#payal

96 posts
  • poetry_for_u 5w

    .

    अब इससे बुरा क्या होगा
    कि वो मेरी मुहब्बत सरे आम ठुकरा कर
    किसी की पायल बांध रहा था
    ©poetry_for_u

  • masoom_bachchi 42w

    छन्न - छन्न (part-3)

    3 बजने वाला था ....किसी भूत की पिक्चर में उसमें देख रखा था कि 2:00 से 3:00 के बीच भूतों की शक्ति अपार होती है ..जैसे ही घड़ी पर नज़र गई उसका डर और बढता जा रहा था..
    घड़ी की सुई धीरे-धीरे आगे बढ़ती जा रही थी और खिड़की से थोड़ी थोड़ी रोशनी आनी शुरू हो गई ..अब जाकर खुशबू की जान में जान आई ...पर फिर भी वह अभी उठने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही थी.

    ..4:30 बज चुके थे ...इधर मम्मी के अलार्म बजे... और फिर कुछ समय बाद वह खुशबू को जगाने उसके कमरे की तरफ बढ़ी .…जैसे ही दरवाजा खोला तो उन्होनें जो देखा , उससे वो दंग रह गई... खूसबू अपने बेड पर एक कोने में बैठी थी मानो एक छोटी सी , डरी सहमी सी बच्ची है ..…... पसीने से लथपथ चेहरे को देखकर वह दौड़ती हुई ख़ुशबू के पास जाती है ,और पूछती है ...कि क्या हुआ तू इतनी परेशान क्यों है और इतनी ठंड में तुम्हारे चेहरे पर ये पसीने कैसे?... खुशबू ने एक-एक बात बताएं और फिर मानो वह रोने ही वाली थी कि तभी......


    .... मा ने उसे अपने सीने से लगाते हुए कहा -एम सॉरी बेटा !तुम ये पायल खोल दो, मैंने कल शाम को तुम्हें ज़बरदस्ती ये पायल पहनने को कहा था... लड़कियों के पैर में पायल अच्छा लगता है पर तुम्हें पहना कर से से शायद मैंने बहुत बड़ी गलती की है....।।,लाओ इधर मैं खोलती हूं इसे अभी।
    तब जाकर ख़ुशबू को पता चलता है कि उसके ज़रा से हरकत पर वो chhnn chhnn chhnn chhnn की आवाज क्यों आने लगती थी.… उसके ज़रा सा हिलने पर पायल इसलिए बज रहा था क्योंकि यह उसी के पैरों में था....
    और फिर चेहरे पर थोड़ा सा शर्म, थोड़ा सा डर, थोड़ा सा गुस्सा लिए मुंह बिचकाते हुए उसने अपने मम्मा से कहा कि मैंने कहा था ना कि मुझे यह सब नहीं पसंद है ...आपने फिर भी मुझे पहनाया मुझे और मैं रात के 2:00 बजे से अभी तक जाग रही हूं ,ऊपर से डर से मेरी हालत पंचर हो रही थी।

    मां ने हंसते हुए उसके पैरों से पायल को निकाला और कहती हुई चली गई "ये लड़की पागल है ।"
    ©masoom_bachchi

  • masoom_bachchi 42w

    छन्न - छन्न (part-2)

    रात क दो बजे थे ... खुशबू नींद में ही अपने सिरहाने अल्मारी पर रखे बॉटल की तरफ हाथ बढ़ा रही थी कि तभी उसे कोई आवाज़ सुनाई दी ..chañchnn channññ

    पहले तो समझ नहीं आया फिर जब दोबारा बॉटल की तरफ हाथ बधाई फिर से उसे अवाज़ सुनाई दी ..मानो पायल की झंकार धीरे धीरे उसके कानों में नृत्य करते हुए प्रवेश किए हो... इतना सुनने के बाद उसकी नींद खुलती है और वो सहम जाती ह . आज उसकी प्यास भी बिना पानी के ही जा चुकी थी.....घबराहट में वो कुछ बोल नहीं पा रही थी....बस अपने चारो तरफ देखे जा रही थी जब भी वो थोडी भी इधर उधर हिलती तो मानो कोई अपना नृत्य सुरु कर दे रहा था र पायल की मद्धम झंकार उसके कानों में गूंज उठती थी। .…. उसे ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे कोई उस पर निगरानी रख रहा हो... वो और सहमति गई अब वो इस हालत में भी नहीं थी कि वो मा को आवाज़ दे ...

    उसे लग रहा था सिर्फ थोड़ी बहुत इधर उधर होने से पायल बजने लगा रही है तो ...आवाज़ निकालने पर कही आज मेरी वर्षों की भूत देखने वाली इच्छा पूरी ना हो जाए..…. वक्त बीते जा रहा था और वह चुपचाप सहमी हुई वहीं पर सावधान मुद्रा में लेटे हुई थी.…..

