#rajputana

24 posts
  • mr_strange690 56w

    You think too much.'
    'I suppose I do; but I can’t help it, my mind is so terribly active. When I give myself, I give myself. I pay the penalty in my headaches, my famous headaches
    a perfect circlet of pain! But I carry it as a queen carries her crown.



    #Prithviraj #veer #like #india #Rajputana #Rajasthan #Gujarat #Hindustan #quotes #English #mirakee

    Read More

    Prithviraj Chauhan

    ©mr_strange690

  • mr_strange690 56w

    Maharana Pratap Singh

    Its better to serve the nation, instead of wasting this life in living happily and simply.
    ©Mr_strange

  • vikkoo 66w

    मातृभूमि से प्रेम ही पूजा
    उससे बढ़कर कोई यज्ञ ना दूजा
    सीखो हल्दीघाटी से, स्वाभिमान क्या होता है
    राजस्थान की रेतों से जानो बलिदान क्या होता है
    ©vs

  • mr_chouhan30 85w

    संस्कार रीति-रिवाज पहचान राजपुताना की����
    #RAJPUTANA#chhatriye#singh#thakursahab#2021#2022#2023#rajputana#rajput#2021rajput

    Read More

    संस्कार रीति-रिवाज पहचान राजपुताना की
    ©mr_chouhan30

  • klassy_kunal 104w

    बिहार से है!

    हैसियत की बात ना ही करो
    जितने के तुम अपने बदन पर कपड़े लटका कर घूमते हो,
    उससे ज्यादा की बस हम हनुमानी पहन कर चलते है !
    ©klassy_kunal

  • flamesfrommind 107w

    महाराणा प्रताप

    देश प्रेम की चिंगारी उसमें जो जली थी,
    एक पल न बुझ सकी वह चिंगारी अनोखी थी,
    मातृभूमि की रक्षा परम कर्तव्य जो माना था,
    रक्त की आखिरी बूंद तक खूब वह लड़ा था,
    वीरों के साहस की ज्योति वह तो महाराणा था।।

    थाम लिया था हृदय हर मेवाड़ी का जिसने,
    स्वतंत्र मातृभूमि की ज़िद ठान ली थी उसने,
    आदर सम्मान हर मानव के लिए मन में थामा था,
    उसके लिए स्वदेश की कीमत जीवन रूपी धन था,
    वीरों के साहस की ज्योति वह तो महाराणा था।।

    सभी चेष्टाएं ऐसीं उसकी आकर्षण सब को होता था,
    भीलों का संग भी उसने अपनी ओर पाया था,
    हार कभी ना मानी उसने जो शत्रुओं का प्रिय था,
    वर्षों युद्ध क्षेत्र में खेला शत्रुओं को लुभाया था,
    वीरों के साहस की ज्योति वह तो महाराणा था।।

    बिन इसके पन्ने पलटे इतिहास जैसे अधूरा है,
    अभी भी वतन में बस्ता इसका दिया खून है,
    भारत रत्नों में से एक वह मेवाड़ी राणा था,
    जिसका सबने सम्मान किया वह आँखों का तारा था,
    वीरों के साहस की ज्योति वह तो महाराणा था।।

    मेवाड़ के भाग्य में एक नया सवेरा आया था,
    शीश कभी ना ढला जिसका वह अखंड कहलाया था,
    मेवाड़ को पुनर्जीवित करना यही वचन उसने लिया था,
    शीश कटे तो मान था जिसका नाम स्वर्ण समान था,
    वीरों के साहस की ज्योति वह तो महाराणा था।।

    चेतक पर सवार दूर तक निशाना उसने साधा था,
    वह राणा का स्वामिभक्त घोड़ा बड़ा ही अनमोल था,
    राणा की रक्षा मे दान दिया स्वजीवन था,
    राणा और चेतक का जोड़ा कोटि कोटि धन्य था,
    वीरों के साहस की ज्योति वह तो महाराणा था।।

    जननी जन्मभूमि को स्वर्ग से महान माना था,
    हल्दीघाटी में इसने फिर यही प्रमाण किया था,
    स्वतंत्र मातृभूमि का स्वप्न साकार कर दिखाया था,
    मरते दम तक देश की रक्षा को सर्वोपरि माना था,
    वीरों के साहस की ज्योति वह तो महाराणा था।।

    संघर्ष का मैदान कभी ना छोड़ा परिश्रम से सींचा था,
    मेवाड़ का सूरज कभी न ढला सदा यादों में बसा था,
    पंद्रह सौ सत्तान्वे में आखिरी स्वास जो रखा था,
    ज्येष्ठ शत्रु अकबर का भी आँख से आंसू छलका था,
    वीरों के साहस की ज्योति वह तो महाराणा था।।
    D.P.
    2015
    ©फ्लेम्सफ्रममाइंन्ड
    (Edited by G.A.)

