#rachanaprati138

10 posts
  • _do_lafj_ 19w



    #rachanaprati138 ke liye winner hai @gannudiary_ aur #rachanaprati139 k liye inhe sanchalan ki jimmedari deti hu
    ......
    Baki aap sabne bhi bahut accha likha hai☺️☺️...


    ©_do_lafj_

  • somefeel 19w

    यह शब्द मेरे दादा (संदीप सिंह aka दिल ने नीचे बूंद लगाने वाले) जिनसे ना मिले है ना ही इतना जानते है, बस इतना पता है वो हर बार जरूरत के वक्त साथ होते है अपने दादा के लिए, कभी सोच नही था की उनसे बात होगी या जान पहचान होगी, वो मेरे जीवन का बहुत ही सुखद वक्त बन के आए है!
    मुलाकात स्थान (इंस्टाग्राम)
    रिश्ता (प्रेम)
    वजह (दर्द को सुकून मानने वाले हम दोनों)
    उनकी इंस्टा I'd:- @the_sandeepsingh
    एक बार इन्हें जरूर पढ़े!
    #समाप्त


    #rachanaprati138
    @_do_lafj_

    Read More

    वो अनजान थे अब जान से बढ़ के है,
    ना पता था नाम ना ही किरदार पता था,
    ना हुई मुलाकात ना ही व्यवहार पता था,
    अंजानों से बाते करने की आदत में उनसे मुलाकात हुई,
    दो दर्द मिलते ही हमारे दोस्ती की शुरुआत हुई,
    अब हर रोज उनका दिमाग खाया करता हूं,
    वो कितने जरूरी है मेरे लिए उनसे छुपाया करता हूं,
    दिल दादा और मजाक में प्यार से bc बुलाया करता हूं,
    अनजान से जान बना कर उन्हे,
    बे मतलब की दोस्ती हर बे तुकी बात के साथ उन से निभाया करता हूं!
    प्रेम हो तुम दादा❣️❣️
    ©somefeel

  • tejasmita_tjjt 19w

    @_do_lafj_
    #rachanaprati138
    काल्पनिक रचना✍️✍️

    Read More

    Unexpected dosti

    यूं सहसा ही किसी मोड़ पर मिला था वो
    धीरे धीरे से बातों का सिलसिला शुरू हुआ
    कभी काम से बातें करना तो कभी
    काम के बहाने बात करने के बहाने ढूंढना
    यूं दोस्ती का धीरे धीरे आगे बढ़ना हुआ

    सोचा न था ऐसा दोस्त मिल जाएगा
    बिन बोले बिन कहे सब समझने लगेगा
    मेरे दिल की बात वो अपने लबों से कहने लगेगा
    दिल ही दिल में फिर वो मोहब्बत करने लगेगा
    पर होठों से इजहार करने से कतराएगा

    हर लम्हा हर पल वो जहन में रहने लगा था
    अब तो उससे बात कहने में कोई डर न लगता था
    एक दूजे की रूह में बसने लगे थे अब दोनों
    कुछ अलग ही दुनिया बनने लगी थी दोनों की
    साथ निभाने की साथ जीने की कसमें होने लगी थी

    मगर फिर अचानक से कोई ओर जिन्दगी में आया
    लड़की का मन पूरी तरह से बदलने लगा था
    वो सब भूलने लगी सब बातें सब कसमें सब कुछ
    लड़का उसके लिए बस पागल होए जा रहा था
    पर उसको जरा भी तरस नहीं आ रहा था

    वक्त बदलने लगा और उसकी शादी हो गई
    सब ठीक होने लगा लेकिन वो उसे न भूल पाया
    वो भी कभी उसको अकेलेपन में याद करती है
    नसीब से मिलते हैं कुछ लोग यही सोचती है
    पर हां वो दोनों आज भी एक अच्छे दोस्त हैं
    ©tejasmita_tjjt

  • anusugandh 19w

    दोस्ती

    दोस्ती के मायने क्या ही होते हैं
    रिश्तो से बढ़कर बयां होते
    यह तुझसे ही सब सीखे
    दिल से जुढ़े सदा के लिए होते
    जब कभी भी दिल उदास होता
    कोशिश में उसके ठहाके होते
    जब होती कभी भी निराश
    हिम्मत के सदा तराने होते
    करती कभी टूटे दिल की बात
    तो डांट के भी नज़ारे होते
    छोटा सा दोस्त बड़ा ही प्यारा
    उसके लिए दिल से दुआ के साए होते
    रखना सदा दोस्ती ऐ मेरे ख़ुदा
    ये प्यारे रिश्ते ज़मीन पर ही बने होते
    ना इसका कोई मोल ना तोल
    यह दोस्ती के रिश्ते बड़े कीमती होते हैं
    ©anusugandh

  • gannudairy_ 19w



    You always answer when I call
    And help me up if I should fall,
    But you never complain at all,
    My true friend.

    You confront me when I am wrong
    But will never scold me for long,
    Instead, you try to keep me strong,
    My true friend.

    You know the funny things to say
    To make me laugh my fears away.
    Like the sun, you brighten my day,
    My true friend.

    You always perceive what I need
    And offer it before I plead.
    Just like a book, my mind you read,
    My true friend.

    You value little things I do
    But won't brag of what you do too.
    How can I ever repay you,
    My true friend?

