
    जनरल को आरक्षण मात्र 10 दिन में मिल गया जबकि ओबीसी वालों को ना जाने कितने वर्षों तक संघर्ष करना पड़ा था |
    #writernetwork #mirakee #soulwriter #hindiwrites #shabdanchal #bkfrncu #nikammi #sarkar #jumlebaazpm #chaukidar #chor @iamkajal @impooja143 @neha_netra @parimita @roothi_kalam @anuradha_saxena @skrana @himanshi_kulshreshtha @vs_three_dots_nar @shiviiiiii

    Read More

    राफेल भी गज़ब का लड़ाकू विमान है,
    देश के दुशमनों से ज़्यादा घर के गद्दारों
    में ख़लबली मचा रखा है
    ✒bkchaudhary

  • mr_ayaan_13 159w

    SC,ST और OBC का बिछड़ा हुआ भाई मिल गया
    जिनका नाम सवर्ण है
    #mirakee #writernetwork #soulwriter #hindiwrites #shabdachal #bkfrncu #bjp #girgit #nikammi #sarkar @anuradha_saxena @parimita @pure_soul_

    Read More

    पहले आरक्षण के कारण संविधान जलाया
    अब उसी संविधान के भरोसे आरक्षण ले लिए
    थूक कर चाटने वाले..

  • _solitary_priya_ 162w

    वो आए वो गए
    आना जाना तो खैर लगा रहता है
    हमें क्या लेना
    हम कल भी वही थे
    आज भी वही है ,
    बदलना तो सरकारों का लगा रहता है


    ©_solitary_priya_

  • ankit_srivastava 165w

    सरकार

    यहाँ एक रात में सरकार बदल जाती हैं ,
    तो तुम क्या चीज़ हो ।

    ©ankit_srivastava

  • alfaaz__dil__se 165w

    बात

    आज ना इश्क़ ना इश्क़ के मारों की बात होगी।
    आज झूठी खबर और झूठे अख़बारों की बात होगी।

    जो पिसते है खराब फ़सल और कर्जे की मार के बीच,
    उन लाचार खुद्दार जमींदारों की बात होगी।

    सपनें झूठे दिखाकर जो जनता को लूट लेते है,
    उन फ़रेबी झूठे नेता मक्कारों की बात होगी।

    वोट मांगने चौखट पर आ जाते है पांच साल में,
    रोज़ वादों से मुकरती सरकारों की बात होगी।

    सीना छलनी हो जाए डटे रहते है सरहद पर,
    रक्षा करने वाले धरती माँ के प्यारों की बात होगी।

    जिसके नीचे कुचली जाती है गरीब की ज़िन्दगी,
    अमीरों की महंगी कारों की बात होगी।

    जो मज़बूरी में उठाते है और आतंकवादी कहलाते है,
    मज़लूमों के उठाए हथियारों की बात होगी।

    अब तक जो कभी लिखा नही तूने "अल्फ़ाज़",
    आज उन सब मुद्दों सारों की बात होगी।।
    ©alfaaz__dil__se