  • scheartbeatsoflove 108w

    Rajput

    राजपूत की शान निराली, ऐसा उसका रूतवा है।
    वचन दिया तो वचन निभाना, प्राण की अब क्या चिंता है।
    जान जाए तो फिकर नहीं पर , बात अटल वो रखता है।
    राजपूत सा जिगर निराला, राजपूत ही रखता है।
    ©scheartbeatsoflove

  • veer_ki_ardaas_veeraaa 133w

    .

  • rajputmehul 135w

    Rajputana dharm

    Diya hua vachan
    Kabhi todte nhi
    Saans 6od de magar
    Saath 6odte nhi....
    ©rajputmehul

  • dilipsinghchouhan 142w

    #rajputana@rajputana
    By unknown writer

    Read More

    Rajputana

    पानी मर्यादा तोड़े तो विनाश और क्षत्रिय मर्यादा तोड़े तो सर्वनाश ।

  • manav_9 148w

    #rajputana
    #shaurya
    #veerta
    @hindiwriters
    @hindilekhan
    @hindinetworksline
    @kshatriye
    #वीरो की धरती राजस्थान
    @panchdoot
    #battle_wt
    @writerstolli
    @hindiwriters
    हल्दी घाटी के युद्ध और महाराणा एवं उनके साथियों (उनका घोड़ा चेतक भी) के शौर्य को कविता के माध्यम से प्रसतुत कर रहा हूँ।।।����

    Read More

    महाराणा को समर्पित
    ...................................................

    प्राण गए पर शान ना जाने दिया,
    कट गए अंग अंग चाहे,अभिमान ना जाने दिया।।
    ऐसा था वो पराक्रमी,राणा अपना बलिदानी,
    अकबर ने बदली थी,डर से जिसके अपनी रजधानी।।

    मुगलिया सल्तनत की काली नजरें मेवाड़ पर पड़ गयी थी,
    जीतने के लिए सेना आगे बढ़ गयी थी।।
    20000 राजपूतो से 80000 मुग़लो का सामना था,
    संख्या कम थी,फिर भी दुश्मन को ललकारा था।।

    बन कर काल भीड़ गए,
    युद्ध भूमि गूंज उठी जय भवानी के नारों से।।
    भगदड़ मच गई मुग़लो की सेना में,
    राजपूती बीरो के हुंकारों से।।
    देख के भीषण रक्त पात,
    मुगलों की सेना डर गई थी,
    मारे जाने के भय से ,
    युद्ध के मैदान में पीछे हट गई थी।।

    (तभी राणा की नजर पड़ी सलीम पर)

    सलीम बैठा गज पे, था वो बीचो बीच मैदान में,
    एक ही झटके में कट जाए,फेक के भाला मारा बलवान ने।।
    किस्मत थी अच्छी लोहे की दीवार आ गयी,
    जाने वाली थी जान जिसकी,उसके जान आ गयी।।

    वार होता देख सैनिको ने राणा को घेर लिया,
    राणा ने भी एक हाथ मे तलवार, दूजे से नकेल खींच लिया।।
    कटने लगे सर, वार पर वार होते रहे,
    राणा भी अकेले ही डट कर मुकाबला करते रहे,
    देख के फसे राणा को तब,
    स्वामिभक्त का परिचय दिया,
    झालामल ने घुस के भीड़ में,
    राणा का मुकुट पहन लिया।।
    लड़ते लड़ते झालामल दुनिया छोड़ गए,
    लेकिन मुग़लो के रुख को राणा से अलग मोड़ गए।।

    भाप के खतरे को,
    चेतक ने भी रुख बदला था,
    चंद मिनटों में युद्ध मैदान से दूर निकला था।।
    सुरक्षित स्थान पर पहुचा के राणा को,
    दम उसने तोड़ दिया,
    रोते हुए राणा को अकेले पीछे छोड़ दिया।।

    घास की रोटी खा के भी जिसका मन न डोला,
    देख के बच्चों को अपने जंगल मे वो एक शब्द भी ना बोला।।
    चिंता बस मातृ भूमि की आजादी की थी,
    खोया हुआ सम्मान,पहचान पाने की थी।।
    बलशाली,पराक्रमी चैन से न बैठा वो,
    चंद महीनों में ही लड़ के उसने स्वाधीनता ले ली थी।।

    मेवाड़ अनाथ हो गया था जब राणा अपना खोया था,
    राणा की मौत पर बच्चा बच्चा रोया था।।
    सोचकर वीरता राणा की,अकबर भी स्तब्ध सा होया था
    भरी सभा मे मौत की खबर सुन अकबर जैसा दुश्मन भी रोया था।।
    जय राणा,जय महाराणा।।
    #मनु
    ©manutspr

  • vaghela_ba 160w

    Jay Rajputana..��������
    #rajput#rajputana#baisa

    Read More

    Apne Rajputana Ka Maan Rakhna, Abhimaan Nhi...
    Apne Swabhimaan Ke Liye Jaan De Dena, Samman Nhi...

    ©vaghela_ba

  • pratikrajput 169w

    "Rajput"
    it is not just a word,
    it is a sign of
    Rich Culture
    and
    Fearless Attitude.

