#rishte

575 posts
  • bebaklavz 3w

    एक दीवार की भी अजीब कहानी
    दो घरों के बीच बन जाए तो रिश्तें नए हो जाते
    और रिश्तों के बीच बन जाए तो दो नए घर हो जाते
    ©bebaklavz

  • _shafiyasayeed 6w

    Ek baat hamesha yaad rakhna⭐⭐⭐
    Kisi bhi Rishte ko utni hi ehmiyat do,jitne ka wo haqdar hai...
    Na zyada Na kam

    _Shafiya Sayeed

  • alfaazyunhi 7w

    ज़िंदगी के इस उधेड़बूंन में ना जाने कितने रिश्तों की गठरियां बना बन्द कर देते है सन्दूक में, पुराने कपडों की तरह..,या फेक देते हैं किसी कोने में.., और फिर शिकायतों की फेहृरिश्त बना कर ताँगे रखते है अपने काँधों पर सालो साल!! क्यों ना वक़्त से सौदा कर ले उंन सभी रिश्तों का जो शिकवों-शिकायतों की पेटी में बरसो से दफ़न है!! क्यों ना बीते सारे बेसुध पड़े कहानियों में थोड़ि जान डाले!!
    ©abhi daftuar

  • inoxorable 9w

    सफ़र

    मैं कर रहा था एक ऐसा सफ़र
    जहा साथी के साथ होते हुए भी अकेला था
    ©inoxorable

  • rohitsayyed 9w

    Kuch logo ko sirf dard hi milta hai,
    Mohabbat ho, rishte ho, ya zindagi,
    Waqt harpal unki kismat se khelta hai...

    ©rohitsayyed

  • shyamli_writes 11w

    खोखले रिश्ते

    आँसुओं से भीगा है ये दामन इतना,

    की सावन में भी बारिश का भान नहीं होता।

    वेदनाओं के सागर में लगायी है इतनी डुबकियां,

    कि अब किसी दर्द का एहसास नहीं होता।

    तिल-तिल के मरी हूँ रिश्तों की खातिर,

    कि अब किसी रिश्ते पर गुमां नहीं होता।

    निभाना तो पड़ता है यहाँ कुछ रिश्तों को,

    पर इन पे अब एतबार नहीं होता।

    झंझोड़ा है कुछ रिश्तों ने दिल को ऐसा,

    कि इनके लिए दिल में अब एहतराम नहीं होता।

  • _insiya 11w

    @miraquill
    #rishte
    #mylove
    #first_love
    “Kya karu..aaj mann bht udaas hai.."

    Read More

    Rishtein..

    Kuch rishton ko bnaye rkhne k liye kuch rishte todne pad jate hain,
    Aur un tootey rishton se shyad hm itna toot jate hain,
    K khud me hi khud ko dhundhte rah jate hain....
    ©_insiya

  • b_y_e_o_l 12w

    Badalti Dhun

    Zindagi ki Playlist dhun badalne nahi deti,

    Kaano mein bs ek hi dhun gunjti hai

    Chahte bahot hai hum bhi isse badalna par

    Maan Or haalat sath Nahi dete...

    ©b_y_e_o_l

  • inoxorable 14w

    अलविदा

    एक दिन फिर वक़्त आता है
    कहानी को अंतिम सुंदर रूप देना
    ©inoxorable

  • sparkles09_ 14w

    "Dhaage ki dor aur rishte dono hi naazuk hote hai, agar unpar zyada zor dalo na, wo tuth jaate hai"
    ©victorious_08

  • phillospher 15w

    RAKSHA BANDHAN

    Badi ho ya choti ho
    Hmari aankhon ka tum moti ho...
    Ek naam haii is rishte ka jise bhai behen hum kehte hain
    Is ek rishte me na jaane kitne rishte jeete hain...
    Kabhi hamari sbse achi dost
    To kabhi hamari maa hoti ho
    Kabhi ladte remote k liye
    To kabhii backhani harkaton pe hnste hain..
    Hum gussa bhi hote hain tmhi see
    Or tumhi pe marte hain....

    Bhaiyon ki ladli ho
    Unki eklauti jaan ho..
    Behen tum mahaan ho...
    Kabhi roti to kabhi muskurati ho
    Meri baat sunne hmesha mere pss aati ho..
    Kabhi dant ti ho jee bhar ke
    To kbhi dhero pyaar lutati haii
    Yun hi bs choti choti baaton se
    Tum mere liye har roz or b khaas ban jaati ho...

    Tumko sunne ko baithe hmesha
    Pyaar tumhi p lutayenge..
    Kabhi dantenge kisi galti pe
    To kabhi kisi baat p smjhyngee...
    Kabhi ruthenge tmse to kbhi tmhi ko manaynge...
    Ayee behen..Tere bina..Hum kahan jayenge....

    Jaan ho...Pehchan ho
    Tum bohot mahaan ho
    Choti hi ho ya badi ho
    Behen tm hamari jaan ho...

    Ye rakhi ka dhaga ek rishte ki dor haii
    Dil ko bandhe jo dor ye uski hi mod haii.
    Vo ldna jghadna tmse kabhi na chordenge
    Ruthna manana kabhi na chordenge
    Ye rishte hain inme kayi ehsaas hain...
    Hum bhai behen hain..Sbse khaas hain...
    ©phillospher

  • spilled_inkpot 18w

    रिश्ते

    बारिश , आंधी, तूफान , आते हैं आते रहेंगे
    जिन्हे अहमियत पता है रोशनी की वो दिया जलाते रहेंगे

    और तुम दिल तोड़ दो चाहे लाख बार उनका
    कुछ लोग पागल होते हैं, रिश्ते निभाते रहेंगे

    ©spilled_inkpot

  • dixitpriya22 18w

    Waqt Ke Sath Hmne Rishte dhalte Dekhe Hain....
    aap ya n badalne ki baat mat kijiye Janab

    Hmne bahuto ko Badalte Dekhe hain.....

