#rachanaprati166

17 posts
  • soonam 11w

    #rachanaprati166
    #rachanaprati167 @raakhaa_
    विजेता हर कोई होता है पर किसी एक की कोई शब्द, वाक्य दिल को छू लेती है..❣️

    Read More

    *

    मैं @anonymous_143 जी की आभारी हूं.. जिनके कारण मुझे #rachanaprati166 को संचालित करने का अवसर मिला..
    मैं सभी प्रतिभागियों @raakhaa_ @psprem @gannudairy_ @alkatripathi79 @isikaa @satender_tiwari @anusugandh @yuvi7rawat @somashekar @pandeyajay @sandye @shru_pens @anonymous_143 @sadhana_the_poetess @vickyprashant_srivastava को दिल से शुक्रिया की उन्होंने ने #rachanaprati166 में अपनी खुबसूरत कविताओं द्वारा अहम भूमिका निभाई और इसे सफल बनाने में मेरा साथ दिया..
    मैं #rachanaprati166 के लिए @raakhaa_ को विजेता घोषित करना चाहती हूं और उन्हें #rachanaprati167 को संचालित करने का अवसर प्रदान करना चाहती हूं..!!
    ©soonam

  • sadhana_the_poetess 11w

    #rachanaprati166 18 अप्रैल 22 #khubsurti

    Read More



    धरती पर ईश्वर के भांति करुणा की वो साक्षात्कार मूर्ति है ,
    नतमस्तक करती दुनियां जिसे मां के प्रेम की वो खुबसूरती है।
    ©sadhana_the_poetess

  • isikaa 11w

    खूबसूरती

    जरुरी नहीं खूबसूरत हो चेहरा ही
    होनी चाहिए खूबसूरती सोच में
    उदास से चेहरे पर भी ले आए जो खुशियां
    उससे ज्यादा खूबसूरत और कुछ भी नहीं...!!

    प्यार ही प्यार भरा हो हर तरफ
    फिर अपना सा लगे ये सारा जहां
    साथी बने हम दुख- दर्द में सबके
    हो फिर हर सुनी आंखों में नए सपने
    क्यों न हम सच में इंसान बने
    बन पाए सहारा जरूरतमंदों के
    स्नेह और अपनापन बस फैला हो जहां में
    एक दूजे की फिकर हो हर किसीके मन में
    खुशियों से फिर भरी होंगी जिंदगियां सारी
    क्यूंकि एक सच्चे दिल से खूबसूरत और कुछ भी नहीं..।।
    ©isikaa

  • gannudairy_ 11w

    @soonam mam ने ये विषय दिया "खूबसूरत" उनका आभारी... मैं खूबसूरत "मानवता" के बारे में लिखा है...
    मानवता को हम भूल चुके हैं बस धर्म जात भाषा के भेदों में फस के रह गए.. आशा करता हूँ पसन्द आयेगा..!!!

    #rachanaprati166

    Read More



    साम्राज्य छोङ बुद्ध ने कहा- मानवता हित और सेवा सबसे ऊपर हम भूले, विश्व में फैला बुद्धत्व।
    ईशु ने दिया विश्व शांति, प्रेम और सर्वधर्म सम्मान संदेश।
    कुरआन ने कहा जहाँ मानवता वहाँ अल्लाह।
    गीता का उपदेश-" कर्मण्यवाधिकारस्ते मा…… "
    – निस्वार्थ कर्तव्य पालन करो।
    गुरु नानक ने भी कहा -
    "एक नूर ते सब जग उपजया"
    कर्ण ने सर्वस्व और गुरु गोविंद ने किया सारा वंश दान,
    कितना किसे याद है, मालूम नहीं।
    मदाधं मानवों की पशुवत पाशविकता जाती नहीं।
    मानव होने के नाते, हमारे पास ज्ञान की कमी नहीं।
    बस याद रखने की जरुरत है, पर हम ङूबे हैं झगङे में –
    धर्म, सीमा, रंग , भाषा……..
    हम ऊपरवाले की सर्वोत्तम कृति हैं !
    कुछ जिम्मेदारी हमारी भी बनती है

    ©gannudairy_

  • anonymous_143 11w



    यूं ही नहीं आती खूबसूरती रंगोली में,
    अलग अलग रंगों को एक होना पड़ता है।
    उसी तरह रिश्तों में भी खूबसूरती तभी आती है,
    जब सब एक साथ मिलकर एक दूसरे का साथ देते है।

    ©anonymous_143

  • shru_pens 11w

    Lafz mein mithas, zindagi mein saadgi, rishto mein atoot vishwas

    Jab ghamand aur zid ka ghada Khali ho jae, aur khushiyo ki baarish aparampaar ho, wahi hai khoobsurati ka khoobsurat ehsaas
    ©shru_pens