    #logoutpratik #pratikrajput #rajput #rajputana #rajputboy #rajputthoughts #culture

    Read More

    "Rajput"
    it is not just a word,
    it is a sign of
    Rich Culture
    and
    Fearless Attitude.


    ©pratikrajput

  • _amazon_ 173w

    Bikaner

    The city of golden sand
    And a place of many palaces so grand!
    Havelis adorn the dusty scape,
    And take you away for a royal escape.
    Our Pride
    The Junagarh
    Oh it stands tall
    Unbounded and tanned.
    ©___khyati___

  • manav_9 174w

    महाराणा को समर्पित
    ...................................................

    प्राण गए पर शान ना जाने दिया,
    कट गए अंग अंग चाहे,अभीमान ना जाने दिया।।
    ऐसा था वो पराक्रमी,राणा अपना बलिदानी,
    अकबर ने बदली थी,डर से जिसके अपनी रजधानी।।

    मुगलिया सल्तनत की काली नजरें मेवाड़ पर पड़ गयी थी,
    जीतने के लिए सेना आगे बढ़ गयी थी।।
    20000 राजपूतो से 80000 मुघलो का सामना था,
    संख्या कम थी,फिर भी दुश्मन को ललकारा था।।

    बन कर काल भीड़ गए,
    युद्ध भूमि गूंज उठी जय भवानी के नारों से।।
    भगदड़ मच गई मुघलो की सेना में,
    राजपूती बीरो के हुंकारों से।।
    देख के भीसण रक्त पात,
    मुगलों की सेना डर गई थी,
    मारे जाने के भय से ,
    युद्ध के मैदान में पीछे हट गई थी।।

    (तभी राणा की नजर पड़ी सलीम पर)

    सलीम बैठा गज पे, था वो बीचो बीच मैदान में,
    एक ही झटके में कट जाए,फेक के भाला मारा बलवान ने।।
    किस्मत थी अच्छी लोहे की दीवार आ गयी,
    जाने वाली थी जान जिसकी,उसके जान आ गयी।।

    वार होता देख सैनिको ने राणा को घेर लिया,
    राणा ने भी एक हाथ मे तलवार, दूजे से नकेल खींच लिया।।
    कटने लगे सर, वार पर वार होते रहे,
    राणा भी अकेले ही डट कर मुकाबला करते रहे,
    देख के फसे राणा को तब,
    स्वामिभक्त का परिचय दिया,
    झालामल ने घुस के भीड़ में,
    राणा का मुकुट पहन लिया।।
    लड़ते लड़ते झालामल दुनिया छोड़ गए,
    लेकिन मुघलो के रुख को राणा से अलग मोड़ गए।।

    भाप के खतरे को,
    चेतक ने भी रुख बदला था,
    चंद मिनटों में युद्ध मैदान से दूर निकला था।।
    सुरक्षित स्थान पर पहुचा के राणा को,
    दम उसने तोड़ दिया,
    रोते हुए राणा को अकेले पीछे छोड़ दिया।।

    घास की रोटी खा के भी जिसका मन न डोला,
    देख के बच्चों को अपने जंगल मे वो एक सब्द भी ना बोला।।
    चिंता बस मातृ भूमि की आजादी की थी,
    खोया हुआ सम्मान,पहचान पाने की थी।।
    बलशाली,पराक्रमी चैन से न बैठा वो,
    चंद महीनों में ही लड़ के उसने स्वाधीनता ले ली थी।।

    मेवाड़ अनाथ हो गया था जब राणा अपना खोया था,
    राणा की मौत पर बच्चा बच्चा रोया था।।
    सोच की वीरता राणा की,अकबर स्तब्ध सा होया था
    भरी सभा मे मौत की खबर सुन अकबर जैसा दुश्मन भी रोया था।।
    जय राणा,जय महाराणा।।
    #मनु
    ©manutspr

  • scott_devil_ 174w

    #shooting#lover#rajputana#swag
    See my shooting video on IG account:- scott_devil_ ��✌️

    Read More



    I love shooting, not at people or animals. But I love shooting blanks.....

  • panwar__avi 186w

    #फूलों_की_कहानी_लिखी_बहारों_ने
    #चांद_की_कहानी_लिखी_सितारों_ने
    #राजपूत_किसी_कलम_के_गुलाम_नहीं
    #क्योंकी_राजपूतो_की_कहानी_लिखी_तलवारो_ने ।
    ©panwar__avi

  • ashraj 186w

    हिन्दूगिरि के बादशाह हैं हम,
    तलवार हमारी रानी,
    दादागिरी तो करते ही हैं,
    बाकि सब महाकाल की मेहरबानी....!

    ©ashraj

  • vikkoo 202w

    "बने मिट्टी के,
    जुड़े मिट्टी से,
    बढ़े मिट्टी में,
    मिट्टी के लिए,
    मिले मिट्टी में"

    ©vikkoo

  • dr_rathore7 202w

    वीर दुर्गादास राठौड़

    सिर कटे और सर लड़े रखा राठौड़ी शान,

    दुर्गदास राठौड़ पर राजपूताने को है अभिमान।


    ©dr_rathore7