    ©dixitpriya22

  • haalebayaan 22w

    नया सफ़र

    चलो हाथो में हाथ थाम लेते है,
    बीते को छोड़ कुछ नया जान लेते है,
    रिश्ता है नया, नयी हैँ रस्मे,
    नये वादों और कसमों को,जहां मान लेते है।
    चलो हाथो में हाथ थाम लेते है।....

    न मै अब मै रहूं,
    न तू अब तू रहे,
    न मै बंदिशों में बंधू,
    न तू बेवजह कुछ सहे,
    इस मै और तू को,
    अब हम मान लेते हैँ,
    चलो हाथो में हाथ थाम लेते है।।
    ©haalebayaan

  • princessiqra 22w

    Dard

    Zindagi aazma rhi hein mujhe har moad per baar baar mujhe toad ker
    Mere apne hi mujhe de rhe hein zakham mere sabar ko aazma ker......
    ©princessiqra

  • swetapandey 22w

    हर रिश्तों से ऊपर एक ऐसा भी नाता है,
    हर रिश्ते में कभी न कभी दगा देने की होती है गुंजाइस,
    एक इंसानियत का नाता है जो मुझे बड़ा भाता है।
    ©swetapandey

  • sramverma 23w

    Date 28/06/2021 Time 10:49 AM #SRV #rishte

    रिश्ते सिर्फ खून
    के ही नहीं होते,
    कुछ रिश्ते रेत पर
    पड़े उन निशानों
    से होते हैं,
    जो लहरों के साथ
    गुम होने का आभास
    तो कराते हैं;
    पर वो गुम नहीं होते
    फिर वो कभी सपनों
    में तो कभी जगे जगे
    से ख्यालों में आते हैं;
    और
    चिर परिचित
    होने का एहसास
    करा जाते हैं !

    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner..

    Read More

    रिश्ते सिर्फ खून
    के ही नहीं होते,
    कुछ रिश्ते रेत पर
    पड़े उन निशानों
    से होते हैं,
    जो लहरों के साथ
    गुम होने का आभास
    तो कराते हैं;
    पर वो गुम नहीं होते
    फिर वो कभी सपनों
    में तो कभी जगे जगे
    से ख्यालों में आते हैं;
    और
    चिर परिचित
    होने का एहसास
    करा जाते हैं !
    ©sramverma

  • soft_y 24w

    तुम पल भर में बदलने वाली
    रिश्तो की दूहाई देते हो ....
    के मैनें पल भर में टूटते
    साँसों को देखा है.....
    ©soft_y

  • _andar_ki_awaaz_ 27w

    वीरान कमरे सी ज़िंदगी

    एक अरसे बाद आज उसने फिर से झाँकने की हिम्मत की,
    वो एक कमरा जो काफी वीरान सा था,
    कहीं पे बिखरे हुए रिश्ते पड़े थे,
    और कहीं पे कुछ रिश्ते सुधारने की नाकाम कोशिश,
    कहीं पे अपने भैया को "फिर" से वापस लाने की मुराद,
    और कहीं अपने बाबा को खोने का डर,
    एक कोने में अपने लोगों को देखने की ख़ुशी,
    और उन्हें ख़ुश रखने की कोशिश, से ख़ुद को ज़िंदा रखने की चाह थी॥

    एक जगह मुस्कान ने कब्ज़ा कर रखा था,
    पर वो काफी परेशान सी थी,
    न चाहते हुए भी हमेशा उसके चेहरे पर हल्की सी ख़ुशी दस्तक दे ही जाती थी,
    सबकी ख़ुशियाँ वो देख पा रही थी,
    और ये समा बेहद ख़ूबसूरत था,
    झाँकते-झाँकते आँखें कुछ नम सी थी,
    वीरान सा कमरा पर फुरसत से देखो तो वहाँ बहुत शोर था॥

    शायद वो उस कमरे को फिर एक अरसे बाद झाँकने की हिम्मत करे,
    पर उसकी आँखें सुकून की तलाश में थी,
    और शायद वहीं किसी कोने में उसका सुकून था,
    जो वो नहीं ढूँढ़ पा रही थी,
    और एक वक़्त के बाद वो ख़ामोश हो गयी,
    वो अब सुकून को तलाशना छोड़ चुकी थी,
    बस ख़ुद से मुस्कुरा कर कहती कि सब ठीक है,
    और ये वीरान कमरा उसकी ज़िंदगी से काफी मिलता जुलता था॥

    ©Dipanwita Prusty ❤️
    IG ID : _the._.scribbler._


    #AKA
    #_andar_ki_awaaz_
    #andarkiawaaz
    #daily_feature
    #zindagi
    #life
    #viraan
    #baba
    #rishte
    #emotions

    Read More

    @_andar_ki_awaaz_

  • anuradhasharma 39w

    बात गर, बिगड़े गैरों से कोई हर्ज़ नहीं ।
    लेकिन, अगर रिश्ते उलझे अपनों से ।
    इससे, बड़ी फ़िक्र और कोई नहीं ।
    क्यूंकि, दिखावा मुमकिन नहीं अपनों से ।

    ©anuradhasharma