  • psprem 11w

    "खूबसूरती"

    दिल में अगर है प्यार तो दुनियां भी खूबसूरत है।
    श्रद्धा हो मन में तो पत्थर मे भी ईश्वर की मूरत है।
    सब खेल दृष्टि का है, जैसी भी नजर बना लो।
    दृष्टि में खूबसूरती हो,तो फिर और क्या जरूरत है।
    मन अगर है गंदा तो गंदगी ही नज़र आयेगी।
    मन की पवित्रता से ही होती रब की इबादत है।
    अच्छे विचार होंगे तो सब कुछ भी अच्छा होगा।
    हम खुद भी सुन्दर होंगे और संसार भी खूबसूरत है।
    ©psprem

  • sandye 11w

    #rachanaprati166 , #night , #beautiful
    @soonam , @glittery_ink
    #khoobasoorati ,#hindipost , #hindiwriters
    ♦♦♦♦♦♦♦♦♦♦♦♦♦
    ♦पल भर में आंख लगी।♦♦♦♦♦
    ♦सपने में खूबसूरत कमल खिल गई।♦
    ♦कीचड के तालाब में रौनक आ गई।♦
    ♦खूबसूरती के तालाब में चांदनी छा गई।♦
    ♦सितारे भी चमकने लगे कमली जो मुस्कुराने लगी।♦
    ♦चांद की नगरी खूबसूरत सपनें में खो गयी।♦
    ♦रात धीरे-धीरे करवट लेने लगी।♦♦♦
    ♦जुगनू के दिये उड़ने लगे।♦♦♦♦
    ♦रात की रानी खूबसूरत परियों की कहानी बुनने लगी।♦
    ♦सुनाने लगी में खूबसूरत काली रात हूं।♦
    ♦मैं शहद जैसी मीठे मन की रात हूं।♦
    ♦पर कुछ की नजरों में...♦♦♦
    ♦काली क्यों हूं?♦♦♦♦
    ♦मैं शीतल छाव हूं, मधुर हलचल हूं।♦
    ♦मैं कर्कश शोर नहीं, रात धुन हूं।♦
    ♦मै सांसों की चैन हू, मैं किसी कि मौत नहीं हूं।♦
    ♦मैं डर नहीं हूं,भूत की नगरी नहीं हूं ।♦
    ♦मैं कल का विकास हूं, विश्वास हूं।♦
    ♦मैं खूबसूरत सपना हूं, कल का..♦
    ♦सच का।♦♦♦♦♦♦
    ♦मैं खुबसूरत परियो की कल्पना...रात हूं।♦
    ♦पर मैं किसी की वासना नहीं हूं।♦
    ♦मै खुबसूरत जवान रात हूं ।♦
    ♦मैं अकेली हमसफर सब की हूं।♦
    ♦मै सब कि लोरी हूं।♦
    ♦खुबसूरत रात की...♦
    ♦खूबसूरत नींद हूं।♦
    ♦♦♦♦♦♦♦♦♦♦

    Read More

    ♦खूबसूरत रात♦

    ©sandye

  • alkatripathi79 11w

    #rachanaprati166
    @soonam @anusugandh @bad_writer

    कहा जाता है खूबसूरती तो देखने वाले की नज़रों में होती है....

    Read More

    ख़ूबसूरती

    है ख़ूबसूरती तेरी आँखों में,
    जिसने “मुझे " ख़ूबसूरत बनाया।
    है खूबसूरती तेरी बातों में,
    जिसने “मुझे" सुनहरे शब्दों से सजाया।
    है ख़ूबसूरती तेरी सोच में,
    जिसने ख़ूबसूरती का मतलब समझाया।
    ...................................................
    मैं हूँ ख़ूबसूरत, बेहद ख़ूबसूरत
    तुम्हारी, सिर्फ तुम्हारी नज़रों से...
    ©alkatripathi79

  • anusugandh 11w

    ख़ूबसूरत ख्याल

    हर शाम बस तेरे ख़्याल में गुजरती है
    वक्त रेत के जैसे मुट्ठी से फिसलती है

    तेरा जिक्र तेरा तसव्वुर रहता हरदम
    हर रात शम्मा विराने सी पिघलती है

    इंद्रधनुष सा खूबसूरत है तेरा ख्याल
    लगता जैसे बादल पर धानी चुनर सरकती है

    बागों में कोयल की वह प्यारी सी कूक
    जाने कितनी खूबसूरत प्रकृति चहकती है

    तेरे प्यार की खूबसूरती से लिपटी यादें तेरी
    जैसे प्यार बनकर हमारे वज़ूद पर बरसती हैं

