#myfavourite

41 posts
  • meerab 2d

    off off off hai, dimagh sab ka off hai
    Zamana kia kahega
    Iska he toh sabko khauff hai
    Dabke jeeta hai
    Daabane ka ye aadhi hai
    ... Nishedh hai toh itni kyu abaadi hai
    Log ye hain aatma sey khokle
    Khud kary toh thik baaki.. Galat
    -Manto ❤

  • dais_yblossom 16w

    I U

    It's starkey tonight
    I heard an Echo
    In my empty room
    But didn't get it right
    Then again, I heard the same echo
    And I got to realize
    That my own heart beats
    Spell " I purple you "
    " I purple you "
    " I purple you "
    " I purple you "
    So I start counting but I can't
    'Cause it's spell infinite times
    Think to share it to the world
    And hope that every
    BTS army even BTS itself
    Heard the same echo
    From their own heart Beats
    For the Infinite times
    As I felt in the starkey tonight.


    @Deepanjali Kasaudhan
    @Indian BTS Army

    ©dais_yblossom

  • asha_553 30w

    Dumbledore rightly said..
    #HarryPotter #MyFavourite

    Read More

    "Do not pity the dead Harry, pity the living and above all, those who live without love."


    -Albus Dumbledore

  • asha_553 30w

    Dumbledore once said..
    #HarryPotter #MyFavourite

    Read More

    Words of Wisdom

    "It takes a great deal of bravery to stand up to your enemies, but as much as to stand up to our friends."


    -Albus Dumbledore

  • jigna___ 42w

    औरतों के नाम,
    इस समाज ने तो,
    बड़ी बड़ी जागीरें कर दी,
    इन्होंने दिया है,
    इन्हें अपनी आबरू का ज़िम्मा,
    ताकि बड़ी आसानी से,
    एकदूजे को बेआबरू कर सकें,
    गृहलक्ष्मी, बस घर के बाहर,
    लक्ष्मी कमाने का अधिकार नहीं,
    भूल गए शायद,
    देवी, अहाहा,
    कितने ही धर्मस्थानों में,
    पाँव तक न रख पाती,
    चँद लाल धब्बे,
    जीव के जन्म का उद्गम,
    बस उन्हीं के लिए,
    छूआछूत का शिकार बनी,
    फिरभी कहते,
    घुटनों में अक्ल है,
    अजी जनाब,
    सही जगह पे दिल है,
    बस एक पल सोच ही लेना।
    Jignaa
    ©jigna___

  • ashupriyaa 43w

    कर्ण

    पांडवों को तुम रखो,
    मे कोरवों की भीड़ से।
    तिलक शिकस्त के बीच में
    जो टूटे ना वो रीढ़ में।
    कुंती पुत्र हूं,पर ना हूं उसी को प्रीय में,
    इन्द्र मांगें भीख जिस से ऐसा हूं क्षत्रीय में।
    ©ashupriyaa

  • jigna___ 49w

    #मेरीमंशा

    हाँ....एक रजकण हूँ मैं,
    परंतु सूर्य की आभा ओढे,
    जब भ्रमण करता हूँ नभ में,
    आदित्य बनने की मंशा होती है,
    अविरत,
    प्रयासरत,
    कर्मयोग से मैं,
    विशाल दिनकर ना बनूँ,
    अपितु...
    धूमकेतु बन एक स्थान पा लूँ,

    स्वप्न अनेरे मैं देखूँ,
    लज्जित नहीं अपने अस्तित्व से,
    जैसे बूँद बूँद महासागर बने,
    संकल्पशक्ति का ओज लिए,
    जब भ्रमण करता हूँ नभ में,
    पाऊँगा.....
    स्थान गौरवपूर्ण मैं,
    कर्मयोग से मैं.....
    दिनकर नहीं तो,
    धुमकेतु बन एक स्थान पा लूँगा!!

