#majdur

7 posts
  • preeti_bose 87w

    म - मन से मजबूत
    ज - जबर्दस्त उर्जा से भरपूर
    दू - दूरियों को कदमों से नापने का जज़्बा
    र - रहता अपनी मौज में, तोड़ता लंबी सड़कों का
    गुरूर
    ©preeti_bose

  • vswrites97 88w

    मै भी "मजदूर"

    क्या तुम्हे दिखता है वो दर्द जो हमारी आंखो से छलकता है?
    या फिर तुम भी बेदर्द हो इन सरकारों की तरह?

    मजदूर हूं तभी तो मजबूर हूं!
    ©vswrites97

  • pariyadav 90w

    मजदूर अपनी मजदूरी करता है
    क्योंकि वो मंदी मे जीना जानता है लेकिन अकलमंदी से नही
    वो इस सच से वाकिफ नही है की
    महंगे जूते बनाने वाला उन जूतों को खरीद नही सकता
    क्योंकि ये दुनिया बनाने वालों से ज्यादा खरीदने वालों की इज्जत करती है
    इसलिए जीवन खरीदने वाला बनो बनाने वाले तो हज़ार मिल जायेंगे
    ©pariyadav

  • i_aks_ 94w

    .

  • ajay_nehra 94w

    #majdur #majbur @milind_ek_kavi @poornimagowda @kavi_poetry_ @mirakee @mirakeeworld @follow_poems #follow
    कहा किसी ने की घर से बाहर निकलते ही गोली मार दो
    विधायक जी जरूरी नही सबका घर घोटाले के माल से भरा हो
    वो सड़को पर भटक रहा है , वो मजबूर है
    माना घर मे रहना जरूरी है , पर इसके लिए घर भी जरूरी है
    वो दो वक्त खाना और छत को तड़प रहा है , वो मजदूर है

    Read More

    मजदूर

    .

  • kritanjalimoitra 152w

    वह मजदूर

    जिस घर को तुम अपना कहते हो
    उसके हर ईंट को उस मजदूर ने है लगाया।
    मजबूरी या नशे से पैदा हुआ जोश हो,
    जिसने अपने खून-पसीने को है बिकाया ।
    राह में चलता हर सुबह वह मजदूर ,
    अपने घर के उम्मीद में है एक भूखा-प्यासा।
    ©kritanjalimoitra

  • shahsakshi 207w

    कितना अजीब है ना ये भी,

    औरो के घरो का निर्माण करने वाले
    स्वयं बेघर होते है।।
    ©shahsakshi