    "अनु" उनके ख़्याल को तसव्वुर में रहने दे
    यही तेरी मोहब्बत की बस खूबसूरती है!
    ©anusugandh

  • yuvi7rawat 11w

    Sundarta

    Sundarta bhagwan vishnu ne samay-samay pe darshahi hai,
    Satya ki vijay hue, papiyo ki shamat aaye hai,

    Bhasmasur ne bhagwan shiv se kaisa vardan liya tha,
    Ser pe haat rakhke sabko bhasm karna prarumbh kiya tha,
    Hua mohit maa parvati pe, devi k piche lattu hua tha,
    Bachane aaye dharam-patni ko mahadev tho unke bhi piche pada tha,
    Bhagwan shiv aapne he diye vardan se hare the,
    Ghabrake bholenath bhagwan vishnu k vaikunth bhage the,
    Jaga k narayan ko shiv shankar ne unse baat kari,
    Brahmand ki raksha hetu shri hari ne bhole ki prathna suni,
    Bhagwan vishnu ne liya avtar aur liya roop sundar nari ka,
    Mata laxmi bhi anand lerahe pate ki kalakari ka,
    Mohini banke shri vishnu bhasmasur k pass gaye,
    Aur us Asur ko narayan pyar se rijhane lage,
    He bhahubali bhasmasur jara mere roop ko dekho,
    Parvati me kya rakha hai tum mere tan pe aakhe sekho,
    Bhasmasur tho dol gaya, prem me pagal ho gaya,
    Mohini tum tho sundarta ki paribhasha ho,
    Iss samuche sansar me tum sirf mere ho,
    Bole mohini prem se "tho aaja mere raja mujhe aapna banale,
    Mujhe aapne rani bana aur sansar ki sair karade,
    Parantu mujhe aapna banana hai tho meri tarah nachana hoga,
    Jaise mudraye me karugi vaise he tumhe karna hoga,
    Bhasmasur bechara mann gaya,
    Bhagwan ki sundarta se haar gaya,
    Jaise nachte shri hari, vaise nachta bhasmasur,
    Nach-nach k thak gaya vo bechara Asur,
    Bas itne me mohini ne antim mudra kari,
    Ser pe haat rakhke ruk gaye shri hari,
    Bhasmasur ne bhi aapne ser pe haat rakha,
    Aur mohini ki aur vo prem se dekhne laga,
    Vardan k anusar uska sharir jalne laga,
    Khudke shakti se he khud aag me galne laga,
    Mohini ne aapna roop badla or bhagwan vishnu samne khade the,
    Jalte hue bhasmasur ko shri hari dekh rahe the,
    Nache devi-devta, nacha jagat bhi sara,
    Mahadev ne kiya narayan ko pranam, aur goong utha shri hari ka jaikara...
    ©yuvi7rawat

  • raakhaa_ 11w

    #faaltu_baatein
    #rachanaprati166

    @soonam ��️��️ (pls check if that hashtag is correct����)

    Read More

    शाम की लाल कलम,
    और मैं!
    हम खूबसूरती को लिखने,
    बैठ जाते हैं छत पर!

    स्याही की बाहें थामे,
    गोते खाते कुछ शब्द-
    जो कागज़ को रंग देती हैं,
    ख़यालों में-
    खूबसूरत नहीं तो और क्या हैं!

    ख़यालों के पीछे छिपा अतीत,
    अतीत की बातें,
    बातों में किसी की झलक,
    और उस झलक का प्रतिबिंब-
    खूबसूरत नहीं तो और क्या हैं!

    प्रतिबिम्ब का रंगमंच है हृदय!
    हृदय की प्रीत का रंग,
    और रंग का भी लाल होना!

    ये प्रीत ही तो शाम की लालिमा
    बनकर निखरी है मेरे छत पे,

    ये लालिमा खूबसूरत है;
    ये प्रीत, ये हृदय, ये प्रतिबिम्ब, ये झलक, ये बातें,
    ये अतीत, ये ख्याल,ये कागज़, ये शब्द, ये स्याही;
    और ये शाम!

    सब खूबसूरत है...

    ©raakhaa_

  • somashekar 11w

    Unse Mohabbat Kamal Ke Hote Hai JinKa Milna Muqaddar Mein Nahe Hota.

    Kabhi kisi ko mukammal jahan nahi milta , Kahin zameen , kahin aasmaan nahi milta . Jise bhi dekhiye woh apne aap mein gum hai , Zuban milti hai , magar hum - zuban nahi milta .

    अजब तेरी है ऐ मेहबूब सूरत नज़र से गिर गए सब खूबसूरत.

