#mushaira

276 posts
  • khwahishaan 27w

    Happy International Tea Day #2021

    मुआ रामू है हरजाई

    अज्ज कैसी चाय बनाई 

    पत्ती डालना भूल गया

    लगता है भांग मिलाई

    नाक सिकोड़ा ननदी ने

    श्वसुर ने ली जम्हाई

    सास ने तेवर कड़े किए

    बहुरानी पे चिल्लाई

    देवर छोटा रूठ गया

    उलाहना दे भौजाई

    बालम उठ गए दफ़्तर को

    बिना ही रोटी खाई

    पूरा घर ही उलट गया

    चाय ने जो चोट लगाई

    नासमझे इस रामू को

    अक्ल कभी न आई

    सुबह की चाय जो बिगड़ी

    दिवस बिगाड़े भाई
    ©अज्ञात

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira
    #HappyInternationalTeaDay2021 #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 28w

    अनजान चेहरों मे हमदर्दी के रिश्ते भेजे हैं,
    सांसें देने वाले ने,सांस बचाने के लिए फरिश्ते भेजे हैं।
    ©सुमेधा सिंह

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 28w

    बेवजह घर से निकलने की जरूरत क्या है |
    मौत से आँख मिलाने की जरूरत क्या है ||

    सबको मालूम है बाहर की हवा है कातिल |
    फिर कातिल से उलझने की जरूरत क्या है ||

    जिन्दगी हजार नियामत है, संभाल कर रखे |
    फिर कब्रगाहो को सजाने की जरूरत क्या है ||

    दिल को बहलाने के लिये, घर में वजह काफी है |
    फिर गलियों में बेवजह भटकने की जरूरत क्या है
    ©गुलजार

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 29w

    खड़ा हूं आज भी रोटी के चार हर्फ़ लिए
    सवाल ये है किताबों ने क्या दिया मुझको
    ©नज़ीर बाक़री

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 29w

    खूब ज़ुल्म हुए, पर अज़ान की सदा होती रही
    गोलियाँ चलती रही, नमाज़ें अदा होती रही

    मासूमों पर सितम का, बदला कुछ यूँ हुआ
    चीख निकलती रही, और वबा होती रही

    हमारे हाथ में पत्थर दिखे, उनके पर बम नहीं
    कुछ चुप्पी से, पूरी इंसानियत को सज़ा होती रही

    मोमिन की शहादत में, जो जश्न ढूंढ रहे
    सुनो, ज़ुल्म की भी उम्र सदा होती नहीं

    कुछ ना हो पास उनके, ईमान की ताकत है बहुत
    छीना जो भी, बरकत उसी की ज़्यादा होती रही

    तोड़ने को हौसला जब बच्चों को कत्ल किया
    वहीं मासूमो की बहादुरी फिर गवाह होती रही

    झुकेंगे नहीं वो सर बेशक सजदों में कट जाएंगे
    फिक्र तुम्हारी, नफ़रत की क्योंकि दवा होती नहीं

    वो जो हाकिम बनें रहनुमाई का जिन्हें इल्म नहीं
    बेकसूर क़त्ल होते रहे, कुर्सियां रुसवा होती रही
    #Palestine

    ©मार्टिन फैसल

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 29w

    ना रुकेंगे कभी हार के
    झूठी चमकती तलवार से
    तू था फ़कीर तब खड़ा
    भले लैस खंजर हथियार से
    ना मिट सका ना लिख सका
    तेरा मुकद्दर था बीमार से
    दुआओं में भरी मेरे रहबरी
    तू तोड़ेगा क्या तलवार से?
    यहाँ है फकीर बन खड़ा
    क्या जीतेगा मेरी हार से?
    ©ऋतु

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • narendranayak 30w

    कहते है मोहब्बत करने वाले सक्श जन्नत जाते है!
    मगर मोहब्बत करने वाले सक्श तो अक्सर बिछड़ जाते है!