    Jignaa
    ©Jignaa__

  • jigna___ 49w

    #विरह

    "झूठी हो तुम, मेरे साथ बात कर के जीने का बल मिलता है कहती हो, मेरी कविताएँ तुम्हारी साँसें है, मीठा बोलकर ज़हरीले काम करती हो, मेरी सारी रचनाएँ तुमने राहुल को भेजी है, विश्वासघात किया है मेरा, कभी मुझे मिलने की कोशिश न करना, तुम जैसे दोस्त से तो दुश्मन भला" गुस्से में आगबबूला हो
    कर रोहित ने प्रिया को ब्लोक कर दिया।

    ****************************************

    तकरीबन एक हफ्ते तक प्रिया फोन करती रही पर रोहित ने सब जगह से ब्लोक कर दिया।

    ****************************************
    ( कुछ महिनों बाद रोहित के घर का बेल बजा। )

    " हलो रोहित, मैं राहुल, किसी की अमानत पहुँचाने आया हूँ" कुछ उदासी से वह बोला। उसने रोहित को एक पैकेट दिया।

    जैसे ही रोहित ने पैकेट खोला एक छोटी सी किताब निकली। प्रश्नसूचक नज़रों से उसने राहुल की ओर देखा।

    "मैं एक ग्राफिक डिज़ाइनर हूँ, तुम्हारी रचनाएँ इस किताब के लिए ही प्रिया मुझे भेजा करती थी, वो तुम्हें सरप्राइज़ देना चाहती थी" राहुल ने कहा।

    अवाचक था रोहित उसने पूछा "थी मतलब"??

    "प्रिया जुवेनाइल डायाबिटीज से पीडित थी, वो हमेशा कहती थी तुम्हारी कविताएँ उसका बल है, उसके पैरों की नसें सूख रही थी, वो चल फिर नहीं सकती थी, तुम्हारे द्वारा अवहेलना करने के एक हफ्ते बाद वो कोमा में चली गई" राहुल की आँखों से आँसू बह रहे थे।

    "आखिरी पन्ने पर तुम्हारे लिए कुछ लिखा है पढ लेना"। राहुल खिन्नता से चला गया।

    उसके जाने के बाद प्यार से सजाई किताब उठाकर सिहर उठा रोहित। आखिरी पन्ने पर प्रिया के अक्षरों में लिखी कविता थी।

    "तेरे शब्दों को मैं हृदयस्थ करती हूँ,
    जीने के लिए स्वयं आश्वस्त होती हूँ,
    एक दिन ऐसा आएगा,
    मेरे लिए तू भी रोएगा,
    तब मैं ना मिलूँगी कहीं,
    देखना दिल में तू वहीं,
    जहाँ तेरी धडकनें होगी,
    मैं वहीं सदा ही रहूँगी।"

    उस दिन आसमान रोया था पर रोहित की आँखों से कम।

    विरह वेदना से आसमाँ और रोहित कौन ज़्यादा बरस रहा था कहना मुश्किल है।

    Jignaa
    ©Jignaa__

  • jigna___ 56w

    #seasons

    Tried a new concept, hope you all will like it.

    ****************************************************

    "प्रिया, ऑफिस के लिए देरी हो रही है, कभी समय पे कुछ करती नहीं, बस गरम रोटियाँ भरने के चक्कर में एकदिन रोटी के लाले पडेंगे तुम्हारी वजह से, बात मत करना मुझसे आज तुम" आगबबूला आकाश निकल पड़ा घर से।

    पियुजी का ताप अति दाहक,
    जल उठता है तनमन यकायक,
    रक्तिम नेत्र तंग होती मुखमुद्रा,
    ग्रीष्म प्रिया को लगता पावक।

    आकाश का गुस्सा नहीं परंतु उसकी चुप्पी से अकुलाहट होती थी प्रिया को, कितने फोन किए पर एक भी नहीं उठाया, वॉइसमेल में संदेश छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं था प्रिया के पास।

    शिशिर की शीतलहर से क्यों हो पिया?
    जो तू चुप लागे नहीं कहीं मेरा जिया,
    तेरे शब्द भी तो होते है तेरी छुअन से,
    अश्रु भी जम गए कोरी सी अखियाँ।

    कोई प्रतिउत्तर न मिलने पर प्रिया बहुत दुःखी हो गई थी, वॉइसमेल पर बस दो पंक्तियाँ ही छोड़ पायी।

    पतझड़ सी मायूसी क्या बाहर क्या अंदर,
    टूटे पत्तों से बहते आँखों से आँसू झरझर,

    ............ वहाँ आकाश का मन भी प्रिया के प्रेम से भीग गया था सो अगली दो पंक्तियाँ उसने जोड़ दी,

    आहत तुझे करूँ तो जलूँ मैं भी ज्यों अंगार,
    मिलन को अब आतुर हूँ प्रिया करूँ मनुहार।

    वो सिंदूरी संध्या प्रेममयी थी, दो विरही और प्रेमातुर हृदय का मिलन किसी बसंत बेला से कम न था।