  • satender_tiwari 11w

    #rachanaprati166

    अच्छी नींद चेहरे की खूबसूरती को बनाये रखती है। और मेरी ये कविता खूबसूरती में चार चांद ����

    Read More

    नींद

    हम अक्सर सपनों की बात किया करते हैं
    ख्वाबों को सजाया अक्सर किया करते हैं
    लेकिन उस एक चीज़ को भूल जाते हैं हम
    जिसे लोग नींद कहा करते हैं।।

    सोचो अगर ये नींद ही न होती तो क्या होता
    इंसान हर पल आंख खोले जाग रहा होता
    उसके बिना न सुकून होता न चैन होता
    अगर नींद का कोई वजूद ही न होता।।

    काम करने के लिए 6-8 घंटे और मिलते
    लेकिन आराम नही मिलता कभी सोचा है
    कोई किसी को नही कहता कि कितना सोता है
    थक गए हो सो जाओ ऐसा वाक्य ही न होता।।

    न सपने सजते न ख़्वाब दिखते न कोई हँसता
    इंसान सिर्फ काम के पीछे पागल ही होता
    परिवार के लिए शायद समय भी होता
    लेकिन बिना नींद के कैसे वो खुश होता ??

    इसलिए सोने वालों को ताना मत मारों
    सुकून है चैन है नींद चेहरे की खूबसूरती है
    सिर्फ जागने से ही कोई महान नही बनता
    सुकून वाली नींद भी हर दिन ज़रूरी है।।

    ©सतेंदर तिवारी (ब्रोकेन्वोर्डस)

  • pandeyajay 11w

    खूबसूरती

    लब की खूबसूरती कहूँ या फिर हुस्न की,
    दिल की खूबसूरती कहूँ या फिर दिमाग की,
    जिस्म की खूबसूरती कहूँ या फिर कॉस्मेटिक की,
    इत्र की खूबसूरती कहूँ या फिर स्वेद की,
    नेत्र की खूबसूरती कहूँ या फिर नेतृत्व की,
    गायकी की खूबसूरती कहूँ या फिर उसके नृत्य की,
    शायरी की खूबसूरती कहूँ या फिर उसके श्रृंगार की....
    बहुत खूबसूरत है वो ....वो मेरी जान है,
    उसको खूबसूरत कहूँ या फिर खूबसूरती को उसका नाम दे दूं...
    क्या कहूँ बहुत खूबसूरती है उसमें ।

  • soonam 11w

    #rachanaprati165
    #rachanaprati166

    @anonymous_143 आपका धन्यवाद..!!

    आशा करती हूं जिस तरह आप सबने मिलकर अपनी मेहनत से #rachanaprati को आगे बढ़ाया है, उसी प्रकार आप सभी मेरे संचालन में अपना योगदान दे कर कामयाब बनाएंगे..!!

    Read More

    *

    मैं @anonymous_143 जी को तहे दिल से शुक्रिया अदा करती हूं.. कि उन्हें मेरी कविता "भ्रम" पसंद आई और उन्होंने ने मुझे इस काबिल समझा, मुझे #rachanaprati166 को संचालित करने का अवसर प्रदान किया..!!

    #rachanaprati166 का विषय - "खुबसूरती"

    मेरा मानना है खुबसूरती हर जगहों पर होती है..
    जले हुए से लेकर टूटे जिस्मों तक,
    गन्दे नालों से लेकर सूखे झाड़ियों तक,
    कड़कड़ाती धूप से लेकर झमझमाती बारिश तक..
    बस चाहिए तो क्या हमें.. एक नजरिया उन्हें देखने का..!!
    तो चलिए आज आप भी अपने खुबसूरत से मन का दरवाजा खटखटा कर "खुबसूरती" को अपनी अंदाज में खुबसूरत से कलमों से बिखेर दीजिए..!!

    समय सीमा - 20 अप्रैल 2022 !!
    ©soonam

  • anonymous_143 11w



    मैं अपने आप को खुशनसीब मानता हूँ की मुझे इस रचनाप्रति
    के संचालन में जुड़ने का मौका मिला,
    सभी प्रतियोगीयों @psprem @_do_lafj_ @jigna_a @anusugandh @yuvi7rawat @alkatripathi79 @pandeyajay @uttamky @mamtapoet @shru_pens @_desaiagraja @satender_tiwari @soonam का दिल से शुक्रिया की रचनाप्रति में भाग लिया...मेरे लिए आप सभी विजेता है...
    मैं @soonam जी को निवेदन करुंगा कि #Rachanaprati166 की बागड़ोर अपने हाथों में ले...और संचालन को आगे बढ़ाये...धन्यवाद

    ©anonymous_143