#miraki

924 posts
  • mims_gold 3d

    Sojourner

    Tell them I left my traces
    Tell them I lived as I pleased
    Oh! when I'm gone
    Tell them even when my deeds was justified by me, I still lived to my will

    Still at some point, I dwell on my decision
    Tell them, my acts are what I choosed
    Tell them my Destiny has been ordained
    I lived to my ordained life
    Moulded by the divine .

    Now the light is here
    But darkness couldn't prevail
    Let love lead and light gleam to all
    Because we are ignorant of our purposes.
    ©mims_gold

  • akshatt 3w

    Hey Addiction!

    Hey Addiction!
    I know you're the ultimate trickster
    Well prepared
    I acknowledge that you've the most powerful spell
    No offense, but not enough to keep me compelled.
    Hey Addiction!
    You've been creeping inside me for so long
    You've given me enough blues
    This time I'll settle the score once and for all
    There won't be any dues.
    I will surely beat your ass
    I will definitely survive
    I refuse to be your slave
    I will live to thrive
    Hey addiction!
    I know you find joy in my suffering 
    The way you give me that disgusted feeling
    The way you feed me darkness in the form of pleasure
    The way you hinder me from healing
    Now, your days are numbered
    till then have fun
    this time my sun of faith would be so effective
    That all your addictive forms would burn.

    ©akshatt

  • say_say 4w

    If I could throw away everything would living be easier ?
    ©say_say

  • shubhangi_dave 4w

    Void

    What am I becoming? What kind of void I'm filling?

    यहीं सवाल पूछ रही हूं आज कल ख़ुद से।
    सोचती तो यहीं आई हूं तब से लेकर अब तक की अब तो मैं बदल गई हूं अब कोई हिस्सा नहीं रहा उसका मेरे पास
    पर शायद ये गलतफहमी ही थीं
    शायद आज भीं उसको ढूंढती हूं
    जाते जाते मेरा जो एक हिस्सा ले कर गया है ना
    उस हिस्से को आज भी ढूंढती हूं
    कई बार ख़ुद में और शायद कई बार गैरों में
    और ढूंढते ढूंढते कई बार दूर भी निकल जाती हूं
    कि शायद थोड़ा आगे बढ़ कर ही सही वो मिल जाएं
    पर मिलता है तो सिर्फ वहीं खालीपन और पहले से ज्यादा गहरा घाव। फिर ख़ुद को थोड़ा सहलाती हूं, समझाती हूं बस
    और फिर से शुरू हो जाता है उसे ढूंढने का सिलसिला किसी और जगह।
    ©shubhangi_dave

  • akshatt 11w

    Rain

    Here comes the RAIN..
    the soothing droplets touches my soul..
    Washes off all the chaos into the drain..
    Heals my anxiety with ecstasy..
    Fills my emptiness with intimacy..
    Brings my mind and heart at peace..
    as i flip those beautiful pages of the book with a brewing cup of tea...
    the rain mischievously cease, just to tease me.

    ©akshatt

  • heartords 13w

    from your beauty to your wrinkles,
    i'll love you the same.
    #miraki #love #poem

    Read More

    love till death

    'I love you' he heard
    Gone he, out of the world
    Sayin' his heartords
    She won the purest soul.

    Seein' each-other they blushed
    Throughout their body adrenaline rushed
    Towards each other they turned
    Shivering so hard
    For the first time
    He hold her hand
    Entered both the greatest life span.

    Quivering so hard
    For the last time
    She left his hand;
    This earthly land.
    Coming to you,
    Promised the other end...
    ©heartords

  • _writer_at_heart_ 15w

    #words #ikigai #miraki #miraquill #writersnetwork #wod #mirakee #eunoia @writersnetwork @miraquill

    // Meaning of the words used in this post :

    Ikigai - to have a direction or purpose in life that provides a sense of fulfillment.

    Meraki - to do something with pleasure, love, passion, absolute devotion, putting something of yourself into what you're doing.