    साथ तो किस्मत वाले सक्श ही पाते है!
    तो फिर एकतरफ़ा मोहब्बत करने वाले कहा जाते है! !
    ©narendranayak

  • khwahishaan 31w

    पग बँधे घुँघरू मेरे,मन में उठे तरंग।
    और कहीं ना नचूँगी, सिवा साँवरे संग।।
    ©शोभा ढींगरा

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 31w

    चांदनी-धुला, अंजन सा, विद्युतमुस्कान बिछाता,
    सुरभित समीर पंखों से उड़ जो नभ में घिर आता,
    वह वारिद तुम आना बन!
    ज्यों श्रान्त पथिक पर रजनी छाया सी आ मुस्काती,
    भारी पलकों में धीरे निद्रा का मधु ढुलकाती,
    त्यों करना बेसुध जीवन!
    अज्ञातलोक से छिप छिप ज्यों उतर रश्मियां आती,
    मधु पीकर प्यास बुझाने फूलों के उर खुलवातीं,
    छिप आना तुम छायातन!
    कितनी करुणाओं का मधु कितनी सुषमा की लाली,
    पुतली में छान धरी है मैने जीवन की प्याली,
    पी कर लेना शीतल मन!
    हिम से जड़ नीला अपना निस्पन्द हृदय ले आना,
    मेरा जीवनदीपक धर उसको सस्पन्द बनाना,
    हिम होने देना यह मन!
    कितने युग बीत गए इन निधियों का करते संचय,
    तुम थोड़े से आँसू दे इन सबको कर लेना क्रय,
    अब हो व्यापार-विसर्जन!
    है अन्तहीन लय यह जग पल पल है मधुमय कम्पन,
    तुम इसकी स्वरलहरी में धोना अपने श्रम के कण,
    मधु से भरना सूनापन!
    पाहुन से आते जाते कितने सुख के दुख के दल,
    वे जीवन के क्षण क्षण में भरते असीम कोलाहल,
    तुम बन आना नीरव क्षण!
    तेरी छाया में दिव को हँसता है गर्वीला जग,
    तू एक अतिथि जिसका पथ है देख रहे अगणित दृग,
    सांसों में घड़ियाँ गिन गिन।
    ©महादेवी वर्मा

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 31w

    सच है एहसान का भी बोझ बहुत होता है
    चार फूलों से दबी जाती है तुर्बत मेरी
    ©जलील मानिकपूरी

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 31w

    मुझे रात में रोज़
    देर से नींद आती है
    और मुझे इस घटना का
    कारण नहीं पता

    मैंने मन में
    मन से पूछा
    मैंने मन से
    एक क्षैतिज प्रश्न पूछा

    उसने मुझे ऊर्ध्वाधर उत्तर दिया
    क्रम से सारणी में उत्तर दिया
    नींद न आने के कारण -
    उत्सुकता कल की
    दोपहर में सोना
    चंचलता और अस्थिर दिमाग
    दिनभर की पुनः गणना
    और न जाने क्या - क्या ! कितना !

    मुझे ये नहीं पता था कि
    ये मन मेरी सारी बातें जानता है
    और देखो तो अब
    कितनी चालाकी से तुम्हें भी बता रहा है

    ये हर बार ऐसा ही करता है
    क्षैतिज प्रश्न पूछने पर
    सदैव ऊर्ध्वाधर ही उत्तर देता है
    हरबार ऐसे ही मुझे
    असमंजस में डाल
    अकेला छोड़ देता है
    और फिर देर रात में
    देर रात तक , बड़ी देर तक
    तेज - तेज बोलता है ।
    ©आदित्य वर्मा

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 32w

    पृथ्वी दिवस इसलिए मनाया जाता है
    क्योंकि वर्तमान में मानव द्वारा बहुत ज्यादा प्रदूषण फैलाया जा रहा है, जिसके कारण पृथ्वी पर जीवन नष्ट होने की संभावना है

    इसलिए सभी लोगों में जागृति फैलाने के लिए Earth Day मनाया जाता है, ताकि कम से कम लोग एक दिन तो कम प्रदूषण करें और अधिक से अधिक पेड़ लगाएं तथा जागरूक बने

    पृथ्वी के अमूल्य खनिज पदार्थों का भी कम से कम उपयोग करें क्योंकि यह सीमित मात्रा में ही उपलब्ध है  अगर इनका अत्यधिक उपयोग किया गया तो भविष्य में इनकी कमी आ सकती है.....
    जागरूक बने
    जागरूक बनाए ����

    रंग बिरंगी धरती

    सुंदर-सुंदर प्यारी-प्यारी
    रंग बिरंगी धरती,
    पहन चुनरिया रंगो वाली
    दुल्हन जैसी लगती ।

    नीला-नीला आसमान है
    बादल काले-काले,
    लाल, गुलाबी, नीले, पीले
    फूल बड़े मतवाले ।

    हरियाली की फ़ैली चादर
    सब के मन को हरती,
    सुंदर सुंदर प्यारी प्यारी
    रंग बिरंगी धरती ।

    काला कौवा, काली कोयल
    भालू भी हैं काला,
    कूकड़ू-कू करता है मुर्गा
    लाल कलंगी वाला ।