    इधर जब भी खिड़की के पर्दे हिलडुल रहे थे तो मानो इसके सांसों की गति अचानक से तेज हो जाती थी….. पसीने से लथपथ ठीक से सांस भी लेने में उसे डर लग रहा था। ...जब भी सड़क पर कोई गाड़ी जाती-आती है या फिर किसी तरह की आवाज आती थी वह डर के मारे चुपचाप से सहम जाती थी और उसका चेहरा लाल हो जाता है....

    Continued..,,✍️✍️
    ©masoom_bachchi

  • masoom_bachchi 42w

    छन्न - छन्न (part1)

    रात के 9:30 बज रहे थे, गांव में किसी के शादी के निमंत्रण पर पापा वहां गए थे ,,,,इस कारण मां ने भी घर पर खुशबू के पसन्द के आलू के परांठे बना दिया और बाजार से कुछ मिठाईयां भी मंगवा लिए..
    मा के काम में खुशबू ने भी जीतना हो सके हाथ बटाया.. उसके बाद मा अपनी छोटी बहन प्रभा के कॉल आने पर खुशबू को पढ़ने के लिए कहती है और ये भी कहती है कि बात करके दोनों खाना खाएंगे साथ ही।...खुशबू भी समझ चुकी थी कि अब इतनी जल्दी तो खाना मिलने वाला है नहीं ... इतनी जल्दी कहा होने वाली थी इस वार्तालाप की समाप्ति... आख़िर दो बहनों की बातें थीं । ये सब सोचकर खुशबू भी अपने नोट्स बनाने बैठ गई ...
    इधर खुशबू के कमरे में कलम और कागज के बीच अफ़ना - तफ़नी मची हुई थी... तो उधर मा भी कहा कम थी उन्होंने भी फोन पर ही कभी ठहाके ( मानो यारों की महफ़िल में हो) तो कभी गंभीर मुद्रा में (मानो किसी सीरियस बिज़नेस डील को लेकर ऑफिस मीटिंग् में मीटिंग हेड हों) अपने कमरे में अकेले ही महफ़िल जमा रखी थी ।
    पूरे एक घंटे के धुआंधार बातचीत के पश्चात वक्त से समझौता करते हुए दोनों ने कॉल डिसकनेक्ट करने का फैसला लिया तब जाकर किसी तरह मोबाईल को भी थोड़ी सांस लेने की फुर्सत मिली। मा कमरे में आयी तो देखा खुशबू पढ़ रही थी पर मा ने वक्त को देखते हुए कहा कि चलो पहले खाना खालो फिर पढ़ाई करना ...


    दोनों ने खाना खाए ...सारा चिली केचअप सिर्फ दो दिनों में ख़तम करने के लिए खुशबू को आलू पराठे के साथ-sath थोड़े बहुत डांट भी खानी पड़ी... मा अपनी रसोई के काम निपटाने लगी और खुशबू अपने लिए और मा के लिए पानी के बोतल भर कर उनके जगह पर रख लिए य तो मा को कभी कभी रात को प्यास लगती ह पर खुशबू को रात को पानी की बोतल उसके पास न मिले तो नींद में ही सारा घर नाप देती थी। मां अपने काम के बाद सोने चली गई जबकि खुशबू ने थोड़ी देर और पढ़ने का फैसला किया।।। चेप्टर कंपलीट हो जाने पर खुशबू अपने आदत क अनुसार मोब. में कुछ देर "प्रेमचन्द की निर्मला " किताब पढ़ी और फिर वही सो गई ।।।
    Continued...,,✍️


    ©masoom_bachchi

  • 29_writing_addict 56w

    .

  • unnati_writes 69w

    Suno,
    Apni sargam zara fir se dohra do,
    Table ki taal meri chan-chan se mila do,
    Thirakte in kadmon ko mere,
    Sangeet ki taanon se sehla do!

    Suno,
    Meri payal ki chankaar me apne,
    Sangeet ki maal ko pira do!!
    - Unnati
    __________________________________

    #sangeet #dhun #pyaar #maal #love #care
    #tabla #payal #kadam #chankaar #sargam

    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
    ❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤
    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
    ♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢♢
    ¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤

    After a long time....��

    Read More

    सुनो,

    अपनी सरगम ज़रा फिर से दोहरा दो,

    तबले की ताल मेरी छन-छन से मिला दो,

    थिरकते इन कदमों को मेरे,

    संगीत की तानों से सहला दो!


    सुनो,

    मेरी पायल की छनकार में अपने,

    संगीत की माल को पिरा दो!!
    ©unnati_writes

  • zehari 74w

    Jhanjar

    Ghaira de vehde ch chhannka ke aayi ae
    Ni jatt diyan dittiyan banake jhanjran

  • vishnuuu_x 75w

    【पायल की झंकार】

    तेरी पायल की झंकार सुनने के लिए बेताब है,

    और तुझे आदत है धीरे चलने की !!

