#letmeconfess

1 posts
  • eternal_touch 22w

    कुछ तो बाकी है...

    बैठो कभी करीब दो पल, कुछ चाहतों को बयां करना बाकी है|
    बिखरी हुई जिंदगी का सिमटना अभी बाकी है|
    भुली-बिसरी यादों का ताज़ा होना अभी बाकी है|
    अभी तो बीते हुए लम्हों में से कुछ लम्हें फिर से जीना बाकी है|
    जितनी ख़्वाहिशें अधुरी है, उन्हें एक ख्वाब में पिरोना बाकी है|
    तेरे चेहरे की मासुम सी हसी की वजह खुद को बनाना बाकी है|
    मेरी खुशियों से लेकर दर्द भरी जिंदगी में अभी तेरी बेपरवाहियों का शामिल होना बाकी है|
    तो आअो बैठो कभी करीब दो पल, कुछ चाहतों का इज़हार करना अभी बाकी है|
    ©eternal_touch