    Eunoia - a well mind, beautiful thinking. //

    Read More

    Meraki in your deeds,
    Leads you to reach your ikigai...!!
    ________________


    To follow your ikigai,
    You must know it right.
    To do your best in the present and for the days to come ;
    Use the magic of being determined.
    With meraki and eunoia,
    Leave a piece of yourself into everything you do ;
    By giving your best,
    Leaving the negativities and worries of mind at rest.
    ©_writer_at_heart_

  • ku12pk 18w

    #अरोठिया #रात #जिन्दगी #खामोशी #चेहरा #miraki #mirakee #pod #hindinama #hindiwriters #hindi #करवट

    Read More

    एक दौर था

    एक दौर था वो
    जब हर बात तुम्हारी
    अच्छी लगा करती थी,
    तेज नमक की सब्जी भी
    अंगुलियों में कोई मिठास
    छोड़ दिया करती थी।
    फिर वक़्त के करवट में
    कोई दीवार कमरे में
    झाँकने लगी थी,
    खामोशी की रात
    कभी तुम्हारे चेहरे पर
    तो कभी हमारे चेहरे पर
    तम की छाँव ढ़कने लगी थी।

    प्रद्युम्न अरोठिया

    ©ku12pk

  • ku12pk 20w

    #अरोठिया #pod #hindiwriters #miraki #mirakee #hindinama #writersnetwork
    #जिंदगी #मरहम

    Read More

    मरहम

    वो बूढ़ी आँखों की ज्योति
    गाँव में इंतजार करती रही,
    कोई लौटकर नहीं आया
    जिंदगी जलती बस जलती रही।
    उसकी आस कभी खत्म न हुए
    मरहम-सी कोई बात भी न रही,
    धुँधले से दृश्य थे उस अंतिम पड़ाव के
    मौत से भी किसी के आने की उम्मीद न रही।
    (प्रद्युम्न अरोठिया)
    ©ku12pk

  • ku12pk 21w

    #mirakee #miraki #hindinama #life #writersnetwork #pod #hindi #अरोठिया #लक्ष्य

    Read More

    मूल्यांकन

    जीवन में लक्ष्य के निर्धारण के बाद भी, सफलता न मिलना मन में निराशा व कुंठा का भाव पैदा कर सकता है जो स्वभाविक है। लेकिन इसे अंत में लेना क्या सही होगा? क्यों न फिर से मूल्यांकन कर इसे सुधरा जाए ?
    (प्रद्युम्न अरोठिया)
    ©ku12pk

  • ku12pk 22w

    #miraki #mirakee #अरोठिया #hindiwriters #writersnetwork #hindinama
    #कर्म #प्रभात #घर #बजूद #रंग

    Read More

    कर्म

    वो कौन से शब्द हैं
    जो कानों में गूँजते हैं
    अपने बजूद के लिए
    अपना घर ढूँढ़ते हैं।
    किस ओर किस गली जाएं
    रास्ते के पत्थर रोकते हैं,
    कर्म ही कर्म किये जा
    बुध्दिजीवी लोग सोचते हैं।
    सपन तो टूटना है
    जब प्रभात के रंग देखते हैं,
    नई उम्मीद के लिए
    कर्म की राह सोचते हैं।
    (प्रद्युम्न अरोठिया)


    ©ku12pk

  • prakharsinghofficial 23w

    "रात काली है"

    मैंने कश्ती को किनारे से टकराते देखा है
    आजकल रात को रात से घबराते देखा है।
    ©prakharsinghofficial

  • ku12pk 23w

    #अरोठिया #शहर #अभिमान #शख्स
    #miraki #pod #writersnetwork #hindinama
    #mirakee

    Read More

    अभिमान

    माना कि शहर बहुत बड़ा है
    पर दिल बहुत छोटा-सा है,
    ऊँची-ऊँची इमारतें
    पर इंसान बहुत छोटा-सा है।
    मुझसे नहीं, तुमसे नहीं
    हर शख्स यहाँ
    खुद से ही भयभीत-सा है,
    अभिमान उसका यहाँ
    कागज के फूल-सा है।
    (प्रद्युम्न अरोठिया)
    ©ku12pk