    And greatest of all I have found
    When times are tough and I'm down,
    You are the one who sticks around,
    My true friend.
    ©gannudairy_

  • shru_pens 19w

    Unexpected friend

    Kabhi socha na tha usse mulakat hogi meri
    Kabhi khayal ni aya ki uss jaisa bi hoga koi
    Achanak hi mila wo iss "miraquill" parivaar mein
    Anjaan hokar bi muje samajhta hai wo

    Yu to usne kbi naam ni btaya
    Pr ye janaab ka kehna hai -- naam mein kya rakha hai
    Bhautik vigyan ke charam premi hai janaab
    Mere chaanv(shadow) ki tarah rehne ke liye aabhaar janaab
    Dil se kehti hu janaab, aap jaisa heera sbke naseeb me nahi hota
    ©shruti_25904

  • anandbarun 19w

    (कविता)

    उभरे थे अंतर्मन में
    अकस्मात इक दिन
    उकेर दी थी मैने तुझे
    अनायास ही पलछिन
    असंगत से इक पृष्ट पे
    फिर तुम हो गए थिर
    संग मेरे रच-बस गए
    सुकोमल भावों में भिन
    उतरे अभिव्यक्ति बन के
    निखरते मेरे हेतु नित
    सारथी मेरे सबसे सच्चे
    ठहरे अंतर सखा अभिन्न
    तलाशते नई सीमाऐं
    पार जिसके सहज खिल
    छू लेने को आतुर हुए
    शब्दों की संपदा गिन
    काश कभी ऐसा जगे
    तुम अमर हो मेरे बिन
    ©anandbarun

  • goldenwrites_jakir 19w

    अनजाने राही ✍️

    सफ़र 2011
    सारणी से भोपाल लौट आने का कुछ इस तरह से हुआ
    अपने शहर से दूर अनजान शहर में
    अपने कि तलाश में ये दिल भटक रहा था
    वो अपना मिला भी बेगाने कि तरह
    दिल टूट कर बिखर गया ,,,,,
    आँखों से झलक रहे थे दिल के ज़ख्म के निशां
    सिसकियाँ ख़ामोशी कि चादर में दवे पाँव चल रही थी
    ये एहसास भी नही था कि पास वाली सीट पर
    कोई ये सब देख रहा था ,
    दर्द दिल का हर इक यादों के साथ दिल को दुखा रहा था
    सोचा था उससे मिलकर दिल को सुकून मिलेगा
    मोहब्बत भरी रूह को खुला आसमा जमीं पर मिलेगा
    होगी ज़ब उनसे मुलाक़ात आँखों ही आँखों में
    दिल कि हर इक बात का इंसाफ होगा
    कैसे रहे तन्हा हर इक पल का जवाब मिलेगा
    खिल उठेंगे मुरझाए हुए वफ़ा के फ़ूल
    मोहब्बत कि बारिसों में
    मिलन का बादल हमारी ज़िन्दगी में ज़ब होगा
    पर अफ़सोस उसकी आँखों में - मोहब्बत नही मिली
    डर - खौफ ही नज़र आया
    जैसे जिसकी तलाश नही वो मंजर नज़र आया ..
    इक इक पल दिल को रुला रहा था
    था क़रीब उसके पर ना जाने क्यों ऐसा लग रहा जैसे
    उससे बहुत दूर हूँ
    हिम्मत नही थी अब बहाँ ठहर जाने कि
    उस कस्ती पर सवार ज़िन्दगी थी
    वो दर्द वो अकेला पन उसके क़रीब जाकर हुआ
    मिला दर्द दिल को इतना जैसे ज़िन्दगी अब थमसी गई
    ना रहा अब वाकी ज़िन्दगी में वो मुस्कान लवों कि खो गई
    इस हालात में देख कर उस अजनबी ने मुझसे किसी तरह बात कि क्या हुआ मुझे क्यों इतने परेशान हो
    क्यों तुम रो रहे क्यों इस हाल में हो
    घर पर सब ठीक है या कोई और बात है
    इतने सारे सवाल सुनकर बस इक जवाब था
    आया था मैं मिलने अपनी जान से
    अब जान यहीं छोड़ कर जा रहा हूँ
    कैसे हम मिले कैसे हम बिछड़े हर इक बात बताई
    क्या खोया क्या पाया वो राज ए दिल उस अनजान को सब है बताया
    वो सफर अंजाना कुछ इस तरह से था
    मिला राह में इक मुसाफिर वो सफर ज़िन्दगी का था ....
    ©goldenwrites_jakir

  • _do_lafj_ 19w

    Thank you so much li one @shruti_25904 #Rachanaprati138 ke liye mera topic hai Unexpected friendship...
    Hm sab kbhi na kbhi aise kisi person se milte h jinse milna hmne socha nhi hota hai....
    So write your experience about your unexpected friend ❣️...

    @shruti_25904 @gannudairy_ @alkatripathi79 @anusugandh @anonymous_143

    #rachanaprati138

    Read More

    ❤️

    Topic - Unexpected Friendship ❤️
    Time- 9 January ...



    ©_do_lafj_

  • shru_pens 19w

    #Rachanaprati137 par bahut hi manbhavan rachnayein praapt hui..
    Sabhi ki rachnayein atisundar aur khoobsurat thi, sabko mera aabhaar
    To iss baar ke vijeta hai @_do_lafj_ aur @anandbarun jii ... vijetao ko meri haardik shubhkamnayein
    #rachanaprati138 ka karyabhaar mai @_do_lafj_ dii ❤️ ko saunpti hu
    ©shruti_25904