#sandybanarasi

365 posts
  • go4sandeep 2d

    Romantic

    तुम्हारी यादें एक कविता है
    जो मेरे ज़हन में कुछ इस कदर समाई है
    तेरी यादों ने जब-जब करवट ली
    वो शब्द बनकर कागज पे उतर आई हैं ।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 2d

    Romantic

    जरूरी नहीं कि एक दूसरे का हो जाना ही मोहब्बत है ।
    किसी को जी भर के महसूस करना भी मोहब्बत है।
    किसी के ख्यालों में बस जाना भी मोहब्बत है ।
    किसी को बेहिसाब , बेवजह याद करना भी मोहब्बत है।
    सपनों में मिलना भी मोहब्बत है ।
    किसी की तस्वीर निहारना भी मोहब्बत है ।
    उनको याद कर रातों में जागना भी मोहब्बत है।
    दिल में उनकी तस्वीर बसा लेना भी मोहब्बत है ।
    खुद को आईने में देख शर्माना और मुस्कुराना भी मोहब्बत है ।
    उनको याद कर खो जाना ....भी मोहब्बत है ।
    उनकी दुआओं में शामिल होना भी मोहब्बत है ।
    उनका रूठना , और उनसे रूठना भी मोहब्बत है ।
    हम अगर जिंदा भी है तो वजह बस तेरी मोहब्बत है ।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 2d

    Romantic

    तुमसे जब मोहब्बत हुई , तब हमने माना
    ख़ुदा की मुझपे इनायत हुईं ।
    मुझे जो.... तुम मिल गये दिलबर
    जैसे दुआओं की मुझ पर बारिश हुई ।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 2d

    Romantic

    ऐसे रूठे क्यों हो ख़ता क्या है
    इस बेरुखी की वज़ह क्या है ?

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4d

    Romantic

    "क्या तुम से बात हो सकती है"
    दो घड़ी मुलाकात हो सकती है !!
    चाहे तो ....जान ही ले लेना ,
    पर क्या ? दीदार हो सकती है ।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4d

    Romantic

    मुझे परवाह नहीं , ज़माने की ,
    परवाह करता हूं तो बस , तेरे सदा मुस्कुराने की
    मुद्दतें बीत गई तुझसे इश्क़ करते हुए
    फिर भी डरता हूं बस तेरे ...एक रुठ जाने से ।।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4d

    Romantic

    हर घड़ी , एक ख़्याल
    बस तुझसे दूर रहने का मलाल.........

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4d

    Romantic

    हर दौर में सच्ची मोहब्बत का अंजाम यही होता है । लैला कहीं तड़पती है और मजनू कहीं रोता है ।।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4d

    Romantic

    दूर तुम से अब.............. रहा नहीं जाता है
    ख़ुदा जाने , क्यों तुम पे इतना प्यार आता है ।।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4d

    Romantic

    दिलों के जज़्बात , लबों पे कैसे आने दूं ।
    कैसे बयां करूं अपने मोहब्बत की इंतहा ।।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4d

    Romantic

    ग़ैर हाज़िरी तुम्हारी इतना तड़पाएगी
    दिलासा तो दे ऐ सनम तु मिलने कब आएगी ❤️

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4d

    Romantic

    मोहब्बत के खातिर
    हमने हजारों सितम उठाएं पर
    हाल-ए-दिल सनम , अब हम
    किसको सुनाएं , जुदाई का ग़म
    अब बेचैन करता है ! अब तू ही
    बता सनम‌ , दूर रहकर भी
    तू खुश कैसे रहता है ..........।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4d

    Romantic

    कोई नशा इतना नशीला नहीं , जितने यह तेरे सुर्ख लब
    आज फिर से नशे में झूमना चाहता है ये दिल !
    तेरे होठों को होठों से चूमना चाहता है ये दिल ।।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 3w

    Romantic

    मोहब्बत जज़्बातों का प्यारा एहसास है
    तू साथ है तो हर लम्हा बहुत ख़ास है.....

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 3w

    Romantic

    हर वक़्त ज़हन में तुम्हारा ही ख़्याल है
    ये इश्क़ भी कमाल है..........!

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 3w

    Romantic

    ना इल्म होगा.... , तुझे मेरी मोहब्बत का......
    एक दिन तुझे भी गुमां होगा ,
    मेरे इश्क़ की इंतेहा देखकर ।।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4w

    Romantic

    तुम पास होते हो
    तो शर्माती हूं ,
    दूर होते हो तो याद
    कर मुस्कुराती हूं ,
    कैसा एहसास है ये प्यार का ,
    जितना समझना चाहूं
    उतनी उलझ जाती हूं !

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4w

    Romantic

    फूलों की तरह तुम यूं ही , सदा मुस्कुराती रहो ,
    दिल में मोहब्बत की शमा जलाती रहो !

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4w

    Romantic

    अब किसी और से मेरा क्या वास्ता ?
    अब तो बस तुझसे है , मेरा राब्ता !

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 4w

    Romantic

    गिरफ्त में हूं मैं तेरी मोहब्बत के
    तेरी खूबसूरती ने मेरे दिल को
    इस कदर मजबूर कर दिया ।

    ©go4sandeep