#lovehumanity

7 posts
  • anuradhasharma 10w

    आज इक गरीब को देखा , नंगे पैर चलते ।
    फिर सोचा , क्या उनके लिए ये भी ।
    ज़रूरी नहीं , उनकी ज़रूरतों के आगे ?

    आज इक गरीब को देखा , नंगे पैर चलते ।
    फिर सोचा , क्या उनके पैर के छालें भी ।
    कुछ नहीं , मन के छालों के आगे ?

    आज इक गरीब को देखा , नंगे पैर चलते ।
    फिर सोचा , क्या उनके पैर ज़रा थकते भी ।
    नहीं उनकी , मशक्कत के आगे ?

    आज इक गरीब को देखा , नंगे पैर चलते ।
    फिर सोचा , क्या उनके लिए ये भी ।
    ज़रूरी नहीं , उनकी ज़रूरतों के आगे ?


    ©anuradhasharma

  • shayari_by_maan 25w

    Tough times during this pandemic, but this too shall pass one day
    #staybrave #togetherweare #lovehumanity #pandemictimes @writersnetwork #writersnetwork

    Read More

    Vekho aaj kinna kohram macheya,
    Zindagi da shor share-aam macheya,
    Sadkaan tabdil hogyian madiaan vich,
    Aina kolon keda gunaah c hogya,
    Lagda muqadran da naseeb so gya,

    Har paase ha-ha kar sunda,
    Oukhe vele koi ni kise di sunda,
    Apne nu gall la ke rondiyan maavan,
    Iko-ik munda mera oh v baijaan hogya,

    Pai-pai nu mohtaj karta,
    Bojja sara karze naal bharta,
    Pachtawa jeen ni de reha rabba,
    Gairat wale utte kaiyaan da aihsaan hogya,

    Ki nyaane ki syaane,
    Yaad karde saare din o purane,
    Apneyaan to v khatra ae zindagi da,
    Ae waqt taan mout da farmaan hogya,

    Lambiyan kataraan madiyan vich laggiyaan,
    Lashaan naal bhariyan ambulance wali gaddiyaan,
    Madiyaan vich appointment antim-kriya di,
    Shareer nu fookna v ek kaarobaar hogeya,

    Kise di majburi da faida na chuko,
    Sada os rabb di karni agge jhuko,
    Ae waqt v ek din beet jaega,
    Honsla rakho jehra pareshaan hogya..

    ©baljeet_maan

  • untoldmemories 125w

    THE WORLD

    Hoping for The World where everyone loves to open their HEART intsed of their MOUTH❤
    ©untoldmemories

  • kitha_cottonvoice 136w

    Love is in the air

    ©kitha_cottonvoice

  • drxlakshay 150w

    The Courier Boy

    Every time he brings some gift
    Without any problem with swift
    Just we can pay him back just with glass of water
    because he is coming from ambience thats hotter
    This is not just a writing
    This is a dedication to the courier boy driving.
    ©drxlakshay

  • nouf_hameed 171w

    Goodness in us

    If we can see and appreciate a rose which stands covered in a bunch of thorns, why can't we see goodness in people when they have flaws in them? I seldom hear people saying rose is bad because it has thorns!

    ©nouf_hameed

  • intezaar 183w

    शर्म आती है मुझे,
    रूह चिल्ला उठी है मेरी,
    कैसा समय चल रहा है,
    कैसी रात है अँधेरी?

    चारों ओर कायरता,
    झूठ फरेब मक्कारी है,
    घिन आती है ऐसे लोगों से,
    हैवानियत जिनको प्यारी है?

    किस सूरत को लेकर आज खड़े हो समर्थन में,
    क्या भूल गए इंसानियत अपनी,
    मंझ गए हो अपने अश्लील धर्म में,
    न तुम हिन्दू हो न मुसलमान,
    हैवान हो बस हैवान,
    विनाश आवश्यक है तुम्हारा,
    तुम नहीं इंसान।

    मज़हब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना,
    तुम्हे तो बैरी ही आती है,
    कैसे न जाने पले बढ़े हो,
    तुम्हारी परवरिश ही सब बताती है,
    क्या यही सीखा था बचपन में,
    पाठशाला ने यही पढ़ाया?
    अन्याय का साथ दो, यही सिखाया?

    अरे तुम जैसों से बात करना भी बेकार का काम है,
    तुम्हारी खातिर ही तो अपनी हिन्द भूमि बदनाम है,
    जहाँ कभी रावण ने अपहरण पर भी न स्पर्श किया,
    तुम लोगों ने तो, अमानविकता पर जाकर संघर्ष किया,
    धिक् तुम्हारे संस्कार, धिक् तुम्हारे जीवन पर,
    पापी हो तुम, तुम्हारा अस्तित्व नश्वर।

    दर्द है, दुःख है, असहाय वेदना है,
    खून से आंसू मेरे, बस इनको अब बहना है।
    निर्उत्तर हूँ मैं, निशब्द हूँ!
    ©intezaar