    ©vishnuuu_x

  • pagal_sadhvyai 96w

    आज भी ना जाने कैसे
    देख लेता है वो
    इक पैर में बंधी
    मेरी पायल को
    जैसे तब देख लिया था
    जब कोई नही देख पाया था
    उन सूनसान राहों में।
    ©pagal_sadhvyai

  • royal_poem_queen 97w

    पायल

    तेरे पायल की छन छनाहट से
    मुझे तेरे आने की आहट हैं
    तेरे चलने की अदा में
    बड़ी गजब की नज़ाकत हैं

    पायल पे बंधे घुंगरू ओंकि कसम
    खूबसूरती की लगती तू मूरत है
    कहीं नजर तुम्हे ना लग जाए
    बड़ी भोली ये तेरी सूरत हैं
    ©royalqueen123

  • debasishgoswami 104w

    Payal

    The girl who was always full of life,
    Words were her weapon sharp like knife,
    Smart, beautiful, funny, mature and talented..
    You have features more than these five,

    Who could also play cricket so well,
    She is all-rounder anybody can tell.

    OT was a gift, for which i am so thankful❤
    You are great, surely most skillful
    ©debasishgoswami

  • unsaid_lamhe 107w

    उन्होंने वो पायल क्या पहनी चंद पैसों की...!!!
    कि उनके पैरों में जा के वो पायल अनमोल हो गयी...!!!

    ©unsaid_lamhe

  • incommunicado 107w

    .

  • shubhamjoshi 111w

    सुनो..
    एक बार मैंने तुमको देख कर अपने आप से बोला था..

    "मैं तब भी झुक के बांध दूँगा तुम्हारे
    पैरो में पायल
    हाँ उस उम्र में भी जब मेरे घुटनों मे दर्द होगा ।"

    पर तुम्हारी चोटों ने मेरे घुटनो को उम्र से पहले ही तोड़ दिया है..!

    सुनो..
    एक बार मैंने तुमको देख कर अपने आप से बोला था..

    "मैं तब भी अपनी बातों से चेहरे पर ला दूंगा तुम्हारे
    वो शरारती मुस्कान
    हाँ उस उम्र में भी जब तुम्हारे मुँह में दाँत नहीं होंगे ।"

    पर तुम्हारी बातों ने मेरा चेहरा ही सुन्न कर दिया है..!

    ©shubhamjoshi

  • asvibes 112w



    वो जो अपने दी थी ना
    कोई ज़ुबान तो नहीं है उस पायल की
    मगर, जब छनकती हैं
    मोहब्बत बेहिसाब बयां करती हैं।


    ©asvibes

  • dil_k_ahsaas 118w

    @jiya_khan @vandi123 @ruhii_

    #payal #jhankaar #music #sound_of_love #singing_bells #love

    पायल की रूनझून घर में गूंजे ऐसे
    जैसे मुझे कहती हो, पिया तुम क्यूं नहीं आते

    Read More

    तुम पहन कर रखा करों अपनी पायल हरदम

    तुम्हारी पायलों की झंकार मुझे बताती हैं
    कि घर के किस कोने में तुम मौजूद हो

    तुम्हें आवाज़ देकर मुझे बुलाना नहीं पड़ता
    तुम्हारी पायलों की झंकार मुझे खुद ही बुलाती हैं।

    दिल के एहसास। रेखा खन्ना
    ©dil_k_ahsaas

  • unsaid_lamhe 122w

    वो कभी मुझे तु कभी आप, तो कभी तुम कहती हैं...!!!
    चेहरे पर मेरे हमेशा, यही तबस्सुम रहती हैं...!!!
    दिल तो चाहता है कि, सारी तरन्नुम हो उसपे...!!!
    पता ही नहीं आज कल, वो कहाँ गुम रहती है...!!!
    ©unsaid_lamhe

  • unsaid_lamhe 122w

    उसकी आँखों में काजल, पैरों में पायल वो कमाल मचा रखी है...!!!
    हम भी कम नहीं है जनाब, हमने उनके शहर में धमाल मचा रखी है...!!!
    ©unsaid_lamhe

  • lifeistooochota 125w

    Three phase of boys :
    Mother
    Wife
    Daughter

    #life #love #boy #payal #awaz #wife #mother #daughter #musing #mirakee

    Read More

    Life of a Boy

    Pehle Maa ka payal ki awaz sa ma uth jata tha,
    Phir Meri biwi ka payal ki awaz sa ma uth ta tha
    Ab Meri Beti ka payal ki awaz sa ma uth ta hoon

    ©lifeistooochota

  • pushp_harshwal 129w

    उसकी पायल की झंकार से,दिल मे हलचल हुई
    जगी प्यार की उमंग ,जो थी सोई हुई
    दिल के दरवाजे पर दस्तक दी उसने,
    और मेरा सारा जीवन जगमग हो गया।।
    ©pushp_harshwal