    आकाश की बाहें अनंत असीम फैली हुई,
    प्रिया पियु की हँसी देख चंचल तीतली हुई,
    प्रेममयी वातावरण वसंत ऋतु सा मोहक,
    प्रिया चमके यूँ पियु के नेत्रों की ज्योति हुई।

    हर भाव की जग में गति है, किसी भी रूप में, विविध ऋतु सा,
    प्रेम सर्वोपरि है,
    प्रेम सर्वोपरि है।

    Jignaa
    ©jignaa__

  • sobar_ladka 65w

    Shayari
    _______


    Tujhe main shayari me likhdu
    Tu kuch kamal to aisa kar

    Mera dil mujhse puche sawal
    Tu mera haal to aisa kar

    Aise kaise main karu thjhe yaad shiddat se
    Dil laga ya tod de koi to kaam aisa kar


    ©thewriterboy

  • constructivewriteups 72w

    जय भोलेनाथ

    दिन तो रोज़ होते है लेकिन ना जानें सोमवार का ही इंतज़ार क्यों रहता है |
    @constructivewriteups

  • _gayatri_ 81w

    Stopping by Woods

    The woods are lovely dark and deep..
    But I have promises to keep..
    And miles to go before I sleep..
    And miles to go before I sleep..
    -Robert Frost

  • vswrites97 82w

    वो तिल ❣️

    कहना तो बहुत कुछ था, मगर हर बार बात तेरे चेहरे के
    उस छोटे से तिल पर आकर ठहर जाती थी, जाने क्यों
    हर बार मुझे अपनी तरफ़ खींचता था...
    ख़ैर
    याद है मुझे आज भी वो दिन जब मैंने पहली बार तेरी तस्वीर
    को देखा था,
    जाने क्यों तेरे चेहरे से ज्यादा मुझे तेरे उस छोटे
    से तिल के खयालों ने मुझे घेरा था,
    या फिर शायद! तेरी आंखो में ही कोई राज़ गहरा था,
    अब उलझन ये थी कि मुझे
    मोहब्बत हुई थी या सिर्फ़ नज़रों का फेरा था?
    डूबता चला गया में तेरी आंखों कहा दूर दूर तक घना अंधेरा था,
    फिर जब इश्क़ हुआ शिद्दत से तो समझ आया कि बेशक! ये तेरे उस तिल का ही असर था जो दिल पर इतना गहरा था..
    ©vwrites97

  • sunshine111 102w

    .

    Ye zamana Besharam hai
    Na isska Dharam hai
    Kyun dhoonde h tu issme bandhagi?
    -vilen

  • mastmaanya 108w

    Discrimination

    # quote of the day...
    Kaale gore ka bhed na karo...
    Kyunki..kyunki..
    Agar raat ko aasman kala na hota toh chand bhi nhi chamakta....
    ©mastmaanya

  • honeyrawat 132w

    #shinchan #cuteboy #myfavourite
    Cause he is the one who made everyone's childhood.
    To be honest I am 14 and I still love to watch shinchan . Hope he is also a memory of your childhood.

    Read More

    Shinchan

    The cutest small man.
    It's my favourite shinchan .
    He did all the amaze ,
    Without once hesitate.
    Sometime he did bungle in the jungle,
    While sometimes he became very humble.
    He made everyone's childhood memorable ,
    We appreciate that he is that much able.
    ©honeyrawat

  • akku_akshu 137w

    i saw your eyes
    they talk too much
    it feels you wanna say something to me
    something you are hiding from everyone
    but we have space between us
    because of me who can't say the words
    that i wanna say to you
    you are a free soul
    your voice is soothing
    even when you are yelling
    whenever you come in my dreams
    i feel so refreshed and happy
    i think i have a kind of connection with you that even now whenever i see you in my dreams i skip a beat and wake up and wish
    that i can be with you forever
    ©akku_akshu

  • yesiamabhishekd 138w

    जॉन एलिया

    बे-दिली क्या यूँ ही दिन गुज़र जाएँगे
    सिर्फ़ ज़िंदा रहे हम तो मर जाएँगे

    ©जॉन एलिया

  • jignaa 139w

    खुद को राजा नहीं कहते,
    और चौकीदार महज़ कहते नहीं,
    है भी,
    अराजकता से बचाने वाला शेर,
    बोलने की ज़रूरत नहीं,
    दहाड़ ही काफी है।
    jignaa
    ©jignaa

  • siddhi_jain 140w

    Good one!

    Tujhe Pyar Karna Nahi Aata
    Mujhe Pyar Ke Siva Kuch Nahi Aata ❤


    ©siddhi_jain