  • ku12pk 23w

    #सुहाग #सपन #दुल्हन #स्पर्श
    #mirakee #hindinama #hindiwriters #writersnetwork
    #pod #miraki

    Read More

    नई नवेली दुल्हन

    वो आएंगे लौटकर
    मेरा हृदय कहता है,
    इस नई नवेली दुल्हन का
    अधूरा सपन कहता है।
    उनका स्पर्श अभी बाकी है
    यह मेरा तन कहता है,
    सुहाग की रात
    इस सुहागन का मन कहता है।
    (प्रद्युम्न अरोठिया)
    ©ku12pk

  • ishialextigga 23w

    Illusion

    We all are living in the illusion of being loved or taken care of, describing each other even when we haven't met yet.Still we are illustrating each other so perfectly like it was meant to be.Some of us are just describing someone we haven't known in real or in person.we talked hours in our mind thinking about what if?we were fearless enough to be who we truly are and to be with whom we truly want.We have lost so many of them just to be us.Not so scared not so childish but when we become us ,in thoughts what's the maturity we were talking about having? Love unloved is just the mind games that we owned from too long.Can we be honest we were with ourself when nobody needed us and now we feel right to have one who made us feel known to ourself. Cause you were always the type of person I always wanted to be the kind off. Person i was adoring for so long even though I haven't seen you,known you, you was just the illustration of my thought back then.We all desire a certain kind of people to be with.I ADORE YOU EVEN IF I HAVEN'T MEET YOU IN REAL.
    ©alextigga

  • ku12pk 23w

    #miraki #mirakee #pod #hindiwriters #hindinama
    #writersnetwork #इश्क #आँखें #इजाजत

    Read More

    इजाजत

    वो आँखें मिलाने की
    इजाजत नहीं देते
    तड़प सीने की बढ़ाने को
    इजाजत नहीं देते,
    इश्क कहीं
    उनको भी न हो जाये
    सायद इसलिए
    वो दिल में उतरने की
    इजाजत नहीं देते।
    (प्रद्युम्न अरोठिया)
    ©ku12pk

  • nishabd_anand 23w

    ये वक्त बे-वक्त की याद का मजा कीजिए
    महसूस मौजूदगी को उनकी तफसील से कीजिए
    रूठना मनाना रूठ कर मान जाना
    इस इश्क की आदतों में हैं शामिल
    इन आदतों इन चाहतों को मुक्कमल तो कीजिए
    ये दरिया भावनाओ का हैं जरा तैर लीजिए
    पानी के जैसे हर रंग में रंग लीजिए
    रोना रुलाना हंसना हंसाना
    इनके बिना इश्क होता नही हासिल
    इन सब हरकतों में जरा घुल मिल तो लीजिए

    ---- आनंद सगवालिया
    ©nishabd_anand

  • ku12pk 23w

    कुछ अधूरा-सा

    कुछ अधूरा-सा
    हर बार रह जाता है
    सामने वो आते हैं
    मालूम नहीं
    क्या हो जाता है
    बातें इधर-उधर की
    वक़्त अपना
    खींच ले जातीं हैं,
    हर बार की तरह
    इस बार भी
    दिल की बातें
    दिल में ही रह जातीं हैं।
    (प्रद्युम्न अरोठिया)
    ©ku12pk

  • ku12pk 24w

    जादू

    हर दिन खुशियों का
    अपना एक ख्वाब-सा है
    मुस्कुराती आँखों का
    अपना एक अंदाज-सा है,
    भीड़ में आँखें
    अक्सर उन्हीं को खोजती हैं
    जिनका जादू जिंदगी पर
    एक बुनियाद-सा है।

    प्रद्युम्न अरोठिया
    ©ku12pk

  • ku12pk 24w

    रचना

    तू श्रेष्ठ रचना है
    ईश्वर की
    तेरी अनुभूति से
    सपन-सा देखा
    जहाँ सारा है,
    कुछ और नहीं
    अब कुछ और नहीं
    जो बदला है
    रंग मेरा
    तेरी कोमलता का
    स्पर्श सारा है।

    प्रद्युम्न अरोठिया
    ©ku12pk