    सुबह-सुबह को भूरी चिड़िया
    चीं-चीं चीं-चीं करती,
    सुंदर-सुंदर प्यारी-प्यारी
    रंग बिरंगी धरती ।

    सुंदर-सुंदर प्यारी-प्यारी
    रंग बिरंगी धरती,
    पहन चुनरिया रंगो वाली
    दुल्हन जैसी लगती ।

    ©प्रमोद भंडारी ‘पार्थ’

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 32w

    शायद मैं ज़िंदगी की सहर ले के आ गया
    क़ातिल को आज अपने ही घर ले के आ गया

    ता-उम्र ढूंढ़ता रहा मंज़िल मैं इश्क़ की
    अंजाम ये कि गर्द-ए-सफ़र ले के आ गयाॉ

    नश्तर है मेरे हाथ में कांधों पे मय-कदा
    लो मैं इलाज-ए-दर्द-ए-जिगर ले के आ गया

    'फ़ाकिर' सनम-कदे में न आता मैं लौट कर
    इक ज़ख़्म भर गया था इधर ले के आ गया
    ©सुदर्शन फ़ाकिर

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 32w

    ..

  • khwahishaan 33w

    जो लोग ख़ुद न करते थे होंठो से पान साफ़

    पलकों से कर रहे हैं तेरा पायदान साफ

    جو لوگ خد نہ کرتے تھے ہونٹوں سے پان صاف 

    پلكوں سے کر رہے ہیں تیرا پائیدان صاف  

    जिसको बचा रही है मेरे आइने की धूल

    दिख जाए साफ़ साफ़ तो नामो निशान साफ़

    جس کو بچا رہی ہے میرے آئینے کی دھول 

    دکھ جاۓ صاف صاف تو نام و  نشان صاف 

    इक हम कि उसको सौंप दिया कारोबार-ए-दिल

    इक वो कि करके चल दिया पूरी दुकान साफ़

    اک ہم کہ اس کو سونپ دیا کاروبار دل 

    اک وه کہ کرکے چل دیا پوری دکان صاف 

    सुस्ता रही है लान में अब तक ये शहरी लू

    बादे सबा तो कर भी चुकी कबकी धान साफ़

    سستا رہی ہے لان میں اب تک یہ شہری لو 

    باد صبا تو کر بھی چکی کب کی دھان صاف 

    "ग़ालिब सरीर-ए-ख़ामा नवा-ए-सरोश है"

    लेकिन वो क्या करें कि न हों जिनके कान साफ़

    غالب صریر خامہ نوائے سروش ہے

    لیکن وه کیا کریں کہ نہ ہوں جن کے کان صاف 

    वो मुझसे बदगुमान था, मेरा गुमान था 

    खिड़की का कांच साफ़ किया, आसमान साफ़

    وہ مجھسے بد گمان تھا میرا گمان تھا 

    کہڑکی کا کانچ صاف کیا آسمان صاف 

    बेशक चराग़ कुछ नहीं पर एक बात है 

    जितनी ज़बान साफ़ है उतना बयान साफ़

    بیشک چراغ کچھ نہیں پر ایک بات ہے 

    جتنی زبان صاف ہے اتنا بیان صاف 

    ©Charagh

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 34w

    मुकरते हैं आप इससे
    क्या जालिम नहीं हैं 
    दिल में हमारे आप
    क्या शामिल नहीं हैं 
    पढ़ न सके जो
    आंखों की भाषा 
    अनपढ़ हैं आप
    क्या आमिल नहीं हैं 
    धड़कते नहीं क्या
    दिल में तुम्हारे 
    धड़कन में तेरी
    क्या शामिल नहीं हैं 
    ठुकरा रहे हो
    हमें किस वजह से
    चाहत कोे तेरी
    क्या काबिल नहीं हैं ।

    ©डाॅ फौज़िया नसीम शाद

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 34w

    मरहम उस महल में ले गए, ज़ाहिल
    टपकता लहू था, दीवारों से जहाँ
    मसक्कत लगी थी, दवा काम आएगी
    जानमाज पर, किसीकी दुआ क़ुबूल हो गयी

    बातें बनाने लगे, पोछते लहू को ज़ाहिल
    बहती लहू भी नाराज़, राख बनकर सो गयी
    करते रहे, हर मुमकिन कोशिश पकड़ने की
    राख भी ना आई हाथ, दर्द हवा बन खो गयी
    ©ख्वाहिशाँ

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

    ©khwahishaan

  • khwahishaan 35w

    ��.......

    हर इक आँसू की क़ीमत जानती है-
    ग़ज़ल शाइर का दुख पहचानती है।

    ज़ियादा ख़ूबसूरत तो नहीं वो...
    मगर रिश्ते निभाना जानती है।

    निकलता हूँ जब उसको साथ लेकर
    सरों पर धूप चादर तानती है।

    ज़रा सा ऐब मिल जाये किसी का
    ये दुनिया सबकी मिट्टी छानती है।

    अभी सोया पड़ा है..... शाह ज़ादा
    अभी कुछ देर घर में शान्ति है।

    मिरे इन्कार को मत अहमियत दे -
    तिरा लोहा तो दुनिया मानती है।
    ©शाकील जमाली

    ہر اک آنسو کی قیمت جانتی ہے
    غزل شاعر کا دکھ پہچانتی ہے

    زیادہ خوب صورت تو نہیں وہ
    مگر رشتے نبھانا جانتی ہے

    نکلتا ہوں جب اسکو ساتھ لے کر
    سروں پر دھوپ چادر تانتی ہے

    ذرا سا عیب مل جائے کسی کا
    یہ دنیا سب کی مٹی چھانتی ہے

    ابھی سویا پڑا ہے شاہزادہ
    ابھی کچھ دیر گھر میں شانتی ہے

    مرے انکار کو مت اہمیت دے
    ترا لوہا تو دنیا مانتی ہے
    شکیل جمالی

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 35w

    दिल-ए-ख़राब को हैं ना-फ़हम से उम्मीदें
    बची हैं आह में अब कैफ़-ओ-कम से उम्मीदें

    दयार-ए-ग़म में रहा आँख से नहीं निकला
    उस एक अश्क़ को हैं तेरे ग़म से उम्मीदें

    है आरज़ू कि बड़ी मुश्किलों से उलझें हम
    लगाये हैं तेरी ज़ुल्फों की ख़म से उम्मीदें

    मुझे उमीद नहीं मिल सकूँगा मैं उनसे
    हैं कैसे लोग जो रखते हैं हम से उम्मीदें

    मैं उससे बात न करने को फोन करता हूँ
    हैं तर्क-ए-इश्क़ में भी मेरे दम से उम्मीदें

    अजब अज़ाब है कार-ए-जहाँ में ख़ारिज हैं
    हम ऐसे लोग जो रखते क़लम से उम्मीदें

    ©सत्य निष्ठ

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..

  • khwahishaan 35w

    टपक रहा छप्पर से पानी वह निर्मम बरसात लिखो।
    लिखो कहानी फिर हल्कू की पूस ठिठुरती रात लिखो।

    सिसक रही हैं भारत माता, दंगे की तस्वीर लिखो।
    बचपन में जो बोझ उठाते वह बिगड़ी तकदीर लिखो।
    जेठ दोपहरी स्वेद बहाते हलधर की लाचारी को।
    जो दहेज की भेंट चढ़ी लिख दो अबला बेचारी को।

    छोड़ गया जिस मां को बेटा उस मां के जज्बात लिखो
    लिखो कहानी फिर हल्कू की पूस ठिठुरती रात लिखो।

    लिख दो मूक सिसकियां रोती जो अंधेरी रातों में।
    दानव भेष घूमते मानव हवस भरी जिन आंखों में।
    तड़प रही है भूख बिलखती नित्य पड़ी पुटपाथों पर,
    कागज कलम नहीं ईंटें है नन्हे - नन्हे हाथों पर।

    नहीं जला जिस घर में चूल्हा उस घर के हालात लिखो।
    लिखो कहानी फिर हल्कू की पूस ठिठुरती रात लिखो।

    लिखो बाण से शब्द करें जो भेद कुटिल व्यभिचारी पर।
    शब्दों से कर दो प्रहार दानव से अत्याचारी पर।
    लिखो बेबसी ममता की तुम, व्याकुल थकी निगाहों को,
    पड़े फफोले जहां पांव दुष्कर पथरीली राहों को।

    निर्धन के मंडप से लौटी बिन फेरे बारात लिखो।
    लिखो कहानी फिर हल्कू की पूस ठिठुरती रात लिखो।
    ©सीमा शुक्ला अयोध्या

    #colour #brotherhood #peace #khwahishaan #sad #time #shayari #gazal #dawry #rape #murder #love #regret #time #poems #hindi #urdu #urdupoetry #shayari #ghazal #writersofinstagram #rekhta #mirakee #yourquote #mushaira #khwahishaan #khwahishaanfoundation

    Read More

    ..